17 जनवरी से शुरू हो रहा है WEF का दावोस एजेंडा शिखर सम्मलेन, पहले दिन PM मोदी करेंगे संबोधित

बिजनेस
डिंपल अलावाधी
Updated Jan 14, 2022 | 17:11 IST

The Davos Agenda 2022: वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम का दावोस एजेंडा शिखर सम्मेलन डिजिटल तरीके से 17 जनवरी से शुरू हो रहा है।

The Davos Agenda 2022 World Economic Forum Davos Agenda virtual event starting from 17 January
17 जनवरी से शुरू हो रहा है WEF का दावोस एजेंडा शिखर सम्मलेन, पहले दिन PM मोदी करेंगे संबोधित  |  तस्वीर साभार: BCCL
मुख्य बातें
  • दावोस एजेंडा शिखर सम्मेलन के पहले दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संबोधित करेंगे।
  • शिखर सम्मेलन में कई दिग्गज शामिल होंगे।
  • यह सम्मेलन पांच दिनों तक, 21 जनवरी 2022 तक होगा।

The Davos Agenda 2022: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) 17 जनवरी को वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम (World Economic Forum) के दावोस एजेंडा वर्चुअल इवेंट (Davos Agenda virtual event) को संबोधित करेंगे। शिखर सम्मेलन में किशिदा फुमियो, स्कॉट मॉरिसन, ऑस्ट्रेलिया के प्रधान मंत्री, जापान के प्रधान मंत्री, नाफ्ताली बेनेट, इजराइल के प्रधान मंत्री, एंटोनियो गुटेरेस, संयुक्त राष्ट्र के महासचिव और कई अन्य राष्ट्र प्रमुख शामिल होंगे।

वैश्विक चुनौतियों पर होगी चर्चा
यह वर्चुअल इवेंट पांच दिनों तक चलेगा। यह वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम की वेबसाइट और सोशल मीडिया चैनलों पर 17 से 21 जनवरी 2022 तक होगा। इसमें राज्य और सरकार के प्रमुख, सीईओ और अन्य नेता शामिल होंगे। वे आज दुनिया के सामने मौजूद महत्वपूर्ण चुनौतियों पर चर्चा करेंगे और उनसे निपटने के तरीके पर अपने विचार प्रस्तुत करेंगे।

इसके साथ ही इस आयोजन में फोरम के कई इनिशियेटिव का भी शुभारंभ होगा, जिसमें शुद्ध-शून्य एमिशन की दौड़ में तेजी लाने के प्रयास, नेचर-पॉजिटिव समाधानों के आर्थिक अवसर सुनिश्चित करना, साइबर रेजिलेंस बनाना, वैश्विक मूल्य चेन को मजबूत करना, मानवीय निवेश के माध्यम से नाजुक बाजारों में अर्थव्यवस्थाओं का निर्माण करना शामिल है।

वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम के संस्थापक और कार्यकारी अध्यक्ष क्लॉस श्वाब ने कहा कि, 'हर कोई उम्मीद कर रहा है कि 2022 में COVID-19 महामारी और इसके साथ आए संकट आखिरकार कम होने लगेंगे।' लेकिन उन्होंने आगे कहा कि प्रमुख वैश्विक चुनौतियां हमारा इंतजार कर रही हैं। उन्हें संबोधित करने के लिए, नेताओं को नए मॉडल अपनाने, दीर्घकालिक देखने, सहयोग को रिन्यू करने और सिस्टेमैटिकली रूप से कार्य करने की आवश्यकता होगी।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर