Investment schemes : सीनियर सिटिजन के लिए जीरो रिस्क वाले टॉप 5 निवेश स्कीम, जिसमें मिलते हैं बेहतर रिटर्न

Investment schemes for Senior Citizen : ऐसे कई स्कीम्स हैं जिनमें निवेश करने से जोखिम ना के बराबर है और सीनियर सिटिजन अपने अर्जित धन को उनमें निवेश करके अधिकतम रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं।

Top 5 Investment schemes with Zero Risk for Senior Citizen, in which get Better Returns
सीनयर सिटिजन्स के लिए बेहतर निवेश योजना  |  तस्वीर साभार: BCCL

मुख्य बातें

  • रिटायरमेंट के बाद की प्लानिंग पहले ही कर देनी चाहिए
  • रिटायर व्यक्ति अधिक पैसा कमाने के लिए सक्षम नहीं सकता है
  • फिर भी सीनियर सिटिजन के लिए कई निवेश योजनाएं हैं जिसमें अधिक रिटर्न पाया जा सकता है

 Investment schemes for Senior Citizen :  आप नौकरी पेशा कर रहे हैं तो आपके लिए यह बेहद जरूरी है कि आप अपने रिटायरमेंट की प्लानिंग जल्दी करें, क्योंकि रिटायरमेंट के बाद पर्याप्त पैसा नहीं होने पर आपको आर्थिक तौर पर अपने बच्चों या परिवार पर निर्भर रहना पड़ सकता है। एक रिटायर व्यक्ति अधिक पैसा कमाने के लिए काम नहीं कर सकता है। हालांकि, ऐसे अन्य तरीके हैं जिनके जरिए वे अपने काम के दिनों में बचत किए गए धन से पैसे कमा सकते हैं।

सीनियर सिटिजन को सलाह दी जाती है कि वे अपने धन को सेविंग अकाउंट में रखने के बजाय उसका इस्तेमाल अधिक पैसा बनाने के लिए करें। विभिन्न निवेश साधनों में पैसा निवेश करने से वास्तव में धन बढ़ने में मदद मिलती है। कई निवेश साधन हैं जिनमें शून्य जोखिम है और सीनियर सिटिजन अधिक धन कमाने के लिए इस तरह के निवेश उपकरणों में अपना पैसा निवेश कर सकते हैं। अधिकांश सीनियर सिटिजन की रिटारमेंड के बाद कोई कमाई नहीं होती है। हालांकि, इन निवेश स्कीम्स से उनके पास अपने अर्जित धन पर रिटर्न को अधिकतम करने का विकल्प है। नीचे 5 निवेश विकल्प हैं। जिनमें बिना जोखिम निवेश कर सकते हैं सीनयर सिटिजन्स।

सीनियर सिटिजन बचत योजना- Senior Citizens’ Savings Scheme

सरकार द्वारा समर्थित छोटी बचत योजना में, कोई व्यक्ति SCSS में 1,000 रुपए के गुणक में अधिकतम 15 लाख रुपए का निवेश कर सकता है। इस योजना में ब्याज प्रत्येक तिमाही में मिलता है, इसलिए इसे नियमित आय के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। SCSS अकाउंट पांच साल में मैच्योर होता है जिसके बाद कोई भी इसे तीन साल के लिए ब्लॉक करने के बाद एक बार बढ़ा सकता है। लघु बचत योजनाओं की ब्याज दरों में बड़ी कमी के बावजूद, SCSS में अभी भी अप्रैल-जून की तिमाही के लिए 7.45% की दर ब्याज मिल रहा है, सीनियर सिटिजन के लिए उपलब्ध किसी भी अन्य निश्चित-वापसी योजना की तुलना में बहुत अधिक है। SCSS के साथ आप अपने और अपने पति या पत्नी के नाम पर कुल मिलाकर 15 लाख रुपए का निवेश कर सकते हैं। SCSS में जमा वार्षिक ब्याज भुगतान के साथ वार्षिक रूप से संयोजित होते हैं। 

प्रधान मंत्री वय वंदना योजना- Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana

PMVVY एक नन-लिंक्ड, गैर-भागीदारी, सरकार द्वारा अनुदानित योजना है। इस योजना को भारत के एलआईसी से ऑफलाइन के साथ-साथ ऑनलाइन भी खरीदा जा सकता है। पॉलिसी की अवधि 10 वर्ष की होती है और पहले वित्त वर्ष के दौरान यानी 31 मार्च 2021 तक बेची जाने वाली पॉलिसी के लिए ब्याज 7.40% मिलेगा। यानी पूरे10 वर्षों की अवधि के लिए  7.66% होगा। सीनियर सिटिजन योजना में निवेश की गई राशि के आधार पर प्रति माह 1,000 रुपए की न्यूनतम पेंशन प्राप्त कर सकते हैं। अधिकतम पेंशन राशि प्रति सीनियर सिटिजन 9,250 रुपए तक सीमित है। इसलिए, यदि दोनों पति-पत्नी 60 वर्ष से अधिक आयु के हैं, तो 30 लाख रुपए के निवेश पर परिवार में अधिकतम मासिक पेंशन 18,500 रुपए हो सकती है। इस योजना के तहत सभी पॉलिसी के तहत खरीद मूल्य की कुल राशि और एक सीनियर सिटिजन को दी जाने वाली PMVVY के पूर्व संस्करणों के तहत ली गई सभी पॉलिसी 15 लाख रुपए से अधिक नहीं होंगी। 

डाकघर मासिक आय योजना- Post Office Monthly Income Scheme

स्थिर आय प्राप्त करने के इच्छुक सीनियर सिटिजन के लिए, POMIS एक अच्छा विकल्प है। यह एक सरकार समर्थित लघु बचत योजना है जो सीनियर सिटिजन्स को हर महीने एक खास राशि बचाने में मदद करती है। वर्तमान में यह योजना में 6.60% ब्याज मिलता है। जबकि न्यूनतम आवश्यक निवेश 1,000 रुपए, एक खाते के लिए अधिकतम 4.5 लाख रुपए और एक संयुक्त खाते के लिए 9 लाख रुपए है। POMIS अकाउंट खोलने के लिए, आपको उसी डाकघर शाखा के साथ बचत खाता खोलने की जरूरत है, जहां आपने POMIS खाता खोला है, ताकि मासिक ब्याज सीधे बचत खाते में जमा किया जा सके और आप इसे हर महीने निकाल सकते हैं। यह स्कीम पांच साल मैच्योर होता है लेकिन प्री-मैच्योर निकासी का विकल्प 1 साल के बाद मिलता है। लेकिन इस पर 2% तक का जुर्माना लगेगा। POMIS में अर्जित ब्याज टैक्स योग्य है।

सीनियर सिटिजन एफडी- Senior Citizens FD

सीनियर सिटिजन्स को एफडी पर बैंक उच्च ब्याज दर प्रदान करते हैं। आमतौर पर, बैंक एफडी पर सीनियर सिटिजन्स को 0.5% अधिक ब्याज दर देते हैं। कुछ बैंक, विशेष रूप से एसबीआई, आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी बैंक ने भी स्पेशल सीनियर सिटिजन्स एफडी स्कीम्स शुरू की हैं, जहां वे नियमित एफडी की तुलना में 0.5% अधिक ब्याज कमा सकते हैं। इस स्कीम का कार्यकाल 1 से 10 वर्ष तक होता है। सीनियर सिटिजन अपने खर्चों को पूरा करने के लिए नियमित ब्याज भुगतान प्राप्त करने का विकल्प चुन सकते हैं। सीनियर सिटिजन एफडी आयकर अधिनियम की धारा 80 सी के तहत एक वर्ष में 1.5 लाख रुपए तक टैक्स छूट प्रदान करते हैं।

टैक्स फ्री बॉन्ड- Tax free bonds

सरकार द्वारा समर्थित पीएफसी, एनएचएआई, आरईसी, आईआरएफसी, हुडको, एनटीपीसी जैसे टैक्स-फ्री बॉन्ड सीनियर सिटिजन्स के लिए एक और बढ़िया निवेश उपकरण हैं। ये बॉन्ड हाईयर सेक्युरिटी रेटिंग देते हैं। इन बॉन्ड्स की सबसे आकर्षक विशेषता टैक्स-फ्री ब्याज है। एक निश्चित वार्षिक आय अर्जित करने के लिए सीनियर सिटिजन्स के लिए टैक्स फ्री बॉन्ड एक उत्कृष्ट निवेश है। हालांकि, सीनियर सिटिजन्स को इन बॉन्ड में निवेश करना चाहिए, अगर वे कम से कम 10 साल तक निवेश के लिए तैयार रहना चाहते हैं।

( ये लेख सिर्फ जानकारी के उद्देश्य से लिखा गया है। इसको निवेश से जुड़ी, वित्तीय या दूसरी सलाह न माना जाए)

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर