ASSOCHAM में पीएम बोले- दुनिया को भारतीय अर्थव्यवस्था पर भरोसा, कृषि सुधारों से किसानों को फायदा मिलना शुरू

बिजनेस
रवि वैश्य
Updated Dec 19, 2020 | 12:19 IST

एसोचैम सम्मेलन को पीएम मोदी ने संबोधित करते हुए देश की इकॉनामी से लेकर कृषि सुधार जैसे विषयों पर सरकार का विजन सामने रखा और कहा दुनिया को आज भारतीय अर्थव्यवस्था पर विश्वास है।

PM MODI
पीएम मोदी ने कहा कि दुनिया भारतीय अर्थव्यवस्था पर भरोसा कर रही है 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एसोचैम (ASSOCHAM) में सम्मेलन को  शनिवार को संबोधित करते हुए कहा कि हम लगातार सुधार कर रहे हैं और,जल्द इन सुधारों के अच्छे नतीजे देखने को मिलेंगे, उन्होंने कहा कि छह महीने पहले किये गये कृषि सुधारों से किसानों को लाभ मिलना शुरू हो गया है वहीं अनुसंधान एवं विकास में निश्चित रूप से निवेश बढ़ाये जाने की जरूरत, निजी क्षेत्र को इसमें निवेश बढ़ाने की आवश्यकता है।

पीएम मोदी ने कहा कि दुनिया भारतीय अर्थव्यवस्था पर भरोसा कर रही है; महामारी के दौरान रिकार्ड प्रत्यक्ष विदेशी निवेश, विदेशी पोर्टफोलियो निवेश इसकी पुष्टि करता है वहीं सरकार का आत्मनिर्भर भारत के लिये विनिर्माण पर जोर, क्षेत्र को गति देने के लिये प्रोत्साहन दिये जा रहे हैं और उद्योग जगत लाभांश और कंपनी संचालन की सर्वश्रेष्ठ पद्वतियां अपनाने पर ध्यान दे, आज वो समय है, जब हमें योजना बनाने के साथ कदम भी उठाना है।

उन्होंने आगे  कहा कि हमें हर साल के, हर लक्ष्य को राष्ट्र निर्माण के एक बड़े लक्ष्य के साथ जोड़ना है,उन्होंने उद्योग जगत से देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए हर संभव प्रयास करने का आह्वान भी किया साथ ही उन्होंने कहा कि टाटा समूह ने देश के विकास में अहम भूमिका निभायी है।

पहले लोग सोचते थे कि 'भारत में क्यों’ (निवेश किया जाए)

सरकार के सुधार कार्यक्रमों के बारे में उन्होंने कहा, 'हमारी सरकार के आर्थिक सुधारों ने देश को लेकर वैश्विक धारणा बदली है। पहले लोग सोचते थे कि 'भारत में क्यों’ (निवेश किया जाए) अब सोचते हैं कि 'भारत में क्यों नहीं’ किया जाए।' उन्होंने कहा,'आज वो समय है, जब हमें योजना बनाने के साथ कदम भी उठाना है। हमें हर साल के, हर लक्ष्य को राष्ट्र निर्माण के एक बड़े लक्ष्य के साथ जोड़ना है।'

पीएम मोदी ने कहा कि हमारा चैलेंज सिर्फ आत्मनिर्भरता ही नहीं है बल्कि हम इस लक्ष्य को कितनी जल्दी हासिल करते हैं, ये भी उतना ही महत्वपूर्ण है, आने वाले 27 साल भारत के वैश्विक भूमिका को ही तय नहीं करेंगे, बल्कि ये हम भारतीयों के सपने और निष्ठा दोनों को टेस्ट करेंगे।

भौतिक और डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर पर विशेष फोकस

पीएम ने कहा, '21वीं सदी की शुरुआत में अटल जी ने भारत को हाई-वे से जोड़ने का लक्ष्य रखा था। आज देश में भौतिक और डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर पर विशेष फोकस किया जा रहा है।' उन्हेंने कहा, 'निवेश का एक और पक्ष है, जिसकी चर्चा आवश्यक है। ये है रिसर्च एंड टेवलपमेंट (R&D) पर होने वाला निवेश। भारत में R&D पर निवेश बढ़ाए जाने की जरूरत है।'

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर