JIO प्लेटफॉर्म्स में इन्वेस्टमेंट के लिए लगी निवेशकों की लाइन, KKR करेगी 11,367 करोड़ का निवेश

KKR Invest in Jio platform: देश में कोरोना संकट के बाद जारी लॉकडाउन के बीच जियो प्लेटफॉर्म पर निवेशकों की लाइन लगी हुई। अब केकेआर ने इसमें 11,367 करोड़ का इंवेस्टमेंट करने का फैसल लिया है।

 KKR to invest Rs 11,367 crore into Jio Platforms Reliance
JIO प्लेटफॉर्म्स में  11,367 करोड़ का निवेश करेगी KKR  

मुख्य बातें

  • जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेशकों की लगी लाइन, केकेआर करेगी 11,367 करोड़ का इंवेस्टमेंट
  •  फेसबुक, सिल्वर लेक, विस्टा इक्विटी पार्टनर्स, जनरल अटलांटिक पहले ही कर चुके हैं निवेश
  • एक महीने में पांचवा बड़ा इंवेस्टमेंट मिला, कुल 78,562 करोड़ रु का इंवेस्टमेंट हुआ

नई दिल्ली: जियो प्लेटफॉर्म्स में इंवेस्टमेंट के लिए निवेशकों की लाइन लगी है। उसे पिछले 1 महीने में पांचवा बड़ा इंवेस्टमेंट मिला है। KKR ने 2.32% इक्विटी के लिए जियो प्लेटफॉर्म्स में 11,367 करोड़ रु के निवेश की घोषणा की है। KKR ने जियो प्लेटफॉर्म्स की इक्विटी वैल्यू 4.91 लाख करोड़ रु आंकी है। करीब 1 महीना पहले फेसबुक के इंवेस्टमेंट के साथ, जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश का जो सिलसिला शुरू हुआ था वह थम नही रहा है। अब तक कुल पांच बड़े इंवेस्टर्स द्वारा  जियो प्लेटफॉर्म्स में कुल 78,562 करोड़ रु का निवेश हो चुका है। सबसे पहले फेसबुक निवेश ले कर आया। उसके बाद विश्व के अग्रणी निवेशक सिल्वर लेक, विस्टा इक्विटी पार्टनर्स एवं जनरल अंटलांटिक और अब KKR। एशिया में KKR का यह सबसे बड़ा निवेश है।
 
 38 करोड़ 80 लाख ग्राहक
जियो प्लेटफॉर्म्स, रिलायंस इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड की “फ़ुली ओन्ड सब्सिडियरी” है। ये एक “नेक्स्ट जनरेशन” टेक्नॉलोजी कंपनी है जो भारत को एक डिजिटल सोसायटी बनाने के काम में मदद कर रही है। इसके लिए जियो के प्रमुख डिजिटल एप, डिजिटल ईकोसिस्टम और भारत के नंबर 1 हाइ-स्पीड कनेक्टिविटी प्लेटफ़ॉर्म को एक-साथ लाने का काम कर रही है। रिलायंस जियो इंफ़ोकॉम लिमिटेड, जिसके 38 करोड़ 80 लाख ग्राहक हैं, वो जियो प्लेटफ़ॉर्म्स लिमिटेड की “होल्ली ओन्ड सब्सिडियरी” बनी रहेगी।
 
केकेआर के पास है लंबा अनुभव

 1976 में स्थापित, केकेआर के पास वैश्विक निजी उद्यमों में निवेश का लंबा अनुभव है। निजी इक्विटी और टेक्नोलॉजी ग्रोथ फंड के माध्यम से KKR ने बीएमसी सॉफ्टवेयर, बाइटडांस और गोजेक सहित कई प्रौद्योगिकी कंपनियों में सफलतापूर्वक निवेश किया है। फर्म ने तकनीकी कंपनियों में $ 30 बिलियन (कुल उद्यम मूल्य) से अधिक का निवेश किया है, और आज फर्म के टेक पोर्टफोलियो में प्रौद्योगिकी, मीडिया और दूरसंचार क्षेत्रों की 20 से अधिक कंपनियां हैं।
 
 अंबानी बोले- यह हर भारतीय के लिए होगा लाभप्रद

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक, मुकेश अंबानी ने कहा कि “दुनिया के सबसे सम्मानित वित्तीय निवेशकों में से एक KKR का एक महत्वपूर्ण साझेदार के रूप में स्वागत करते हुए मुझे प्रसन्नता हो रही है। KKR भारतीय डिजिटल इको सिस्टम में बदलाव की हमारी यात्रा का हमसफर बनेगा। यह सभी भारतीयों के लिए लाभप्रद होगा। KKR, भारत में एक प्रमुख डिजिटल सोसाइटी के निर्माण के हमारे महत्वाकांक्षी लक्ष्य को साझा करता है। एक महत्वपूर्ण भागीदार होने का KKR का  ट्रैक रिकॉर्ड शानदार है। हम जियो को आगे बढ़ाने के लिए KKR के वैश्विक प्लेटफॉर्म, इंडस्ट्री की जानकारीयां  और परिचालन विशेषज्ञता का लाभ उठाने की उम्मीद करते हैं। ”
 
 केकेआर ने कहा- जियो सच्चा स्वदेशी प्लेफॉर्म

केकेआर के सह-संस्थापक और Co-CEO हेनरी क्राविस ने कहा, "कुछ कंपनियों के पास ही देश के डिजिटल इको सिस्टम को बदलने की ऐसी क्षमता होती है जैसा की Jio Platforms भारत में और संभवतः दुनिया भर में कर रहा है। Jio Platforms एक सच्चा स्वदेशी प्लेटफॉर्म है जो भारत में डिजिटल क्रांति कर रहा है और इसके पास देश को प्रौद्योगिकी समाधान और सेवाएं देने की बेजोड़ क्षमता है। हम Jio Platforms की प्रभावशाली गति, विश्व स्तरीय इनोवेशन और मजबूत नेतृत्व टीम के कारण निवेश कर रहे हैं। इस निवेश को हम भारत और एशिया प्रशांत में अग्रणी प्रौद्योगिकी कंपनियों के समर्थन के लिए KKR की प्रतिबद्धता के रूप में देखते हैं। "
  
जियो एक ऐसे “डिजिटल भारत” का निर्माण करना चाहता है जिसका फ़ायदा 130 करोड़ भारतीयों और व्यवसायों को मिले। एक ऐसा “डिजिटल भारत” जिससे ख़ास तौर पर देश के छोटे व्यापारियों, माइक्रो व्यवसायिओं और किसानों के हाथ मज़बूत हों। जियो ने भारत में डिजिटल क्रांति लाने और भारत को दुनिया की सबसे बड़ी डिजिटल ताकतों के बीच अहम स्थान दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर