e-Shram Portal: दो महीनों में 5 करोड़ से ज्यादा रजिस्ट्रेशन, जानिए क्या हैं इसके फायदे

e-Shram Portal: ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकृत कामगारों में से 50.94 फीसदी लाभार्थी महिलाएं और 49.55 फीसदी लाभार्थी पुरुष हैं।

e-Shram Portal Registration
e-Shram Portal: दो महीनों में 5 करोड़ से ज्यादा रजिस्ट्रेशन  |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • e-Shram Portal पर दो महीनों में 5.72 करोड़ श्रमिकों ने रजिस्ट्रेशन कराया है।
  • ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकृत कर्मचारी की दुर्घटना से मृत्यु होने पर या स्थायी विकलांगता पर 2 लाख रुपये का लाभ प्राप्त मिलता है।
  • आंशिक विकलांगता पर कर्मचारी 1 लाख रुपये के लिए पात्र होते हैं।

e-Shram Portal: ई-श्रम पोर्टल पर दो महीनों में असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के रजिस्ट्रेशन का आंकड़ा 5 करोड़ के पार चला गया है। आंकड़ों के अनुसार, मंगलवार को श्रम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन 5.72 करोड़ पर पहुंच गया है। पंजीकृत कामगारों में से 50.94 फीसदी लाभार्थी महिलाएं हैं और 49.55 फीसदी लाभार्थी पुरुष हैं। पंजीकृत श्रमिकों में से लगभग 65.62 फीसदी 16 से 40 वर्ष के आयु वर्ग के हैं और 34.38 फीसदी 40 वर्ष और उससे अधिक आयु वर्ग के हैं।

मालूम हो कि रोजगार सृजन में कृषि और निर्माण क्षेत्रों की हिस्सेदारी को देखते हुए सर्वाधिक संख्या में इन्हीं क्षेत्रों के कामगारों ने पंजीकरण कराया है। प्रवासी श्रमिकों सहित सभी असंगठित श्रमिक अब ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण के माध्यम से विभिन्न सामाजिक सुरक्षा और रोजगार आधारित योजनाओं का लाभ ले सकते हैं।

सबसे ज्यादा इन राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों के श्रमिकों ने कराया रजिस्ट्रेशन
ताजा आंकड़ों के अनुसार, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, उत्तर प्रदेश, बिहार और मध्यप्रदेश राज्य सबसे अधिक पंजीकरण के साथ इस पहल में सबसे आगे हैं। हालांकि, इस संख्या को परिप्रेक्ष्य में रखा जाना चाहिए, क्योंकि छोटे राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों (UT) में श्रमिकों की संख्या कम है। साथ ही, इस अभियान को मेघालय, मणिपुर, गोवा, चंडीगढ़, हिमाचल प्रदेश और त्रिपुरा जैसे राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में गति प्राप्त करने की आवश्यकता है।

क्या है ई-श्रम पोर्टल?
केंद्र सरकार इस पोर्टल के जरिए असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का नेशनल डेटाबेस तैयार कर रही है। इसके तहत 12 अंकों का  नंबर जारी किया जाता है। इस डाटाबेस के जरिए ही सरकार सोशल सिक्योरिटी योजनाओं (Social Security Schemes) को श्रमिकों को दरवाजे पर तक कम खर्च में पहुंचाती है। 

कौन करा सकता है रजिस्ट्रेशन?
अगर आपने अब तक ई-श्रम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन नहीं कराया है और पंजीकरण करने का विचार कर रहे हैं तो जान लें कि इसका लाभ सिर्फ मजदूर, प्रवासी मजदूर, रेहड़ी-पटरी वाले, घरेलू कामगार, कंस्ट्रक्शन वर्कर, खेतिहर मजदूर और असंगठित क्षेत्र के दूसरे श्रमिक ही उठा सकते हैं। 

कैसे होगा फायदा?
यदि ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकृत कोई कर्मचारी दुर्घटना का शिकार होता है, तो वह मृत्यु या स्थायी विकलांगता पर 2 लाख रुपये और आंशिक विकलांगता पर 1 लाख रुपये के लिए पात्र होगा।

कहां से कराएं रजिस्ट्रेशन?
ऑनलाइन पंजीकरण के लिए आप ई-श्रम के मोबाइल एप्लिकेशन या वेबसाइट का उपयोग कर सकते हैं। आप इस पोर्टल पर पंजीकरण कराने के लिए सामान्य सेवा केंद्रों (CSC), राज्य सेवा केंद्र, श्रम सुविधा केंद्रों और डाक विभाग के डिजिटल सेवा केंद्रों के चुनिंदा डाकघरों में भी जा सकते हैं। पंजीकरण के बाद, असंगठित श्रमिकों को एक यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (UAN) के साथ एक डिजिटल ई-श्रम कार्ड मिलेगा। यह यूनिवर्सल अकाउंट नंबर पूरे देश में स्वीकार्य होगा और सामाजिक सुरक्षा लाभ प्राप्त करने के लिए उन्हें विभिन्न स्थानों पर पंजीकरण करने की आवश्यकता नहीं होगी।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर