SBI profits rise : कोरोना वायरस महामारी के दौरान SBI का मुनाफा 81% बढ़ा

बिजनेस
भाषा
Updated Jul 31, 2020 | 19:42 IST

SBI profits rise : देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई का मुनाफा पहली तिमाही (अप्रैल-जून 2020) में एकल शुद्ध लाभ 81% बढ़ा। 

SBI's profits rise by 81 percent during the Corona virus epidemic in the April-June 2020 quarter
पहली तिमाही में एसबीआई की आय में भारी इजाफा  |  तस्वीर साभार: IANS

मुख्य बातें

  • वित्त वर्ष 2019- 20 की इसी तिमाही में एसबीआई ने 2,312.02 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ कमाया था
  • एसबीआई की एकल कुल आय बढ़कर 74,457.86 करोड़ रुपए पर पहुंच गई
  • तिमाही के दौरान बैंक का परिचालन लाभ 36% बढ़कर 18,061 करोड़ रुपए पर पहुंच गया

SBI profits in April-June 2020 : भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) का चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही (अप्रैल-जून 2020) का एकल शुद्ध लाभ 81% बढ़कर 4,189.34 करोड़ रुपए पर पहुंच गया। डूबा कर्ज घटने तथा अपनी अनुषंगी इकाई एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस में अल्पांश हिस्सेदारी की बिक्री से बैंक का मुनाफा बढ़ा है। इससे पिछले वित्त वर्ष 2019- 20 की इसी तिमाही में बैंक ने 2,312.02 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ कमाया था। बैंक ने पहली तिमाही के नतीजों की घोषणा करते हुए कहा कि जून तिमाही के मुनाफे में एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस कंपनी में 2.1% हिस्सेदारी बिक्री से प्राप्त 1,539.73 करोड़ रुपए की राशि भी शामिल है। एसबीआई लाइफ में अब बैंक की हिस्सेदारी 57.70% से घटकर 55.60% रह गई।

शेयर बाजारों को भेजी सूचना में देश के सबसे बड़े बैंक ने कहा कि तिमाही के दौरान उसकी एकल कुल आय बढ़कर 74,457.86 करोड़ रुपए पर पहुंच गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में 70,653.23 करोड़ रुपए रही थी। तिमाही के दौरान बैंक का परिचालन लाभ 36% बढ़कर 18,061 करोड़ रुपए पर पहुंच गया, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में 13,246 करोड़ रुपए था। आलोच्य तिमाही के दौरान बैंक की ब्याज आय 6% बढ़कर 66,500 करोड़ रुपए पर पहुंच गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 62,638 करोड़ रुपये थी।

इस दौरान बैंक का शुद्ध ब्याज मार्जिन घटकर 3.01% रह गया, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की पहली तिमाही में 3.24% था। तिमाही के दौरान बैंक की सकल गैर-निष्पादित आस्तियां (एनपीए) घटकर 5.44% रह गईं, जो कि पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में 7.53% पर थीं। इसी तरह बैंक का शुद्ध एनपीए घटकर 1.8% रह गया, जो एक साल पहले 3.07% था।

इसके चलते डूबे कर्ज के लिए बैंक का प्रावधान घटकर 9,420.46 करोड़ रुपए रह गया, जो एक साल पहले 11,648.45 करोड़ रुपए था। तिमाही के दौरान बैंक ने कोविड-19 के मद्देनजर 1,836 करोड़ रुपए का अतिरिक्त प्रावधान किया है। बैंक ने कहा कि यह प्रावधान रिजर्व बैंक के दिशानिर्देशों के अनुरूप है। जून तिमाही के अंत तक बैंक का प्रावधान कवरेज अनुपात 86.32% था। वहीं पूंजी पर्याप्तता अनुपात सुधरकर 13.40% रहा।

तिमाही के दौरान एकीकृत आधार पर एसबीआई का शुद्ध लाभ 62% बढ़कर 4,776.50 करोड़ रुपए पर पहुंच गया, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में 2,950.50 करोड़ रुपए था। तिमाही के दौरान बैंक की एकीकृत कुल आय बढ़कर 87,984.33 करोड़ रुपए पर पहुंच गई, पिछले वित्त वर्ष की पहली तिमाही में यह 83,274.04 करोड़ रुपए थी।

अगली खबर