Personal loan benefits: पर्सनल लोन के 7 फायदे, लेने से पहले जान लेंं ये महत्वपूर्ण बातें

पर्सनल लोन किसी वित्तीय लक्ष्य या किसी आपातस्थिति में पैसे की कमी को दूर करने के लिए एक उपयोगी और आसान साधन साबित होते हैं।

Seven benefits of taking personal loan
पर्सनल लोन के फायदे 

हमारे देश में उपलब्ध पर्सनल लोन सबसे अधिक फ्लेक्सिबल और जाने पहचाने बोरोइंग इंस्ट्रुमेंट्स हैं। इन अनसिक्योर्ड फाईनेंसिंग सुविधाओं का प्रयोग किसी भी उद्देश्य से किया जा सकता है। ये अकसर कम्पेटिटिव ब्याज दरों पर उपलब्ध होते हैं जो किसी वित्तीय लक्ष्य या किसी आपातस्थिति में लिक्विडिटी की कमी को दूर करने के लिए एक उपयोगी तथा आसान साधन साबित होते हैं। पर्सनल लोन इस अनिश्चितता के समय आपको पैसों की ज़रूरत को पूरा करने में बहुत उपयोगी साबित हो सकता है। लेकिन, कुछ लोगों का यह मानना है कि पर्सनल लोन बहुत ही मंहगे होते हैं, और उनके साथ बहुत अधिक चार्ज जुड़े रहते हैं, और वे इसे आखिरी विकल्प मानते हैं। उनकी इस सोच के विपरीत, पर्सनल लोन उधारकर्ता के लिए बहुत अनुकूल साबित हो सकता है और अकसर उधार लेने की अनेक स्थितियों में सबसे अच्छा विकल्प साबित होता है। अधिक जानने के लिए, आइये पर्सनल लोन लेने के कुछ उल्लेखनीय फायदों की जांच करते हैं।

कोई कोलेट्रल की जरुरत नहीं होती

पर्सनल लोन अनसिक्योर्ड श्रेणी में आता है और आवेदक को लोन के लिए कोई सिक्योरिटी नहीं देनी पड़ती है। आमतौर पर बैंक उधारकर्ता की आय, कैश-फ्लो, क्रेडिट स्कोर और रिपेमेंट क्षमता का मूल्यांकन करते हैं, जिसके आधार पर वे लोन राशि की एलिजिबिलिटी और स्वीकार्य ब्याज दर तय करते हैं। अच्छी रिपेमेंट क्षमता, अच्छा क्रेडिट स्कोर (750-800), और आय की स्थिरता से आवेदक को उचित दरों पर पर्सनल लोन लेने में सहायता मिल सकती है।

लोन के इस्तेमाल पर कोई प्रतिबंध नहीं

अधिकांश लोन प्रोडक्ट्स जैसे होम लोन, कार लोन, टू-व्हीलर लोन आदि के साथ लोन के इस्तेमाल पर प्रतिबंध जुड़े रहते हैं। जबकि, पर्सनल लोन में, उधारकर्ता को किसी भी उद्देश्य से फंड का इस्तेमाल करने की आज़ादी मिलती है- फिर चाहे वह किसी बड़े खर्चे को पूरा करना, घर की रेनोवेशन हो, शादी हो, छुट्टियां मनाने जाना हो, खुद की या बच्चों की उच्च शिक्षा हो, कुछ भी हो सकता है! अब, खास उद्देश्यों के लिए लोन के मामले में, उधारदाता द्वारा विक्रेता या आपूर्तिकर्ता को सीधे ही लोन का भुगतान कर दिया जाता है। दूसरी तरफ, पर्सनल लोन की राशि सीधे उधारकर्ता को दी जाती है। ऐसा कहने के बाद, हालांकि पर्सनल लोन लेने के उद्देश्य को बताना ज़रूरी नहीं है, लेकिन आपको जुआ आदि खेलने और उधार लेकर निवेश करने के लिए फंड्स का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

ब्याज की प्रतियोगी दरें (विशेष रूप से जब क्रेडिट स्कोर अच्छा हो)

पर्सनल लोन पर ब्याज दर और चार्ज, हरेक मामले में अलग अलग हो सकते है जो लोन के आकार, अवधि, उधारकर्ता के क्रेडिट स्कोर आदि पर निर्भर कर सकते हैं। आमतौर पर, लोन की अधिक राशि और निम्न क्रेडिट स्कोर के कारण ऊंची ब्याज दर ली जाती है। पर्सनल लोन ब्याज दर की शुरूआत 8.90% प्रति वर्ष होती है और यह उधारकर्ता पर निर्भर करते हुए 25% प्रति वर्ष तक, यदि इससे अधिक न हो, तक हो सकती है। प्रतिष्ठित कंपनियों के कर्मचारियों और ऐसे उधारकर्ता जिनके बैंकों के साथ लंबे समय से मधुर संबंध होते हैं, उन्हें अकसर न्यूनतम उपलब्ध दरों की ऑफर की जाती है जो उधारदाता के नियम और शर्तों पर निर्भर करती हैं, विशेष रूप से यदि आपको क्रेडिट स्कोर भी अच्छा है।

फ्लेक्सिबल अवधि

पर्सनल लोन के साथ फ्लेक्सिबल रिपेमेंट अवधि जुड़ी रहती है जो आमतौर पर 12 महीनों से 60 महीनों के बीच में होती है, जबकि इसके साथ कुछ अपवाद भी जुड़े रहते हैं जिसमें यह अवधि 72 महीने से 84 महीनों तक हो सकती है, जो उधारदाता की नीति और उधारकर्ता के योग्यता मानदंडों पर निर्भर करती है। पर्सनल लोन के साथ प्रिपेमेंट और प्री-क्लोज़र चार्ज भी जुड़े रहते हैं; लेकिन कुछ उधारकर्ता अपने नियम और शर्तों के आधार पर इस प्रकार के चार्ज को माफ कर देते हैं। साथ ही, अनेक उधारदाता ऐसे लोन 22 वर्ष से 60 वर्ष की आयु के व्यक्तियों को देते हैं।

बड़ी राशि के लोन की उपलब्धता

यदि आप बड़ी राशि का अनसिक्योर्ड लोन लेना चाहते हैं, तो आपको अपने चुने गए उधारदाता के पात्रता मानदंडों को पूरा करना होगा। अधिकतम लोन राशि का निर्णय करते समय, पात्रता मानदंडों का आकलन करते समय, बैंक भावी उधारकर्ता की आयु, सभी वित्तीय दायित्वों को पूरा करने के बाद नेट मासिक आय, नौकरी की स्थिरता, और क्रेडिट स्कोर की जांच करते हैं। अधिकांश बैंकों द्वारा अधिकतम 25 लाख रूपये का पर्सनल लोन दिया जाता है। तय दायित्व और आय के निम्न अनुपात से बड़ी राशि के पर्सनल लोन की मंजूरी पाई जा सकती है। मौजूदा वित्तीय दायित्व जैसे अन्य लोन ईएमआई और क्रेडिट कार्ड बकाया राशि के कारण अधिकतम लोन राशि पात्रता कम हो सकती है।

प्रि-एप्रूड ऑफर्स के मामले में शीघ्र डिस्बर्सल

यदि आपने अच्छे बैंकिंग रिश्ते बनाए रखे हैं, तो आपका बैंक आपको प्री-एप्रूड पर्सनल लोन ऑफर प्रदान कर सकता है। ये न्यूनतम पेपर वर्क के साथ तत्काल लोन होते हैं। लोन का आवेदन बैंक द्वारा प्रदान किए गए लिंक के माध्यम से या ऑनलाइन बैंकिंग में लॉग इन करके किया जा सकता है। आपके द्वारा स्वीकार किए जाने के बाद राशि को कुछ ही मिनटों में सीधे आपके बैंक खाते में क्रेडिट कर दिया जाता है। ब्याज दर, राशि पात्रता, अवधि और सभी प्रकार के चार्ज का उल्लेख लोन आवेदन के समय ही किया जाता है।

वित्तीय आपातस्थिति में उधार लेने का शायद सबसे सर्वश्रेष्ठ साधन

वित्तीय आपातस्थिति में, लोगों को आमतौर पर तत्काल फंड्स की व्यवस्था करने की ज़रूरत पड़ती है। ऐसी स्थिति में, पर्सनल लोन अपेक्षित फंड्स को एकत्र करने का सबसे प्रभावी तरीका साबित हो सकता है, जिसमें आपको कोलेट्रल की व्यवस्था करने की चिंता नहीं करनी पड़ती है। आप ऑनलाइन बैंकिंग या आपके बैंक द्वारा ऑफर की जाने वाली ऑनलाइन पर्सनल लोन आवेदन सेवा का इस्तेमाल करके शीघ्रता से फंड प्राप्त कर सकते हैं।

निष्कर्ष

पर्सनल लोन के लिए आवेदन करते समय, आपको लोन की राशि को अपनी ज़रूरत तक सीमित रखना चाहिए और ज़रूरत से ज्यादा उधार नहीं लेनी चाहिए। इसके कारण आपको अनावश्यक रूप से ब्याज की लागत उठानी पड़ सकती है और बाद में, यदि आप समय से पहले भुगतान करते हैं, तो इस पर प्री-पेमेंट चार्ज लगाए जा सकते हैं। साथ ही, यह तय कर लें कि आपके कर्जे से जुड़े सभी दायित्व कुल मिलाकर आपकी पारिवारिक आय के 40% से अधिक नहीं होने चाहिए ताकि आप समय पर अपने सभी लोन का भुगतान कर सकें। अंत में, आपको बेहतर रिपेमेंट शर्तों पर अपना मनचाहा लोन प्राप्त करने के लिए अच्छे क्रेडिट स्कोर को भी बनाए रखना चाहिए।

(इस लेख के लेखक, BankBazaar.com के CEO आदिल शेट्टी हैं)
(डिस्क्लेमर: यह जानकारी एक्सपर्ट की रिपोर्ट के आधार पर दी जा रही है। बाजार जोखिमों के अधीन होते हैं, इसलिए निवेश के पहले अपने स्तर पर सलाह लें।) ( ये लेख सिर्फ जानकारी के उद्देश्य से लिखा गया है। इसको निवेश से जुड़ी, वित्तीय या दूसरी सलाह न माना जाए)

 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर