SBI Fraud:साइबर क्राइम और धोखाधड़ी से बचना है तो इस 'वैक्सीन' का रखें ख्याल

बिजनेस
रवि वैश्य
Updated Jul 11, 2021 | 09:21 IST

SBI ने अपने ग्राहकों से अपील की है कि वे लगातार अपने पासवर्ड को बदलते रहें बैंक के मुताबिक ऑनलाइन पासवर्ड का चेंज करना वायरस के खिलाफ वैक्सीन की तरह है।

SBI Fraud Alert
SBI ने अपने ग्राहकों को धोखाधड़ियों से बचने को लेकर चेतावनी जारी की हैं 

मुख्य बातें

  • बैंक ने रोचक अंदाज मे समझाते हुए पासवर्ड बदलने की तुलना वैक्सीन से की
  • ऑनलाइन खातों के लिए बार-बार पासवर्ड बदलना वायरस के टीके की तरह काम करता है
  • ग्राहक अपनी शिकायत पोर्टल www.cybercrime.gov.in पर दर्ज कर सकते हैं

नई दिल्ली: बैंक कस्टमरों के साथ फ्रॉड कोई नई बात नहीं है, बैंक भी इसे लेकर अपने ग्राहकों को सचेत करते रहते हैं वहीं देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने अपने ग्राहकों को ग्राहकों को बैंक धोखाधड़ी और साइबर क्राइम के प्रति जागरुक किया है खास बात ये है कि ये बात बैंक ने रोचक अंदाज मे समझाते हुए पासवर्ड बदलने की तुलना वैक्सीन से की है।

स्टेट बैंक ने कस्टमरों से कहा है कि वे किसी अज्ञात टेलीफोन कॉल या ईमेल के आधार पर कोई मोबाइल ऐप डाउनलोड न करें। साथ ही अज्ञात स्रोतों से मेल में प्राप्त अटैचमेंट पर क्लिक करने से बचने की सलाह दी है, साथ ही बैंक ने कहा है कि ग्राहकों को ईमेल, एसएमएस और अन्य सोशल मीडिया के माध्यम से प्राप्त प्रस्तावों का ऑंसर नहीं देना चाहिए, चाहे वह कितना ही आकर्षक और लुभावने क्यों ना हों नहीं तो आप दिक्कत में पड़ सकते हैं।

एसबीआई ने ट्वीट कर कहा है कि आपके ऑनलाइन खातों के लिए बार-बार पासवर्ड बदलना वायरस के टीके की तरह काम करता है, उचित सावधानियों के साथ धोखाधड़ी और साइबर अपराधों से सुरक्षित रहें...

बैंक ने अपने ग्राहकों को सलाह दी है कि वे जन्म तिथि, डेबिट कार्ड नंबर, इंटरनेट बैंकिंग यूजर आईडी, पासवर्ड, डेबिट कार्ड पिन,CVV और ओटीपी जैसे विवरण किसी को नहीं बताएं।

KYC Fraud को लेकर दी चेतावनी

वहीं इससे पहले बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपने ग्राहकों को केवाईसी फ्रॉड (KYC fraud) को लेकर चेतावनी जारी की थी, बैंक ने कहा इस फ्रॉड का असर पूरे देश में ग्राहकों के साथ देखा जा रहा है एसबीआई ने इस फ्रॉड के प्रति ग्राहकों को सावधान करते हुए कहा है कि इस तरह के फर्जी केवाईसी से बचने की जरूरत है।

बैंक ने कहा है कि हर ग्राहक को अपना बैंक स्टेटमेंट जरूर देखना चाहिए. अगर कोई संदिग्ध ट्रांजेक्शन दिखे तो इसकी सूचना तुरंत दी जानी चाहिए, बैंक के टोल फ्री कस्टमर केयर नंबर या नेशनल साइबर क्राइम पोर्टल पर इसकी शिकायत दर्ज करानी चाहिए। 

शिकायत इस पोर्टल पर करा सकते हैं दर्ज

एसबीआई ने अपने ग्राहकों से कहा है कि इस तरह की कोई भी घटना सामने आए तो तत्काल उसकी शिकायत दर्ज की जाए, ग्राहक अपनी शिकायत नेशनल साइबर क्राइम रिपोर्टिंग पोर्टल www.cybercrime.gov.in पर दर्ज कर सकते हैं, यह पोर्टल गृह मंत्रालय के अंतर्गत काम करता है भारत सरकार ने इस पोर्टल को शुरू किया है ताकि साइबर क्राइम से जुड़ी शिकायतों का जल्द निपटारा हो सके पोर्टल पर ऑनलाइन शिकायत दर्ज होती है।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर