Mumbai Local: आज से मुंबई में चलेंगी 350 लोकल ट्रेनें, केवल इन लोगों को होगी यात्रा की अनुमति

बिजनेस
किशोर जोशी
Updated Jul 01, 2020 | 07:37 IST

Mumbai Local News: रेलवे ने आज से मुंबई में 350 और लोकल ट्रेनें चलाने का फैसला लिया है। केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी।

Mumbai local Railways to run 350 trains from today 1 July says Piyush Goyal
Mumbai Local: आज से मुंबई में चलेंगी 350 लोकल ट्रेनें 

मुख्य बातें

  • मुंबई में आज से पटरियों पर दौड़ेंगी 350 और लोकल ट्रेनें
  • रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर दी जानकारी, आम लोगों के लिए नहीं होगी यह सेवा
  • ये सेवा जरूरी सेवाओं से जुड़े सरकारी कर्मचारियों के लिए होगी, आम लोगों को करना होगा इंतजार

मुंबई: कोरोना संकट की वजह से जारी लॉकडाउन और फिर अनलॉक 1 की वजह से देश में कई तरह की सेवाओं पर अभी भी रोक लगी है लेकिन इन सबके बीच भारतीय रेलवे की तरफ से यात्रियों को राहत देने का निरंतर प्रयास किया जा रहा है। इस राहत देने के प्रयास में मुंबई में बुधवार  यानि आज से 350 लोकल ट्रेनों की आवाजाही शुरू हो रही है। खुद केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने इसकी जानकारी ट्वीट कर दी है।

केवल इन्हीं को इजाजत

रेल मंत्री ने ट्वीट करते हुए बताया, 'जैसा कि राज्य सरकार द्वारा चिह्नित किया गया है कि उसके मुताबिक जरूरी सेवाओं से जुड़े लोग जैसै- केंद्र सरकार के कर्मचारी, आयकर, जीएसटी, सीमा शुल्क, डाक, राष्ट्रीयकृत बैंक, एमबीपीटी, न्यायपालिका, रक्षा और राजभवन के कर्मचारियों को इनमें यात्रा करने की अनुमति होगी। सामान्य यात्रियों के लिए अभी तक कोई सेवा शुरू नहीं की है।'

सेंट्रल वेस्टर्न रेलवे का बयान

 सेंट्रल वेस्टर्न रेलवे द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक, फिलहाल कुल 200 रेल सेवाएं संचालित हो रही हैं जिसमें से 130 सेवाएं सीएएमटी और कसारा/करजत/कल्याण/डोंबिवली/ठाणे की मेन लाइन में चल रही है जबकि 70 सेवाओं का संचालन हार्बर लाइन पर सीएसएमटी और पनेवल के बीच किया जा रहा है। 1 जुलाई यानि आज से पहले की ट्रेन सेवाओं में 150 ट्रेनों को और को जोड़ा जाएगा। जरूरत के मुताबिक इनकी संख्या में और इजाफा हो सकता है। ट्रेन में सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पूरा ध्यान रखा जाएगा।

कोरोना की वजह से प्रभावित हुई थी रेल सेवा

 आपको बता दें कि कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण की वजह से रेल सेवाओं को पूरी तरह स्थगित कर दिया गया था हालांकि जरूरी सेवाओं की माल ढुलाई वाली सेवाएं जारी थीं।  यात्री रेल सेवा को बंद कर दिया गया था। बाद में प्रवासी मजदूरों औऱ लोगों की आवाजाही के लिए श्रमिक ट्रेनें शुरू की गई और लाखों लोगों को उनके गंतव्यों तक पहुंचाया गया। फिलहाल रेलवे महज 230 विशेष रेलगाड़ियों का संचालन कर रहा है जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पूरा ध्यान रखा जा रहा है। इतना ही नहीं रेलवे के कई कोचों को आइसोलेशन कोच में तब्दील किया गया है।

अगली खबर