Rakesh Jhunjhunwala​: राकेश झुनझुनवाला ने 5000 रुपये से खड़ा किया 46 हजार करोड़ का बिजनेस, 'टाटा' ने बदली थी किस्मत

बिजनेस
प्रशांत श्रीवास्तव
Updated Aug 14, 2022 | 18:30 IST

Rakesh Jhunjhunwala​ Death: चार्टर्ड अकाउंटेंट की डिग्री रखने वाले राकेश झुनझुनवाला का जन्म 5 जुलाई को 1960 में हुआ था। उनके पिता इनकम टैक्स ऑफिसर थे। राकेश ने शेयर बाजार में कॉलेज के समय से ही निवेश करना शुरू कर दिया था।

rakesh jhunjhunwala success story
राकेश झुनझुनवाला ने ऐसे बदली किस्मत  |  तस्वीर साभार: BCCL
मुख्य बातें
  • राकेश झुनझुनावाला की टाटा टी में निवेश ने बदली किस्मत, तीन महीने में तीन गुना हो गए थे शेयर प्राइस
  • फोर्ब्स की लिस्ट के अनुसार वह भारत के 36 वें और दुनिया के 438 वें सबसे रईस शख्स थे
  • आकासा के जरिए लोकॉस्ट एयरलाइन सेक्टर में रखा कदम, 7 अगस्त 2022 को कंपनी ने भरी थी पहली उड़ान

Rakesh Jhunjhunwala​ Death:भारत के वॉरेन बफे कहलाने वाले निवेशक और आकासा एयरलाइंस (Akasa Airline) के को-फाउंडर राकेश झुनझुनवाला (Rakesh Jhunjhunwala) का 62 साल की उम्र में निधन हो गया है। राकेश झुनझुनवाला ऐसा नाम था जिसे शेयर बाजार में पारस के पत्थर (Midas Touch) के रूप में जाना जाता है। यानी जिस कंपनी में उन्होंने  निवेश कर दिया उसके शेयर उड़ान भर लगते थे। निवेशक हर रोज उनके निवेश पर नजर गड़ाए रखते आए हैं। उन्हें भरोसा रहता है कि जहां झुनझुनवाला ने निवेश किया, वहां पैसा लगाना कमाई की गांरटी है।  झुनझुनवाला शुरू से ही जोखिम लेने वाले निवेशकों में से एक थे। और उनकी इसी रणनीति का असर था कि आज वह भारत के 36 वें सबसे बड़े रईस थे। फोर्ब्स (Forbes) की लिस्ट के अनुसार दुनिया में वह 438 वें स्थान पर काबिज थे। 

5000 रुपये से खड़ा किया 46 हजार करोड़ का साम्राज्य

चार्टर्ड अकाउंटेंट की डिग्री रखने वाले राकेश झुनझुनवाला का जन्म 5 जुलाई को 1960 में हुआ था। उनके पिता इनकम टैक्स ऑफिसर थे। शेयर बाजार में उन्होंने कॉलेज के समय से ही निवेश करना शुरू कर दिया था। साल 1985 में 5000 रुपये से अपने निवेश की शुरूआत की थी। फोर्ब्स के अनुसार उस वक्त BSE लगभग 150 अंक था। आज शेयर बाजार 59000 अंक तक पहुंच चुका है। एक इंटरव्यू में झुनझुनवाला ने बताया था कि अपने पिता की दोस्तों के शेयर बाजार पर हुई चर्चा सुनने के बाद, उनकी शेयर बाजार में रुचि जगी। झुनझुनवाला ने कहा कि उनके पिता उन्हें नियमित रूप से समाचार पत्र पढ़ने के लिए कहते थे। उनका कहना था कि अखबारों की खबर से शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव दिखता है। फोर्ब्स के अनुसार उनकी इस समय 5.8 अरब डॉलर की नेटवर्थ थी।

पोर्टफोलियो में है 31 हजार करोड़ से अधिक के 32 स्टॉक

लेटेस्ट कॉर्पोरेट शेयरहोल्डिंग के अनुसार, राकेश झुनझुनवाला और एसोसिएट्स के पास सार्वजनिक रूप से 32 स्टॉक हैं, जिनका मूल्य 31,904.8  करोड़ रुपये  है। ट्रेंडलाइन के मुताबिक इनमें टाइटन कंपनी,मेट्रो ब्रांड्स, टाटा मोटर्स, स्टार हेल्थ एंड एलाइड इंश्योरेंस कंपनी,  फोर्टिस हेल्थकेयर, टाटा कम्युनिकेशंस जैसे स्टॉक शामिल हैं। उनकी सबसे वैल्यूबल लिस्टेड होल्डिंग घड़ी और ज्वेलरी बनाने वाली कंपनी टाइटन है, जिसका मूल्य करीब 11000 करोड़ रुपये है। 

कंपनी स्टॉक मूल्य (रुपये)
टाइटन कंपनी लिमिटेड 11086.9 करोड़ 
स्टार हेल्थ एंड अलायड इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड 7017.5 करोड़
मेट्रो ब्रांड्स लिमिटेड 3348.8 करोड़
टाटा मोटर्स  1731.1 करोड़
क्रिसिल लिमिटेड 1301.9 करोड़

नोट: जून 2022 तक के आंकड़े

टाटा टी में निवेश ने बदली किस्मत

झुनझुनवाला को निवेश के लिए उनके पिताजी ने पैसे देने से जब मना कर दिया तो उन्होंने भाई के दोस्तों से पैसा उधार लिया और वादा किया कि बैंकों की तुलना में अधिक रिटर्न के साथ पूंजी वापस करेंगे।उन्होंने 1986 में अपना पहला बड़ा मुनाफा टाटा टी के शेयर में निवेश से कमाया। टाटा टी के 5,000 शेयर 43 रुपये प्रति शेयर की कीमत में खरीदे और तीन महीने के भीतर स्टॉक बढ़कर 143 रुपये हो गया। और तीन गुना से अधिक लाभ कमाया। तीन साल में उन्होंने 20-25 लाख रुपये  कमाए। और यही से उनकी किस्मत बदल गई । इसके बाद झुनझुनवाला ने टाइटन, क्रिसिल, सेसा गोवा, प्राज इंडस्ट्रीज, अरबिंदो फार्मा और एनसीसी में निवेश कर बड़ा मुनाफा कमाया।

पत्नी का कंपनी से है खास कनेक्शन

साल 1987 में राकेश झुनझुनवाला ने रेखा झुनझुनवाला से शादी की, जो कि खुद एक स्टॉक मार्केट इन्वेस्टर हैं। साल 2003 में राकेश झुनझुनवाला ने अपनी खुद की स्टॉक ट्रेडिंग फर्म 'रारे' इंटरप्राइजेज शुरू की। रारे इंटरप्राइजेज नाम रखने में उनके पत्नी के नाम का खास कनकेक्शन है। असल में उन्होंने रारे एंटरप्राइजेज में अपने नाम का पहला अक्षर 'रा' से पत्नी के नाम का पहला अक्षर और 'रे' से रखा। राकेश झुनझुनवाला के तीन बच्चे हैं।

आकासा के जरिए लोकॉस्ट एयरलाइन सेक्टर में रखा कदम

अपने उम्र के आखिरी पड़ाव पर राकेश झुनझुनवाला ने सबसे चुनौती पूर्ण सेक्टर में से एक एविएशन सेक्टर में भी कदम रख दिया था। उनकी लो कॉस्ट एयरलाइंस आकासा की पहली उड़ान 7 अगस्त 2022 से शुरू हुई। आकासा की पहली कर्मशियल फ्लाइट मुंबई से अहमदाबाद के लिए रवाना हुई। झुनझुनवाला  ने आकासा में सबसे बड़ा निवेश किया है। कंपनी में 40 फीसदी से ज्यादा की हिस्सेदारी है। आकासा के जरिए झुनझुनवाला की योजना कम कीमत में हवाई सेवा देने की रही है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर