आज से शुरू हो रहा है इस स्पेशल ट्रेन का संचालन, जानिए किस रूट्स पर चलेंगी ये रेल

बिजनेस
किशोर जोशी
Updated Apr 04, 2021 | 05:45 IST

Indian Railway News: कोरोना वायरस के चलते पिछले एक साल से रेलगाड़ियों की आवाजाही पर काफी असर पड़ा है और कई ट्रेनों का संचालन नहीं हो पा रहा है। 

Indian Railways to start Superfast train service from Today April 4
आज से शुरू हो रहा है इस विशेष ट्रेन का संचालन, जानिए रूट्स 

मुख्य बातें

  • कोरोना की वजह से पैसेंजर रेल सेवाओं पर लंबे समय तक लगा था ब्रेक
  • धीरे- धीरे रेल सेवाएं हो रही हैं सामान्य, लेकिन अभी भी कुछ सेवाएं हैं बंद
  • रेल मंत्री पीयूष गोयल ने बताया- 4 अप्रैल से चलेगी एक सुपरफास्ट ट्रेन

नई दिल्ली: कोविड 19 का असर ऐसा कोई सेक्टर नहीं है जिस पर ना पड़ा हो और रेलवे भी इससे अछूता नहीं रहा है। काफी समय तक रेल सेवाएं पूरी तरह बंद रही लेकिन धीरे- धीरे सेवाओं को शुरू किया और ट्रेनों की संख्या में भी इजाफा हुआ। अब रेलवे ने यात्रियों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए फिर से सुपरफास्ट रेल सेवा को संचालित करने का निर्णय लिया जिसकी जानकारी खुद रेल मंत्री पीयूष गोयल ने दी है। 

पीयूष गोयल ने ट्वीट कर दी जानकारी
रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट करते हुए कहा, 'हज़रत निज़ामुद्दीन, दिल्ली तथा सिकंदराबाद, तेलंगाना के बीच यात्रियों की सुविधा के लिये साप्ताहिक, राजधानी सुपरफास्ट स्पेशल ट्रेन शुरु की जा रही है। 4 अप्रैल से चलने वाली यह ट्रेन प्रत्येक रविवार को दिल्ली से, तथा बुधवार को सिकंदराबाद से चलेगी।' हजरत निजामुद्दीन-सिकंदराबाद के बीच साप्ताहिक ट्रेन हर रविवार को 4 अप्रैल से अगले आदेश तक और सिकंदराबाद से हर बुधवार को 7 अप्रैल 2021 से चलेगी। ये विशेष ट्रेन दोनों तरफ से आते-जाते हुए भोपाल, झांसी, नागपुर, काजीपेठ और बल्लारशाह स्टेशनों पर रुकेगी।

पिछले वित्त वर्ष में रेलवे ने बनाया रिकॉर्ड

आपको बता दें कि कोरोना काल के दौरान जब लॉकडाउन लगा था तो रेलवे की पैसेंजर सेवाएं पूरी तरह बंद थी जबकि माल ढुलाई वाली सेवाए जारी रही थीं। कोविड की चुनौतियों के बावजूद भी भारतीय रेलवे ने माल ढुलाई के एक नए कीर्तिमान के साथ वित्त वर्ष 2020-21 का समापन किया है। वित्त वर्ष 2020-21 के अंतिम माह में भारतीय रेलवे ने 1232.63 मिलियन टन माल की  ढुलाई करके  पिछले  वर्ष  की इसी अवधि की ढुलाई को पीछे छोड़ दिया है जो 1209.32 मिलियन टन थी और यह 1.93 प्रतिशत अधिक की वृद्धि दर्शाता है।

इसके अलावा भारतीय रेलवे ने पिछले सर्वश्रेष्ठ 42 की तुलना में 2020-21 के दौरान रिकॉर्ड 56 टीएसएस (ट्रैक्शन सब स्टेशन) बनाए हैं। कोविड महामारी के बावजूद इसमें 33 फीसदी का सुधार है। पिछले सात वर्षों के दौरान कुल 201 ट्रैक्शन सब स्टेशन बनाए गए हैं।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर