Share bazaar Today : 7 महीने बाद सेंसेक्स 40000 अंक से ऊपर, आईटी कंपनियों के शेयर चमके

त्योहारी सीजन करीब आते ही भारतीय शेयर बाजार में रौनक दिखने लिगी। बीएसई सेंसेक्स का इंडेक्स 40,000 से ऊपर बंद हुआ।

Share bazaar Today : Sensex Crosses 40,000, Nifty also rises on 08 October 2020
सेंसेक्स में तेजी जारी 

मुंबई: बीएसई सेंसेक्स में गुरुवार को लगातर छठे कारोबारी सत्र में तेजी बनी रही और बीएसई सेंसेक्स 300 अंक से अधिक की बढ़त के साथ 40,000 अंक के ऊपर बंद हुआ। टीसीएस के बेहतर वित्तीय परिणाम के बाद आईटी कंपनियों के शेयर चमक में रहे। टीसीएस के परिणाम को देखने के बाद यह माना जा रहा है कि साफ्टवेयर सेवा उद्योग के लिये बुरा दौर समाप्त हो गया है। तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स में कारोबार के दौरान एक समय 400 अंक से अधिक का उछाल आया था लेकिन अंत में यह 303.72 अंक यानी 0.76 प्रतिशत मजबूत होकर 40,182.67 अंक पर बंद हुआ। इससे पहले, 25 फरवरी को सेंसेक्स 40,000 अंक के ऊपर बंद हुआ था।

इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 95.75 अंक यानी 0.82 प्रतिशत उछलकर 11,834.60 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स के शेयरों में सर्वाधिक लाभ में अल्ट्राटेक सीमेंट रही। इसमें 3.24 प्रतिशत की तेजी आयी। इसके अलावा टीसीएस, एचीएल टेक, इन्फोसिस, एचडीएफसी बैंक और सन फार्मा में भी अच्छी तेजी दर्ज की गयी।

देश की सबसे बड़ी साफ्टवेयर सेवा प्रदाता कंपनी टाटा कंसलटेंसी सर्विसेज ((टीसीएस) का एकीकृत शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में 4.9 प्रतिशत बढ़कर 8,433 करोड़ रुपये रहा। कंपनी ने 3,000 रुपये प्रति शेयर के भाव पर 16,000 करोड़ रुपये मूल्य की पुनर्खरीद योजना की भी घोषणा की है। दूसरी तरफ नुकसान में रहने वाले शेयरों में ओएनजीसी, आईटीसी, पावरग्रिड, रिलायंस, एशियन पेंट्स और एल एंड टी शामिल हैं। इनमें 2.84 प्रतिशत तक की गिरावट आयी।

आरआईएल के शेयर में बिकवाली दबाव रहा। अमेजन डॉट कॉम ने फ्यूचर गुप के 24,713 करोड़ रुपये की संपत्ति मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाले समूह को बेचे जाने को लेकर कानूनी नोटिस दिया है। जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि आईटी और बैंकों की अगुवाई में दूसरी तिमाही के बेहतर परिणाम की शुरूआत के साथ पुनर्खरीद जैसी सकारात्मक घोषणा से बाजार धारणा पर अच्छा प्रभाव पड़ा। साथ ही भारत और अमेरिका में प्रोत्साहन पैकेज जारी होने की उम्मीद बढ़ी है। उन्होंने कहा कि शुरू में यह सोचा जा रहा था कि घरेलू प्रोत्साहन पैकेज सीमति होगा। कुछ अधिकारियों की टिप्पणी के बाद सोच बदला है। अब यह माना जा रहा है कि प्रोत्साहन बड़ा होगा।

अमेरिका में कम आकार के प्रोत्साहन पैकेज जारी होने की उम्मीद से वैश्विक शेयर बाजारों पर सकारात्मक प्रभाव पड़ा है। हालांकि अमेरिकी राष्ट्रपति ने बड़े प्रोत्साहन को लेकर बातचीत फिलहाल टाल दी है। वैश्विक स्तर पर एशिया के अन्य बाजारों में चीन का शंघाई, दक्षिण कोरिया में सोल और जापान के तोक्यो बाजारों में तेजी रही। चीन में हांगकांग नुकसान में रहा। यूरोप के प्रमुख बाजारों में शुरूआती कारोबार में तेजी रही।

इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड का भाव 1.62 प्रतिशत मजबूत होकर 42.67 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा था। विदेशी विनिमय बाजार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 9 पैसे की बढ़त के साथ 73.24 पर पहुंच गया।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर