Senior Citizen Investment Options: घर बैठे इनकम बढ़ा सकते हैं वरिष्ठ नागरिक, इन 5 निवेश विकल्पों पर करें विचार

रिटायरमेंट के बाद लोगों के सैलरी बन हो जाती है। जिससे आय में कमी हो जाती है। इस हालात में उनके लिए ये 5 ऑप्शन हैं जिसके जरिये वे रेगुलर आय बढ़ा सकते हैं।

Senior Citizen Investment Options
सीनियर सिटिजन के लिए निवेश विकल्प (istock) 

मुख्य बातें

  • छोटी बचत स्कीम्स पर ब्याज दरें काफी कम हैं।
  • वरिष्ठ नागरिकों के लिए कई स्कीम्स हैं, जिसमें अच्छी ब्याज दरें मिल रही हैं।
  • वरिष्ठ नागरिक अपनी मेहनत की कमाई को निवेश के लिए यहां बताए गए 5 विकल्पों पर विचार कर सकते हैं। 

अपनी पूंजी पर निश्चित नियमित इनकम की तलाश करने वाले निवेशकों को ब्याज दरों में गिरावट से सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है। जबकि प्रमुख बैंक वरिष्ठ नागरिकों को 5-10 वर्षों के बीच की अवधि के लिए फिक्स्ड डिपॉजिट जमा पर अधिकतम 6% का ब्याज ऑफर कर रहे हैं। हालांकि डाकघर की छोटी बचत स्कीम्स अपेक्षाकृत अधिक इंटरेस्ट रेट प्रदान करती हैं। हालांकि, निवेश एक्सपर्ट्स का मानना है कि छोटी बचत स्कीम्स पर मौजूदा दरें आगे नहीं टिक सकती हैं और यह केवल समय की बात है कि सरकार इन स्कीम्स पर ब्याज दरों में कटौती करती है, हालांकि मौजूदा अप्रैल-जून तिमाही के लिए ब्याज दरों में कटौती को रिवर्स किया गया था। इस स्थिति में पांच निवेश विकल्प हैं जहां वरिष्ठ नागरिक नियमित आय प्राप्त करने के लिए अपनी मेहनत की कमाई को निवेश कर सकते हैं।

वरिष्ठ नागरिक बचत योजना (SCSS)

वरिष्ठ नागरिक बचत योजना 5 साल की स्कीम है और कोई भी एक से अधिक खाते खुलवा सकता है लेकिन सभी खातों में निवेश की जा सकने वाली कुल राशि 15 लाख रुपए से अधिक नहीं हो सकती है। इस स्कीम पर ब्याज दर सरकार द्वारा हर तिमाही तय की जाती है। मौजूदा अप्रैल-जून तिमाही के लिए एससीएसएस में निवेश पर 7.4% प्रतिवर्ष ब्याज मिलेगा। एक बार जब आप इस स्कीम में निवेश करते हैं तो आपको पूरे 5 साल की अवधि के लिए ब्याज दर मिलती रहेगी। हालांकि, वरिष्ठ नागरिक बचत स्कीम में अर्जित ब्याज पूरी तरह से टैक्सेबल है; इस पर अदर सोर्स से इनकम के रूप में टैक्स लगाया जाता है। उच्च ब्याज दरों और मूल राशि की सॉवरेन गारंटी को देखते हुए एससीएसएस उन वरिष्ठ नागरिकों के लिए उपयुक्त है जो हाई फिक्स्ड रिटर्न रेट और तिमाही आधार पर रेगुलर इनकम की तलाश में हैं। 

डाकघर मासिक आय योजना (POMIS)

डाकघर मासिक आय योजना भी 5 साल की स्कीम है और एक बार निवेश करने के बाद ब्याज दर मैच्योरिटी तक एक समान रहती है। मौजूदा अप्रैल-जून तिमाही के लिए इस स्कीम पर ब्याज दर 6.6 प्रतिशत सालाना तय की गई है। एक व्यक्ति अपने नाम से अधिकतम 4.5 लाख रुपए का निवेश कर सकता है जबकि ज्वाइंट नामों से खाता खोलने पर अधिकतम 9 लाख रुपए जमा किए जा सकते हैं। जैसा कि नाम से पता चलता है, इस स्कीम में मासिक आधार पर ब्याज का भुगतान किया जाता है।

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (PMVVY)

प्रधानमंत्री वय वंदना स्कीम को 31 मार्च, 2023 तक बढ़ा दिया गया है। वर्तमान में, यह स्कीम मासिक देय 7.40% प्रति वर्ष की दर से गारंटीड पेंशन प्रदान कर रही है। हालांकि इस स्कीम पर ब्याज दर हर साल 1 अप्रैल को रीसेट की जाती है और फिर नई दर के आधार पर पेंशन राशि बदल जाती है। सुनिश्चित ब्याज दर का वार्षिक रीसेट एससीएसएस के रिटर्न की संशोधित दर के अनुरूप होगा लेकिन 7.75% की अधिकतम सीमा तक होगा। एक बार यह सीमा हासिल हो जाने के बाद, ब्याज दर का एक नया मूल्यांकन किया जाएगा। इस 10 साल की निवेश स्कीम में अधिकतम निवेश की अनुमति 15 लाख रुपए है। 10 साल का कार्यकाल पूरा होने पर मूल राशि पेंशन की अंतिम किस्त के साथ निवेशक को वापस कर दी जाएगी।

बैंक फिक्स्ड डिपॉजिट (FD)

बैंक फिक्स्ड डिपॉजिट हमेशा वरिष्ठ नागरिकों के लिए सबसे लोकप्रिय निवेश स्कीम रही है। लेकिन हाल ही में ब्याज दरों में गिरावट के कारण इन स्कीम्स ने अपना आकर्षण खो दिया है। बैंक एफडी आपकी इच्छानुसार भुगतान विकल्प-मासिक, त्रैमासिक, अर्ध-वार्षिक या वार्षिक चुनने की सुविधा प्रदान करते हैं। वर्तमान में अधिकांश बड़े बैंक वरिष्ठ नागरिकों को 5-10 वर्षों के बीच की अवधि के लिए एफडी पर 6% तक ब्याज प्रदान कर रहे हैं। हालांकि, कुछ छोटे वित्त बैंक और सहकारी बैंक वरिष्ठ नागरिक एफडी पर 7% से अधिक ब्याज दर प्रदान कर रहे हैं।

फ्लोटिंग दर बचत बांड्स

फ्लोटिंग रेट सेविंग बॉन्ड्स 2020 की अवधि 7 साल है और इस स्कीम पर ब्याज दर हर छह महीने में बदल जाती है और यह नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (एनएससी) प्लस 35 बेसिस पॉइंट स्प्रेड पर भुगतान की गई ब्याज दर से जुड़ा है। इस स्कीम पर ब्याज का भुगतान वर्ष में दो बार किया जाता है। 1 जनवरी और 1 जुलाई को। वर्तमान में, इस स्कीम पर 7.15% ब्याज मिलता है, जो पूरी तरह से प्राप्तकर्ता के हाथ में टैक्स योग्य है। इस स्कीम में निवेश की कोई ऊपरी सीमा नहीं है।

(डिस्क्लेमर:  ये लेख सिर्फ जानकारी के उद्देश्य से लिखा गया है। इसको निवेश से जुड़ी, वित्तीय या दूसरी सलाह न माना जाए) 


 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर