और महंगाई के लिए रहिए तैयार, जल्द बढ़ने वाले हैं एसी, टीवी, फ्रिज के दाम

बिजनेस
डिंपल अलावाधी
Updated May 13, 2022 | 12:09 IST

पैनासॉनिक इंडिया और दक्षिण एशिया के मुख्य कार्यपालक अधिकारी मनीष शर्मा ने कहा कि लागत का दबाव बढ़ रहा है। कंपनी प्रयास कर रही है कि ग्राहकों पर इसका कम से कम असर हो।

Price of home appliances and consumer electronics may increase soon
इसी महीने से बढ़ सकती है एसी, टीवी, फ्रिज की कीमत  |  तस्वीर साभार: BCCL
मुख्य बातें
  • देश में वॉशिंग मशीन से लेकर एयर कंडीशनर, फ्रिज और अन्य घरेलू प्रोडक्ट्स की कीमत बढ़ सकती है।
  • कुछ विनिर्माता पहले ही एसी की कीमतें बढ़ा चुके हैं।
  • बाकी भी इस महीने के अंत या जून में दाम बढ़ाने का फैसला ले सकते हैं।

नई दिल्ली। अब तक देश में पेट्रोल, डीजल, सीएनजी, पीएनजी, खाने के तेल, रसोई गैस सिलेंडर, आदि के दाम बढ़े हैं। अब आपको जल्द ही महंगाई का एक और झटका लग सकता है। जल्द ही एसी, टीवी, फ्रिज और वॉशिंग मशीन जैसे इलेक्ट्रॉनिक्स प्रोडक्ट की कीमतें बढ़ सकती है। यह बढ़ोतरी इसी महीने देखने को मिल सकती है। मई के अंत या जून के पहले ही हफ्ते में इन घरेलू उपकरणों के दाम तीन फीसदी से पांच फीसदी बढ़ सकते हैं। ऐसा इसलिए इनकी इनपुट लागत वृद्धि हुई है, जिसका भार खरीदारों पर डलेगा।

क्यों बढ़ सकती है घरेलू उपकरणों की कीमत?
सूत्रों ने जानकारी दी कि अमेरिकी डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपये में आई गिरावट से मैनुफैक्चरर्स को परेशानी हो रही है। दरअसल रुपये में गिरावट का सीधा संबंध आयात से होता है। अब आयातीत कंपोनेंट महंगे हो गए हैं और यह उद्योग महत्वपूर्ण कंपोनेंट के लिए आयात पर बहुत ज्यादा निर्भर है। इतना ही नहीं, चीन में कोविड-19 महामारी का प्रकोप बढ़ने से भी देश में महंगाई बढ़ सकती हैं।

इन वजहों से रुपया रिकॉर्ड निचले स्तर पर, ऐसे कटेगी आपकी जेब

दरअसल कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर चीन में सख्त लॉकडाउन लगाया गया है। ऐसे में कंपोनेंट्स की कमी की समस्या बढ़ गई है। मैन्युफैक्चरर्स के भंडार पर भी दबाव बढ़ गया है। इस इंडस्ट्री के कई प्रोडक्ट्स बहुत हद तक आयात पर ही निर्भर हैं।

Gold-Silver Rate Today, 13 May 2022: इस हफ्ते 1500 रुपये सस्ता हो चुका है सोना, अब इतनी है कीमत

बढ़ गई हैं इंडस्ट्री की परेशानियां
इस संदर्भ में कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स और उपकरण मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन (CEAMA) ने कहा कि, 'अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये में गिरावट आने से इंडस्ट्री की परेशानियां और बढ़ गई हैं। सीईएएमए के अध्यक्ष एरिक ब्रेगेंजा ने कहा कि, 'कच्चे माल के दाम बढ़ रहे हैं। अब अमेरिकी डॉलर मजबूत हो रहा है। ऐसे में सभी विनिर्माताओं को कम लाभ का अनुमान है। जून के बाद से कीमत तीन से पांच फीसदी बढ़ेगी।'

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर