भारत का प्रमुख हवाईअड्डा बना Shirdi Airport, DGCA के ई-गवर्नेंस प्लेटफॉर्म eGCA का शुभारंभ

बिजनेस
डिंपल अलावाधी
Updated Nov 11, 2021 | 18:07 IST

Shirdi Airport: Civil Aviation Ministry ने शिरडी हवाई अड्डे को एक प्रमुख हवाईअड्डा घोषित किया। कम समय में यह हवाईअड्डा बहुत लोकप्रिय हो गया है।

Shirdi airport becomes major airport in India
भारत का प्रमुख हवाईअड्डा बना Shirdi Airport  |  तस्वीर साभार: BCCL
मुख्य बातें
  • नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने शिरडी हवाई अड्डे को एक प्रमुख हवाईअड्डा घोषित किया।
  • इसका उद्घाटन 2017 में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने किया था।
  • आज केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने DGCA के लिए ई-गवर्नेंस प्लेटफॉर्म eGCA शुरू करने की घोषणा की।

Shirdi Airport: नागरिक उड्डयन मंत्रालय (Civil Aviation Ministry) ने हवाईअड्डा आर्थिक नियामक प्राधिकरण अधिनियम, 2008 के तहत शिरडी हवाई अड्डे (Shirdi airport) को एक प्रमुख हवाईअड्डा घोषित किया है। अधिसूचना में कहा गया है कि, 'हवाईअड्डा आर्थिक प्राधिकरण अधिनियम, 2008 (NO. 27 OF 2008) की धारा 2 की उप-धारा (i) द्वारा शक्तियों का प्रयोग करते हुए, केंद्र सरकार शिरडी के हवाई अड्डे को प्रमुख हवाई अड्डे के रूप में घोषित करती है।'

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने किया था उद्घाटन 
शिरडी हवाई अड्डे का उद्घाटन 2 अक्टूबर 2017 को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ramnath Kovind) द्वारा किया गया था। कम समय में हवाईअड्डा बहुत लोकप्रिय हो गया क्योंकि यह साईं नगर जाने के लिए एक बढ़िया विकल्प था। पिछले तीन वर्षों में, 9 लाख से अधिक यात्रियों ने एयरलाइन की सेवाओं का लाभ उठाया है। चेन्नई, दिल्ली, बंगलूरू, हैदराबाद, मुंबई और कई अन्य राज्यों से शिरडी के लिए उड़ानें भरी गईं।

DGCA ने श्रीनगर हवाई अड्डे को घोषित किया था प्रमुख हवाईअड्डा
हाल ही में DGCA ने श्रीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे को प्रमुख हवाईअड्डा घोषित किया था। इस कदम के साथ, हवाईअड्डा आर्थिक नियामक प्राधिकरण (AERA) श्रीनगर हवाई अड्डे पर वैमानिकी सेवाओं के लिए शुल्क निर्धारित करेगा।

अधिनियम की धारा 13 के अनुसार, AERA को प्रमुख हवाई अड्डों पर प्रदान की जाने वाली वैमानिकी सेवाओं के लिए टैरिफ निर्धारित करने के लिए अनिवार्य किया गया है। इसमें उपयोगकर्ता विकास शुल्क सहित विकास शुल्क की राशि और विमान अधिनियम, 1934 के विमान नियम, 1937 के नियम 88 के तहत लगाए गए यात्री सेवा शुल्क की राशि शामिल है। AERA के तहत, केंद्र तब एक हवाई अड्डे को एक प्रमुख हवाई अड्डे के रूप में नामित कर सकता है, यदि उस पर एक साल में पैसेंजर ट्रैफिक कम से कम 35 लाख हो।

DGCA के ई-गवर्नेंस प्लेटफॉर्म eGCA का शुभारंभ
केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री, ज्योतिरादित्य सिंधिया ने आज नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA) के लिए एक ई-गवर्नेंस प्लेटफॉर्म eGCA शुरू करने की घोषणा की। नागरिक उड्डयन सचिव राजीव बंसल, नागरिक उड्डयन महानिदेशक अरुण कुमार और नागरिक उड्डयन उद्योग के अन्य सदस्य भी लॉन्च के दौरान उपस्थित थे।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर