Credit- Debit Card: 1 जनवरी को होने वाले बदलाव से पहले ही जानें डेबिट और क्रेडिट कार्ड से जुड़ी खास बातें

1 जनवरी से डेबिट और क्रेडिट कार्ड के इस्तेमाल संबंधित नियमों मे बड़े बदलाव होने जा रहे हैं। ऐसे में हम आपको यहां पर पूरी जानकारी दे रहे हैं।

Credit- Debit Card: 1 जनवरी को होने वाले बदलाव से पहले ही जानें डेबिट और क्रेडिट कार्ड से जुड़ी खास बातें
1 जनवरी से डेबिट और क्रेडिट कार्ड से संबंधित नियमों में होने जा रहा है बदलाव 

मुख्य बातें

  • 1 जनवरी से पांच हजार से अधिक के पेमेंट पर पिन या ओटीपी की जरूरत
  • ग्राहक पांच हजार तक का पेमेंट बिना पिन के कर सकते हैं।
  • कांटैक्लेस कार्ड के इस्तेमाल पर सरकार को जोर

नई दिल्ली। जैसे जैसे हम तकनीकी तौर पर एडवांस हो रहे हैं उससे संबंधित मुश्किलों का भी सामना करना पड़ता है। वाईफाई बेस्ड कार्ड के बारे में बताया जाता है कि अगर आपने सावधानी नहीं बरती तो आप के बैंक बैलेंस पर डाका पड़ सकता है। ग्राहकों की सहुलियत के लिए कॉन्टैक्टलेस कार्ड पेमेंट की सुविधा दी गई है और अब इसमें बड़ा बदलाव किया गया है जो 1 जनवरी 2021 से लागू होगा। नए बदलाव में  कॉन्टैक्टलेस डेबिट और क्रेडिट कार्ड्स से अधिकतम 5 हजार रुपये तक का भुगतान बिना किसी पिन के आसानी से किया जा सकेगा। अभी तक कॉन्टैक्टलेस डेबिट और क्रेडिट कार्ड्स से केवल अधितम 2 हजार रुपये का भुगतान बिना पिन के किया जा सकता था।

सभी डेबिट और क्रेडिट कार्ड में नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड फीचर
इस कार्ड को नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकेगा। यह कार्ड एक स्मार्ट कार्ड की तरह होता है। अब देश के सभी बैंक RuPay जो भी नए डेबिट और क्रेडिट कार्ड जारी करेंगे उनमे नेशनल कॉमन मोबेलिटी कार्ड फीचर होगा। ये कार्ड एक तरह से वॉलेट की तरह ही काम करेंगे। इस टेक्नॉलजी की मदद से कार्ड होल्डर को ट्रांजैक्शन के लिए स्वाइप करने की जरूरत नहीं होती है।

कांटैक्टलेस कार्ड इस तरह करता है काम
पॉइंट ऑफ सेल  मशीन से कार्ड को सटाने पर पेमेंट हो जाता है। कॉन्टैक्टलेस क्रेडिट कार्ड में दो तकनीकों का इस्तेमाल किया गया है जिसे नियर फील्ड कम्युनिकेशन’ और ‘रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन यानी आरएफआईडी कहते हैं।  जब इस तरह के कार्ड को इस तकनीक से लैस कार्ड मशीन के पास लाया जाता है तो पेमेंट खुद ब खुद हो जाता है।

मशीन से करीब 5 सेमी की रेज में  कार्ड को रखा जाए तो पेमेंट हो सकता है। कार्ड को किसी मशीन में डालने या उसे स्वाइप करने की जरूरत नहीं पड़ती न ही पिन या ओटीपी डालने की जरूरत होती है। कॉन्टैक्टलेस पेमेंट की अधिकतम सीमा 2,000 रुपए होती है। ग्राहक एक दिन में पांच कॉन्टैक्टलेस ट्रांजैक्शन किए जा सकते हैं। 2 हजार से अधिक की राशि के पेमेंट के लिए पिन डालने या ओटीपी की जरूरत होती है। 

एक जनवरी के बाद पांच हजार से अधिक पेमेंट पर पिन की जरूरत
इन सभी कार्ड्स पर एक खास निशान बना होता है  जिन पेमेंट मशीनों पर इनका इस्तेमाल होता है वहां भी एक खास चिह्न () बना होता है। मशीन पर करीब 4 सेंटीमीटर की दूरी पर कार्ड रखना या दिखाना होगा और आपके खाते से पैसे कट जाएंगे. कार्ड को स्वाइप या डिप करने की जरूरत नहीं होगी और न ही पिन एंटर करना होगा।ज्यादा पेमेंट के लिए पिन और OTP जरूरी- 1 जनवरी के बाद 5 हजार रुपये से ज्यादा की पेमेंट के लिए ही पिन या ओटीपी लगेगा।  यानी आपका कार्ड किसी और के हाथ लग जाए तो वह एक बार में कम से कम 5 हजार रुपए तक की शॉपिंग की जा सकती है। 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर