Pandora Paper Leak: 300 भारतीयों के नाम, नीरव मोदी की बहन, अनिल अंबानी ने विदेशों में संपत्ति छिपाने के लिए निकाला तोड़

ICIJ की रिपोर्ट में सचिन तेंदुलकर, अनिल अंबानी, नीरव मोदी की बहन, किरण मजूमदार शाह के पति की संपत्तियों के बारे में पर्दा उठाया गया है। दावा है कि इन लोगों ने अपनी संपत्तियां बचाने के लिए कानून का तोड़ निकाला।

pandora paper leak icij releases 300 people of india on financial secrecy and tax evasion
'पनामा पेपर्स' के बाद आईसीआईजे का एक और बड़ा खुलासा। -प्रतीकात्मक तस्वीर (iStock) 

मुख्य बातें

  • पनामा पेपर्स के बाद आईसीजे ने काले धन पर पर एक और बड़ा खुलासा किया है
  • पंडोरा पेपर्स में दिग्गज हस्तियों के गुप्त कारोबार के बारे में सनसनीखेज खुलासे किए
  • आईसीआईजे की इस रिपोर्ट में 300 से ज्यादा भारतीय नाम, आने वाले दिनों में होंगे और खुलासे

नई दिल्ली : गुप्त वित्तीय लेन-देन एवं कारोबार पर 'पनामा पेपर्स' के बाद 'पंडोरा पेपर्स' के नाम से एक और बड़ा खुलासा हुआ है। 'इंटरनेशनल कंसोर्टियम ऑफ इन्वेस्टिगेटिव जर्नलिस्ट्स' (ICIJ) ने अपनी एक साल की खोजी पत्रकारिता एवं दस्तावेजों की जांच-पड़ताल के बाद दुनिया भर की दिग्गज हस्तियों के गुप्त कारोबार के बारे में सनसनीखेज खुलासे किए हैं।  ICIJ की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि पनामा पेपर्स खुलासे के बाद जांच एजेंसियों के दायरे में आए लोगों ने कानून की खामियों का फायदा उठाते हुए अपने कारोबार को बचाने का तोड़ निकालना शुरू कर दिया। 

अनिल अंबानी, नीरव मोदी की बहन का नाम

इस रिपोर्ट में विभिन्न क्षेत्रों से जुड़े भारतीय हस्तियों के नामों का भी खुलासा किया गया है। आईसीआईजे की इस रिपोर्ट में सचिन तेंदुलकर, अनिल अंबानी, नीरव मोदी की बहन, किरण मजूमदार शाह के पति की संपत्तियों एवं कारोबार के बारे में पर्दा उठाया गया है। भारतीय सहित दुनिया भर की जिन हस्तियों के वित्तीय लेन-देन एवं कारोबार पर आईसीआईजे की रिपोर्ट में जो दावा एवं खुलासा किया गया है कि 'टाइम्म नाउ हिंदी' स्वतंत्र रूप से उसकी पुष्टि नहीं करता है।  

1.19 करोड़ दस्तावेजों को खंगाला गया

आईसीआईजे ने अपने इस खुलासे के लिए दुनियाभर के 1.19 करोड़ दस्तावेजों को खंगाला है। ICIJ की इस जांच में 117 देशों के 600 रिपोर्टर शामिल रहे हैं। समाचार पत्र इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक ब्रिटेन की कोर्ट में खुद को दिवालिया बताने वाले अनिल अंबानी की विदेशों में 18 कंपनियां हैं। जबकि नीरव मोदी की बहन के बारे में दावा किया गया है कि नीरव के भागने के एक महीने के बाद ही उसकी बहन ने एक ट्रस्ट बनाया। रिपोर्ट के अनुसार किरण मजूदमदार शाह के पति ने इनसाइडर ट्रेडिंग के आरोप में प्रतिबंधित किए जा चुके एक व्यक्ति की मदद से एक ट्रस्ट की शुरुआत की। आईसीआईजे की इस रिपोर्ट में 300 से ज्यादा भारतीय नाम हैं। इनमें करीब 60 प्रमुख व्यक्तियों एवं उनकी कंपनियों की जांचकर साक्ष्य जुटाया गया है। आईसीआईजे आने वाले दिनों में इनके बारे में खुलासा करने वाला है। 

अपनी संपत्ति बेचने में जुट गए तेंदुलकर

रिपोर्ट के अनुसार क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के बारे में कहा गया है कि पनामा पेपर्स के खुलासे के मात्र तीन महीने बाद उन्होंने ब्रिटिश वर्जिन आइलैंड में अपनी संपत्ति बेचने की पहल की। तेंदुलकर के अलावा ऐसी कई भारतीय हस्तियां एवं एनआरआई हैं जिन्होंने 2016 के डाटा लीक के बाद विदेशों में स्थित अपनी संपत्तियों में बदलाव या उसे नए सिरे शुरू किया। रिपोर्ट में कहा गया है कि आर्थिक अपराध के आरोपी एवं जांच का सामना करने वाले लोगों ने सामोआ, बेलिस अथवा क्रूक आइलैंड जैसे टैक्स हैवन ठिकानों पर अपनी कंपनियां बनाई हैं।  

सेलिब्रिटियों के नाम पर कंपनियां मिली कंपनियां

ICIJ की ओर से की तैयार किए गए दस्तावेज में 100 धनकुबेरों के अलावा, रूस, इंडिया, पाकिस्तान, यूके, मैक्सिको के सेलिब्रिटियों के नाम पर कंपनियां मिली हैं। पंडोरा पेपर्स, किंग ऑफ जॉर्डन, यूक्रेन, केन्या के राष्ट्रपतियों, चेक रिपब्लिक के प्रधानमंत्री और पूर्व ब्रिटिश प्रधानमंत्री टोनी ब्लेयर से संबंधित जानकारी को उजागर करता है। रिपोर्ट के मुताबिक अगले एक दो दिन में पेंडोर पेपर्स लीक की विस्तृत जानकारी सामने आने की उम्मीद है। 

पाकिस्तान के 700 से अधिक लोगों के नाम

पंडोरा खुलासे में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के करीबी और कुछ मंत्रियों सहित 700 से अधिक लोगों के नाम सामने आए हैं। टेलीविजन समाचार चैनल जियो न्यूज की एक रिपोर्ट के मुताबिक आईसीआईजे के मुताबिक वित्त मंत्री शौकत तारिन, जल संसाधन मंत्री मूनिस इलाही, सांसद फैसल वावड़ा, उद्योग और उत्पादन मंत्री खुसरो बख्तियार के परिवार समेत अन्य लोगों के विदेशी कंपनियों से लेन-देन के संबंध थे।

(Times Now Hindi.Com ने इस रिपोर्ट को सत्यापित नहीं किया है और इसकी प्रामाणिकता का दावा नहीं करता।)

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर