मुकेश अंबानी फिर बने एशिया के सबसे अमीर आदमी, चीन के इस अरबपति को पीछे छोड़ा, जानिए कितनी है संपत्ति

Who is Asia's richest man : रिलायंस इंडस्ट्रीज-फेसबुक के सौदे के बाद मुकेश अंबानी फिर से एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति बन गए हैं। चीन के इस अरबपति को पीछे छोड़ दिया।

Mukesh Ambani became Asia's richest man again, overtakes China billionaire Jack Ma
मुकेश अंबानी फिर बने एशिया के सबसे अमीर आदमी 

मुख्य बातें

  • चीन के अरबपति जैक मा को पछाड़कर मुकेश अंबानी फिर से एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति बन गए हैं
  • अंबानी की संपत्ति करीब 4.7 बिलियन डॉलर से बढ़कर 49.2 बिलियन डॉलर हो गई है
  • फेसबुक से डील के बाद बुधवार को रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में 10 प्रतिशत का इजाफा हुआ था

नई दिल्ली: रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर मुकेश अंबानी फिर से एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति बन गए हैं। मार्क जुकरबर्ग के फेसबुक कंपनी के साथ हालिया सौदे के कारण सोशल मीडिया मुगल ने रिलायंस इंडस्ट्रीज के जियो प्लेटफॉर्म्स यूनिट में 9.99 प्रतिशत शेयर खरीदने के लिए 5.7 बिलियन डॉलर यानी 43,574 करोड़ रुपए निवेश का करार किया। ब्लूमबर्ग बिलियनेयर्स इंडेक्स के अनुसार इस करार के बाद भारतीय अरबपति मुकेश अंबानी एशिया के सबसे अमीर आदमी हो गए हैं। उन्होंने ई-कॉमर्स चीफ अलीबाबा ग्रुप के संस्थापक जैक मा को पछाड़ दिया है। फेसबुक से डील के बाद बुधवार (23 अप्रैल) को रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में 10 प्रतिशत का इजाफा हुआ था। अंबानी की संपत्ति करीब 4.7 बिलियन डॉलर से बढ़कर 49.2 बिलियन डॉलर हो गई है। इस बढ़त से अंबानी की कुल संपत्ति जैक मा से 3.2 बिलियन डॉलर अधिक हो गई। इस चीनी अरबपति की वर्तमान में कुल संपत्ति 46.0 बिलियन डॉलर है। दुनिया में  अंबानी 17 वें सबसे अमीर आदमी हैं। जैक मा से दो रैंक आगे हैं। मा  19 वें स्थान पर हैं।

मा ने अंबानी को मार्च में पीछे छोड़ा था
रिलायंस इंडस्ट्रीज (आरआईएल) के शेयरों ने बुधवार को 10 फीसदी की छलांग लगाई क्योंकि यह बीएसई पर 1,363.35 रुपए पर बंद हुआ। बुधवार के उछाल से पहले, इस वर्ष अंबानी की संपत्ति अरबपतियों के सूचकांक पर 14 बिलियन डॉलर की गिरावट दर्ज हुई थी। एशिया में किसी के लिए डॉलर के संदर्भ में सबसे बड़ी गिरावट थी। मार्च की शुरुआत में, कच्चे तेल की कीमतों में ऐतिहासिक गिरावट और भारतीय शेयर बाजारों में बड़े पैमाने पर करेंक्शन के चलते मा ने अंबानी को पीछे छोड़ते हुए एशिया का सबसे अमीर व्यक्ति बना गया था।

फेसबुक से डील के बाद बोले मुकेश अंबानी
अंबानी ने 43,574 करोड़ रुपए के रियालंस जियो-फेसबुक सौदे की घोषणा के बाद कहा कि जियो के विश्व स्तरीय डिजिटल कनेक्टिविटी प्लेटफॉर्म और फेसबुक के भारतीय लोगों के साथ गहरे रिश्तों की संयुक्त शक्ति से आप सभी को इनोवेटिव समाधान की पेशकश की जाएगी। उन्होंने कहा कि निकट भविष्य में जियो के डिजिटल वाणिज्य प्लेटफॉर्म जियोमॉर्ट और व्हाट्सएप मिलकर करीब तीन करोड़ किराना दुकानदारों को अपने पड़ोस के ग्राहकों के साथ डिजिटल लेनदेन करने में सक्षम बनाएंगे। उन्होंने समूह के सोशल मीडिया हैंडल पर पोस्ट किए गए एक छोटे वीडियो संदेश में कहा कि रिलायंस और जियो में हम सभी फेसबुक का स्वागत करते हुए बहुत खुश हैं।

सामान की आपूर्ति में व्हाट्सएप का होगा इस्तेमाल 
साथ ही उन्होंने कहा कि दोनों कंपनियां पड़ोस के किराना स्टोर से उपभोक्ताओं को सामान की आपूर्ति के लिए व्हाट्सएप के इस्तेमाल को बढ़ावा देंगी और उसके बाद शिक्षा तथा स्वास्थ्य क्षेत्र में सहयोग का विस्तार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि खासतौर से व्हाट्सएप भारत की सभी 23 आधिकारिक भाषाओं में लोगों की दैनिक शब्दावली का हिस्सा बन चुकी है। व्हाट्सएप केवल एक डिजिटल एप्लीकेशन नहीं है, बल्कि यह आपका और हम सबका प्यारा दोस्त बन गया है। एक दोस्त जो परिवारों, दोस्तों, व्यवसायों, जानकारी चाहने वालों और देने वालों को साथ लाता है।

मार्च 2021 तक कर्ज-मुक्त होने की उम्मीद
कई विश्लेषकों का मानना है कि फेसबुक के साथ सौदा ऑयल-टू-टेलीकॉम ग्रुप को मार्च 2021 तक शुद्ध ऋण-मुक्त बनने में मदद करेगा। यहां यह गौर हो कि जियो प्लेटफार्मों में 43,574 करोड़ रुपए का सोशल मीडिया दिग्गज भारत में सबसे बड़ा प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) मायनोरिटी निवेश है। अगस्त 2019 में, अंबानी ने वार्षिक आम बैठक में कहा था कि कंपनी को मार्च 2021 तक शुद्ध ऋण-मुक्त होने की उम्मीद है। आरआईएल को 2019 की दिसंबर तिमाही के दौरान 1.53 लाख करोड़ रुपए का शुद्ध ऋण था।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर