देश में सामान्‍य हालात बहाल करने का वक्‍त, जल्‍द शुरू होंगी और ट्रेनें : पीयूष गोयल

Railway news: रेल मंत्री पीयूष गोयल का कहना है कि देश में अब सामान्‍य स्थिति बहाल करने का समय आ गया है और जल्‍द ही और ट्रेनें शुरू की जाएंगी। इसके अलावे काउंटर से भी अगले 2-3 दिनों में बुकिंग शुरू हो सकेगी।

रेल मंत्री का बड़ा बयान, जल्‍द शुरू की जाएंगी और ट्रेनें, काउंटर से भी शुरू होगी टिकटों की बुकिंग
रेल मंत्री का बड़ा बयान, जल्‍द शुरू की जाएंगी और ट्रेनें, काउंटर से भी शुरू होगी टिकटों की बुकिंग  |  तस्वीर साभार: BCCL

मुख्य बातें

  • रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि जल्‍द ही और ट्रेनें शुरू की जाएंगी
  • उन्‍होंने कहा कि अगले 2-3 दिनों में काउंटर से बुकिंग भी शुरू हो सकेगी
  • गोयल ने जोर देकर कहा कि देश में अब सामान्‍य स्थिति बहाल करने का समय है

नई दिल्‍ली : कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन के बीच लोगों की परेशानियों को देखते हुए रेलवे ने 1 जून से और अधिक ट्रेनें चलाने का फैसला किया है, जिसके लिए ऑनलाइन बुकिंग भी 21 मई से शुरू हो गई है। रेलवे ने बुधवार को ऐसी 200 ट्रेनों की सूची जारी की, जो पहली जून से चलने वाली हैं। इस बीच रेल मंत्री पीयूष गोयल का कहना है कि देश के विभिन्‍न हिस्‍सों से जल्‍द ही और ट्रेनें शुरू की जाएंगी, ताकि धीरे-धीरे सामान्‍य स्थिति बहाल हो सके।

'सामान्‍य स्थिति बहाल करने का समय'

रेल मंत्री ने कहा, 'जल्‍द ही कई अन्‍य ट्रेनों का परिचालन शुरू किए जाने की घोषणा की जाएगी। कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच अब देश में सामान्‍य स्थिति बहाल करने का समय आ गया है।' इस दौरान उन्‍होंने यह भी कहा कि जल्‍द ही टिकटों की काउंटर से भी बुकिंग शुरू हो सकेगी। उन्‍होंने कहा, 'स्टेशनों पर टिकट काउंटर पर भी दो-तीन दिन में टिकट बुकिंग शुरू हो जाएगी। हम अध्ययन कर रहें हैं, दिशा-निर्देश तैयार कर रहे हैं।'

रेल मंत्री ने की सीएम योगी की तारीफ

रेल मंत्री ने लॉकडाउन के कारण देश के विभिन्‍न हिस्‍सों में फंसे मजदूरों, छात्रों एवं पर्यटकों को उनके गृह राज्‍य पहुंचाने के लिए शुरू की गई श्रमिक स्‍पेश्‍ल सेवा के संचालन को लेकर समन्‍वय के संदर्भ में उत्‍तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्‍यनाथ और गुजरात के सीएम विजय रूपाणी की तारीफ की, जबकि पश्चिम बंगाल और झारखंड की सरकारों पर आरोप लगाते हुए उन्‍होंने कहा कि रेलवे को इन राज्‍यों से श्रमिक स्‍पेशल ट्रेनों के संचालन के लिए सहयोग नहीं मिला।

पश्चिम बंगाल, झारखंड की आलोचना

रेल मंत्री के मुताबिक, बुधवार तक 279 श्रमिक स्‍पेशल ट्रेनों ने पांच लाख प्रवासी मजदूरों, छात्रों और पर्यटकों को उनके गृह राज्‍यों तक पहुंचाया, जबकि पश्चिम बंगाल के लिए केवल 27 ट्रेनें ही चल पाई हैं। आठ या नौ मई तक राज्‍य में केवल दो ट्रेनें ही पहुंची थीं। उन्‍होंने यह भी बताया कि देश में 1.7 लाख 'कॉमन सर्विस सेंटर' पर ट्रेनों के लिए टिकट की बुकिंग शुक्रवार से शुरू होगी।

अगली खबर