IRCTC खत्म करेगा 500 से अधिक होस्पिटलिटी सुपरवाइजर्स की सेवाएं, करते थे ट्रेनों में खानपान की निगरानी

बिजनेस
भाषा
Updated Jun 30, 2020 | 10:17 IST

IRCTC : आईआरसीटीसी ने कॉन्टैक्ट पर काम करने वाले 500 से अधिक होस्पिटलिटी सुपरवाइजर की नौकरी खत्म करने का फैसला किया है।

IRCTC to terminate services of more than 500 hospitality supervisors, Use to monitor catering in trains
IRCTC ने खत्म करेगी 500 होस्पिटलिटी सुपरवाइजर्स की सेवाएं 

मुख्य बातें

  • आईआरसीटीसी ने कॉन्टैक्ट पर काम करने वाले कर्मचारियों को हटाने का फैसला लिया
  • रेलगाड़ियों के खानपान यान के संचालन की निगरानी करने वाले कर्मचारियों को हटाया
  • कर्मचारियों ने रेल मंत्री पीयूष गोयल से हस्तक्षेप की गुहार लगाई है

नई दिल्ली : रेलवे की खानपान और पर्यटन शाखा आईआरसीटीसी ने कॉन्टैक्ट पर काम करने वाले 500 से अधिक होस्पिटलिटी सुपरवाइजर की सेवाओं को रद्द करने का फैसला किया है। उसका कहना है कि मौजूदा परिस्थितियों में इनकी आवश्यकता नहीं रह गई है। सूत्रों ने यह जानकारी दी। आईआरसीटीसी (भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम) ने 2018 में लगभग 560 पर्यवेक्षकों (आतिथ्य) को रेलगाड़ियों में ठेकेदारों द्वारा परोसे जाने वाले भोजन की गुणवत्ता की जांच के लिए नियुक्त किया था। होस्पिटलिटी सुपरवाइजर्स का काम रेलगाड़ियों के खानपान यान के संचालन की निगरानी करना था। इसके तहत उन्हें भोजन की तैयारी की देखरेख, गुणवत्ता की जांच, यात्रियों की शिकायतों का समाधान करना और यह सुनिश्चित करना था कि खाने के लिए तय कीमत से अधिक धन न लिया जाए।

कॉन्टैक्ट वर्कर्स की कोई आवश्यकता नहीं है- आईआरसीटीसी

आईआरसीटीसी ने 25 जून को एक पत्र के जरिए अपने सभी आंचलिक कार्यालयों को सूचित किया कि वर्तमान परिस्थितियों में इन संविदाकर्मियों की कोई आवश्यकता नहीं है और उन्हें एक महीने का नोटिस देकर उनके अनुबंध समाप्त कर दिए जाएंगे। आईआरसीटीसी के प्रवक्ता ने संपर्क करने पर घटनाक्रम की पुष्टि की, लेकिन संकेत दिया कि संगठन इस फैसले पर दोबारा विचार कर रहा है।

सस्पेंड कर्मचारियों ने रेल मंत्री से लगाई गुहार

आईआरसीटीसी के प्रवक्ता सिद्धार्थ सिंह ने बताया कि हम मामले पर पुनर्विचार कर रहे हैं। यदि हम विचार कर रहे हैं कि क्या इस निर्णय पर पुनर्विचार हो सकता है। इस संबंध में कुछ कदम उठाए जाएंगे। इस बीच इन सस्पेंड कर्मचारियों ने रेल मंत्री पीयूष गोयल से हस्तक्षेप की गुहार लगाई है और इस संबंध में सोशल मीडिया के जरिए उन तक अपनी बात पहुंचाई है।

कोरोना वायरस महामारी के कारण लागू लॉकडाउन से आईआरसीटीसी की सेवाएं बहुत अधिक प्रभावित हुए हैं। इस समय रेलवे श्रमिक स्पेशल रेलगाड़ियों के अलावा 230 विशेष रेलगाड़ियां चला रहा है। सभी नियमित यात्री सेवाएं 23 मार्च से निलंबित हैं।

अगली खबर