LPG price: आम आदमी को राहत, 1 अप्रैल से कम होंगी एलपीजी सिलेंडर की कीमतें

आम आदमी के लिए राहत की खबर है। 1 अप्रैल से एलपीजी सिलेंडर की कीमत घटाई जाएंगी। 

Relief to common men! LPG cylinder prices will be reduced by Rs 10 from 1 April 
एलपीजी सिलेंडर की कीमतों में गिरावट 

सरकारी तेल मार्केटिंग कंपनियां इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन, भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन और हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन ने 1 अप्रैल से घरेलू रसोई गैस या तरलीकृत पेट्रोलियम गैस (एलपीजी) की कीमत 10 रुपए प्रति सिलेंडर कम करने का फैसला किया है। इसके बाद, दिल्ली में रसोई गैस की कीमत एक अप्रैल से 809 रुपए प्रति सिलेंडर होगी। 31 मार्च तक इसकी कीमत 819 रुपए है। घरेलू रसोई गैस (एलपीजी) की कीमतों में रिकॉर्ड बढ़ोतरी के बाद कमी की जा रही है। हाल के सप्ताहों में एलपीजी भी प्रति सिलेंडर कुल मिला कर 125 रुपए तक की बढोतरी कर दी गयी थी।

अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल और पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतें नवंबर 2020 से लगातार बढ़ रही हैं। चूंकि भारत कच्चे तेल के लिए काफी हद तक आयात पर निर्भर है और कीमतें बाजार से जुड़ी हुई हैं, इसलिए अंतरराष्ट्रीय कीमतों में बढ़ने से पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स की कीमतें घरेलू बाजार में बढ़ जाती हैं।

एक अधिकारी ने अपना नाम जाहिर न करने की शर्त पर कहा था कि रसोई गैस (एलपीजी) की कीमतों में भी जल्द ही कमी होगी। पेट्रोल और डीजल की कीमतों में पहले ही सप्ताह में तीन बार कटौती की जा चुकी है। उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल की कीमतों में पिछले कुछ दिनों में नरमी आई है। इसका असर घरेलू खुदरा कीमतों पर भी दिखना चाहिए। उन्होंने कहा कि रुझान बताते हैं कि निकट अवधि में कीमतों में कोई वृद्धि नहीं होगी। वास्तव में, हमें और कमी देखने को मिल सकती है। अधिकारी ने कहा कि एलपीजी की कीमतों में आने वाले हफ्तों में गिरावट का रुख देखने को मिलेगा। उन्होंने कहा कि एलपीजी की कीमतें आगे नहीं बढ़ेंगी। उन्होंने कहा कि एलपीजी की कीमतें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कम हुई हैं और जल्द ही घरेलू दरों में भी कमी होनी चाहिए। 

पिछले महीने डीजल और पेट्रोल के भाव सर्वकालिक उच्चतम स्तर पर पर पहुंच गए थे। दिल्ली में इस समय पेट्रोल 90.56 रुपए के भाव है जबकि यह 91.17 रुपए प्रति लीटर तक चला गया था। डीजल प्रति लीटर 80.87 रुपए पर है। पेट्रोल और डीजल के दाम अंतरराष्ट्रीय बाजार की दरों के 15 दिन के गतिमान औसत के आधार पर प्रति दिन संशोधित की जाती है जबकि रसाईं गैस (एलपीजी) के भाव की समीक्षा हर महीने की पहली तारीख को की जाती है।
 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर