रेलवायर साथी के नाम से रेलवे स्टेशनों पर CSC का संचालन करेगी रेलटेल, जानें क्या है योजना

बिजनेस
कुंदन सिंह
कुंदन सिंह | Special Correspondent
Updated Jan 06, 2022 | 14:40 IST

जल्द ही लोगों को रेलवे स्टेशन पर कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) द्वारा दी जाने वाली सेवाओं का लाभ मिलेगा। यह सबसे पहले वाराणसी सिटी रेलवे स्टेशन और प्रयागराज सिटी रेलवे स्टेशन पर पायलट आधार पर चालू किया गया है।

RailTel will operate CSC at railway stations in the name of Railwire Saathi
जल्द रेलवे स्टेशन पर मिलेगी आधार, वोटर कार्ड, आदि की सुविधा (Pic: RailTel) 

नई दिल्ली। अब देशभर में रेलवे स्टेशनों पर 'कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) जैसी कियोस्क शुरू होने जा रही हैं। जिससे स्टेशन पर आने जाने वाले लोग  'कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) सेवाओं द्वारा दी जाने वाली सेवाओं में यात्रा टिकट (ट्रेन, हवाई, बस आदि) की बुकिंग, आधार कार्ड, वोटर कार्ड, मोबाइल रिचार्ज, बिजली बिल भुगतान, पैन कार्ड, आयकर, बैंकिंग, बीमा का फायदा उठा सके। 

सबसे पहले यूपी के इन रेलवे स्टेशन पर पायलट आधार पर शुरू होगी सुविधा
इन कियोस्क का नाम 'रेलवायर साथी कियोस्क' रखा गया है।  सबसे पहले, उत्तर प्रदेश के  वाराणसी सिटी रेलवे स्टेशन और प्रयागराज सिटी रेलवे स्टेशन पर रेलवॉयर साथी 'कॉमन सर्विस सेंटर (CSC)  कियोस्क को पायलट आधार पर चालू किया गया है।  इसी तरह के कियोस्क लगभग 200 रेलवे स्टेशनों पर चरणवार संचालित किए जाएंगे। इनमें से 44 दक्षिण मध्य रेलवे में, 20 पूर्वोत्तर सीमा रेलवे में, 13 पूर्व मध्य रेलवे में, 15 पश्चिम रेलवे में, 25 उत्तर रेलवे में, 12 पश्चिम मध्य रेलवे में हैं, 13 पूर्वी तट रेलवे में हैं और 56 पूर्वोत्तर रेलवे में हैं।

रेलटेल ने 6090 स्टेशनों पर उपलब्ध कराया है WiFi
रेलटेल ने 6090 स्टेशनों पर जिनमें से 5000 ग्रामीण क्षेत्रों में हैं सार्वजनिक वाई-फाई ('रेलवायर' ब्रांड नाम  के अंतर्गत) उपलब्ध कराया है जो  विश्व के सबसे बड़े एकीकृत वाई-फाई नेटवर्कों में से एक है। स्टेशनों पर इस मौजूदा अवसंरचना का उपयोग करते हुए, रेलटेल, 'कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) के साथ साझेदारी में, ग्रामीण क्षेत्रों में ब्रॉडबैंड सेवाएं देने की योजना बना रही है जो डिजिटल डिवाइड को पाटने और डिजिटल इंडिया के के विजन को पूरा करने की दिशा में अग्रसर होगी।

यह योजना 'सीएससी ई-गवर्नेंस सर्विसेज इंडिया लिमिटेड' (सीएससी-एसपीवी), इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार के साथ साझेदारी में संचालित की गई है।  इन कियोस्कों का संचालन ग्राम स्तरीय उद्यमियों (VLE) द्वारा किया जाएगा।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर