Money Mantra : अधिक उम्र तक नौकरी करना नहीं चाहते हैं? जल्द शुरू करें ये प्लानिंग, नहीं होगी पैसों की कमी

अधिकांश व्यक्तियों में बढ़ती उम्र के साथ काम करने की क्षमता कम होती जाती है। इसलिए वे जल्द रिटायर होना चाहते हैं। रिटायरमेंट के बाद की लाइफ की बेहतर हो इसकी प्लानिंग कैसे करें, यहां विस्तार से जानिए।

Money Mantra : Don't want to work for a long time? Start this financial planning soon
जल्द रिटायरमेंट की प्लानिंग करने के तरीके 

मुख्य बातें

  • अब आप 9 से 5 की नौकरी करना नहीं चाहते हैं?
  • आप अपना जीवन यापन बेहतर बनाए रखने के लिए जल्द प्लानिंग शुरू कर दें।
  • समय से पहले रिटायरमेंट के लिए क्या करें, नीचे आप विस्तार से जान सकते हैं।

अगर आपकी उम्र 30, 40, 50 के आसपास है, तो समय से पहले रिटायर होने का विचार जरूर आपके मन में आया होगा। लेकिन आपने इसको यह सोच कर नजरअंदाज कर दिया होगा कि यह एक शानदार लेकिन मुश्किल प्रस्ताव है। लेकिन समय से पहले रिटायरमेंट से जुड़े आपके संदेहों का समाधान किया जा सकता है अगर आप इसकी प्लानिंग करना शुरू करते हैं और वित्तीय रणनीति तैयार करते हैं। वित्तीय प्लानिंग, समय से पहले रिटायरमेंट में बहुत अधिक मायने रखती है। इसके अलावा, इसके लिए पूरी तरह से अनुशासन, धैर्य, स्पष्ट सोच और आपके वित्तीय लक्ष्यों जैसे घर खरीदना को पूरा करने के लिए लगातार फोकस बनाए रखने की जरुरत होती है।

रिटायरमेंट के लिए आपकी तैयारी उसी समय शुरू हो जानी चाहिए जब आप यह फैसला करते हैं कि आपको 9 से 5 बजे वाला जीवन नहीं जीना है। इस फैसले के साथ, आपको उन योजनाओं पर काम करना शुरू कर देना चाहिए जिनके आधार पर आप अपना जीवन यापन करना चाहते हैं। इस बारे में आपकी सहायता के लिए, यहां पर समय से पहले रिटायर होने के बारे में कुछ मार्गदर्शन प्रदान किया गया है।

समय रहते शुरुआत करें

समय से पहले नौकरी छोड़ने के लिए, 15-20 वर्ष की अनुशासित बचत और निवेश काफी अच्छी बात साबित होती है। यदि आपकी उम्र 30 वर्ष की हो चुकी है, तो आप समय से पहले रिटायरमेंट के लिए एक बहुत ही आरामदायक स्थिति में हैं। लेकिन इसमें जितनी देरी की जाएगी, उतना ही समय से पहले रिटायरमेंट के लक्ष्य को प्राप्त करना मुश्किल होता चला जाएगा। इसलिए, समय रहते शुरुआत करें।

अधिक बचत और अधिक निवेश करें

आमतौर पर, इस बात की सलाह दी जाती है कि आपको अपनी टेक-होम आय की 20% बचत करनी चाहिए। लेकिन अगर आप समय से पहले रिटायर होना चाहते हैं, तो इसे बढ़ा कर 33% करने का लक्ष्य तय करें। जितनी अधिक आप बचत करेंगे, आपके लिए उतना ही बेहतर होगा। स्मार्ट बजटिंग बहुत मायने रखती है। अपने खर्चों को नियंत्रित रखें और उनमें बहुत ही अधिक कटौती करें। न केवल बचत करना महत्वपूर्ण है बल्कि उच्च, इंफ्लेशन से अधिक रिटर्न पाने के लिए आक्रामक रूप से निवेश करना भी उतना ही जरूरी है। अपनी बचतों का निवेश करें और उन्हें बैंकों में डिपोजिट के रूप में जमा न रखें।

मार्केट में निवेश करें

जब आपका लक्ष्य समय से पहले रिटायर होने का हो, तो एश्योर्ड रिटर्न के लिए निवेश करने से आप अपनी मंजिल के बहुत नजदीक नहीं पहुंच पाएंगे। आपको एक आक्रामक निवेश योजना की जरूरत है जिससे आपको अपनी वैल्थ को बढ़ाने के लिए उच्च रिटर्न की प्राप्ति होती है। इसलिए, आपको उच्च रिटर्न पाने के लिए सिक्योरिटीज मार्केट में निवेश करना होगा। आगे बढ़ने के लिए ईक्विटी निवेश सबसे अच्छा तरीका है। आपको यह तय करना होगा कि आपकी बचत के एक बड़े हिस्से को ईक्विटीज के रूप में मार्केट-लिंक्ड निवेश में डायवर्ट करना होगा। 15-20 वर्ष की अवधि पर विचार करते हुए, आपको अच्छा रिटर्न मिल सकता है जिसकी आपको समय से पहले रिटायरमेंट के लिए जरूरत है। आप प्रमाणित ट्रैक रिकार्ड वाले शीर्ष-रेटेड ईक्विटी म्यूचल फंड्स में भी निवेश कर सकते हैं। अगर आपको स्टॉक मार्केट की समझ है, तो आप सीधे ही स्टॉक में निवेश कर सकते हैं जिसमें आपको अपने पोर्टफोलियो में लार्ज-कैप और साथ ही मिड तथा स्माल-कैप वाली कंपनियों के शेयरों को एक अच्छा मिक्स शामिल करना होगा। आप इसके लिए एक अच्छे वित्तीय सलाहकार की सहायता ले सकते हैं। अपने निवेश पर पुनर्विचार करना न भूलें ताकि आप यह देख सकें कि उन पर मार्केट में उतार-चढ़ाव और औसत इंफ्लेशन रेट का क्या असर हो रहा है।

अपने निवेश को बढ़ाते रहें

हर गुजरते साल के साथ, जैसे-जैसे आपका वेतन बढ़ता है, तो ईक्विटी-लिंक्ड फंड्स में अपने निवेश में 5-10 प्रतिशत या अधिक की अपनी वित्तीय सुविधा के अनुसार बढ़ोतरी करते रहें। याद रखें, आने वाले वर्षों में बढ़े हुए निवेश का कम्पांउडिंग प्रभाव बहुत ही शानदार साबित होगा।

30 वर्ष की उम्र के आसपास महत्वपूर्ण बीमा निर्णय लें

अपनी 30 वर्ष की आयु में, एक अच्छे परिवार स्वास्थ्य बीमा योजना पर विचार करना पूरी तरह से सही कदम साबित होता है जिसमें आपको, आपके पति/पत्नी और बच्चों को कवरेज मिलता है। अगर आप शहरी क्षेत्रों में रहते हैं तो कम से कम 10 लाख रुपये के कवरेज के साथ शुरुआत करें। इससे पहले की आपको या आपके पति/पत्नी को स्वास्थ्य समस्याओं को झेलना पड़े, इस कवरेज को आपको प्राप्त कर लेना चाहिए। इस कवरेज को प्राप्त करने के लिए उम्र का यह सबसे अच्छा पड़ाव है। युवावस्था में स्वास्थ्य बीमा खरीदने से, आपको अपने प्रीमियम को कम रखने में मदद मिलेगी, जिससे आपको अपनी रिटायरमेंट के समय सहायता मिलेगी। इस बात को याद रखें कि काम से रिटायर होने के मायने यह भी हैं कि आपको संबंधित लाभ अब नहीं मिलेंगे। आमतौर पर नौकरी करने वाले व्यक्तियों को उनके एम्प्लायर द्वारा समूह बीमा पॉलिसी का कवरेज प्रदान किया जाता है। स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी से यह निश्चित किया जा सकेगा कि स्वास्थ्य से जुड़े किसी बड़े खर्चे का असर आपकी जेब पर नहीं पड़ेगा, जब आप नौकरी छोड़ देते हैं।

इस अवस्था में, आप अपने आश्रितों की वित्तीय सुरक्षा के लिए टर्म इंश्योरेंस प्लान खरीदने पर भी विचार कर सकते हैं। 35-40 वर्ष की लंबी अवधि का टर्म प्लान चुनें जिससे आपको 75 वर्ष की आयु तक का बीमा कवरेज प्राप्त होगा। पर्याप्त कवरेज लें- आमतौर पर यह आपकी मौजूदा वार्षिक आय का 10-20 गुणा होना चाहिए। टर्म प्लान से आपकी असमय मृत्यु के कारण आप अपने परिवार के वित्तीय कल्याण के बारे में तनाव-मुक्त रह पाएंगे।

अपने मौजूदा कर्जों की अदायगी करें

यह समझदारी की बात है कि आपके रिटायरमेंट के बाद आप पर कोई कर्जा नहीं होना चाहिए। आपको यह तय करना चाहिए कि आप पर कोई कर्ज नहीं होना चाहिए जैसे कि होम लोन रिपेमेंट, कार लोन रिपेमेंट और किसी भी तरह का कोई दूसरी उधारी नहीं होनी चाहिए। आपके रिटायरमेंट से पहले ऐसा कोई कर्जा नहीं होना चाहिए। इसलिए, जब आप रिटायरमेंट की योजना बनाते हैं, तो पैसे से जुड़ी रणनीति भी तैयार करें जिससे आपको अपने मौजूदा कर्जों को उतारने में मदद मिलती है। ऐसा करते समय, सबसे पहले आपको उच्च ब्याज दरों और फिर निम्न ब्याज दरों वाले कर्जे उतारने चाहिए।

निष्कर्ष

समय से पहले रिटायर होने का अर्थ वित्तीय स्वतंत्रता प्राप्त करना है। समय से पहले रिटायरमेंट की सोच नियमित जॉब से रिटायर होने के लिए आक्रामक रूप से बचत और निवेश करने पर आधारित है ताकि आप बाद में आप अपने शौक पूरा कर सकें। इसलिए, जब आप रिटायर होने का फैसला कर लेते हैं, तो आपके पास रिटायरमेंट के बाद के अपने जीवन यापन के लिए पर्याप्त धनराशि की व्यवस्था हो जानी चाहिए। समय से पहले रिटायरमेंट के लिए कोई एक योजना सभी के लिए उपयुक्त नहीं हो सकती है। इसलिए, ऐसी योजना पर काम करें जो आपके लिए सही साबित होगी। साथ ही, एक आपातकालीन फंड को भी बनाने की कोशिश करें ताकि आने वाले वर्षों में किसी अनजानी वित्तीय चुनौतियों का सामना किया जा सके।

(इस लेख के लेखक, BankBazaar.com के CEO आदिल शेट्टी हैं)
(डिस्क्लेमर: यह जानकारी एक्सपर्ट की रिपोर्ट के आधार पर दी जा रही है। बाजार जोखिमों के अधीन होते हैं, इसलिए निवेश के पहले अपने स्तर पर सलाह लें।) ( ये लेख सिर्फ जानकारी के उद्देश्य से लिखा गया है। इसको निवेश से जुड़ी, वित्तीय या दूसरी सलाह न माना जाए)

 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर