EPF में  VPF के बदले इक्विटी फंड में SIP करें, 40% अधिक मिलेगा रिटर्न, जानिए डिटेल

रिटायरमेंट फंड प्लान करने के लिए किसी विविध इक्विटी म्यूचुअल फंड योजना में व्यवस्थित निवेश योजना (एसआईपी) का विकल्प चुन सकते हैं। क्योंकि इसमें ईपीएफ से 40 प्रतिशत अधिक रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं। 

SIP in Equity Fund in lieu of VPF in EPF, get 40% more return, know details
म्यूचुअल फंड एसआईपी में निवेश से बेहतर रिटर्न मिलता है 

मुख्य बातें

  • वित्त वर्ष 2019-20 के लिए,EPFO 8.50% की ब्याज दर दे रहा है
  • सभी डायवर्सिफाइड इक्विटी लार्ज-कैप फंडों का औसत 5 साल का रिटर्न 11.5% है
  • ईपीएफ में मिलने वाले 8.7% के पिछले 5 साल के औसत रिटर्न से काफी अधिक है

नई दिल्ली: जिन लोगों की आय अधिक होती है, वे पारंपरिक निवेश स्कीम को पसंद करते हैं जैसे कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफ) में स्वैच्छिक भविष्य निधि (वीपीएफ) बड़े रिटायरमेंट प्लान हैं क्योंकि यह फंड उच्च गारंटीड ब्याज प्रदान करता है। वीपीएफ किसी कर्मचारी को मूल वेतन का 100% तक ईपीएफ योगदान बढ़ाने की अनुमति देता है। हालांकि, वित्तीय योजनाकारों का कहना है कि वीपीएफ सबसे अच्छा विकल्प नहीं है, क्योंकि यह अबतक रिटारमेंट के लिए बचत से जुड़ा है।

वित्त वर्ष 2019-20 के लिए, कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने 8.50% की ब्याज दर घोषित की है। पर्सनल फाइनेंस एक्सपर्ट्स का कहना है कि छोटी बचत योजनाओं पर ईपीएफ पर दी जाने वाली ब्याज दर प्रीमियम में धीरे-धीरे कमी आने की संभावना है क्योंकि ईपीएफ पर प्रदान की गई वर्तमान ब्याज दर लंबे समय तक चलने वाली नहीं है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि रिटायरमेंट फंड बनाने के लिए एक विविध इक्विटी म्यूचुअल फंड योजना में व्यवस्थित निवेश योजना (एसआईपी) का विकल्प चुन सकते हैं क्योंकि इसमें 10 % के लॉन्ग टर्म पूंजीगत लाभ टैक्स के लागू होने के बाद भी लंबी अवधि में उच्च रिटर्न उत्पन्न करने की क्षमता है।

म्यूचुअल फंड रिसर्च वेबसाइट वैल्यू रिसर्च के अनुसार, सभी डायवर्सिफाइड इक्विटी लार्ज-कैप फंडों का औसत 5 साल का रिटर्न 11.5% है, जो ईपीएफ से 8.7% के पिछले 5 साल के औसत रिटर्न से काफी अधिक है। भले ही हम 20 साल से अधिक लॉन्ग टर्म में इक्विटी फंड एसआईपी से 10% रिटर्न और ईपीएफ से लॉन्ग टर्म में 7% रिटर्न की कल्पना करते हैं। इक्विटी फंड एसआईपी रिटर्न अकाउंट कैपिटल गेन टैक्स के बाद भी ईपीएफ रिटर्न की तुलना में बहुत अधिक होगा। उदाहरण के लिए, यदि आप एसआईपी के माध्यम से एक विविध इक्विटी म्यूचुअल फंड में प्रति माह 5,000 रुपए डालते हैं, तो आपके निवेश का मूल्य 20 वर्षों के बाद 38.28 लाख रुपए होगा, आपके 12 लाख रुपए के मूल निवेश पर 26.28 लाख रुपए का लाभ होगा।

उस राशि पर 10% पूंजीगत लाभ कर (capital gains tax) चुकाने के बाद आपका शुद्ध रिटर्न 23.65 लाख रुपए होगा। जबकि, अगर आप VPF के माध्यम से हर महीने अपने EPF खाते में 5,000 रुपए डालते हैं, तो आपका निवेश मूल्य 26.31 लाख रुपए होगा (20 वर्ष की अवधि में 7% की रिटर्न की दर से) जिसमें 12 लाख रुपए के मूल निवेश पर 14.31 लाख रुपए का लाभ होगा। यह रिटर्न SIP से रिटर्न से करीब 40% कम है।

किसी संतुलित म्यूचुअल फंड में VPF के विकल्प के रूप में SIP पर भी विचार किया जा सकता है क्योंकि इक्विटी म्यूचुअल फंड की तुलना में संतुलित म्यूचुअल फंड में जोखिम कम होता है और ईपीएफ की तुलना में बेहतर रिटर्न देने की क्षमता होती है।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर