यूपीए के दौर में भारत 'ठहर' गया था, निर्णय नहीं ले पा रहे थे पूर्व पीएम मनमोहन सिंह, नारायण मूर्ति ने कही ये बात

बिजनेस
भाषा
Updated Sep 24, 2022 | 00:06 IST

इंफोसिस के सह-संस्थापक एन आर नारायण मूर्ति ने कहा कि कांग्रेस की अगुवाई वाली यूपीए सरकार के वक्त, जब मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री थे, भारत में आर्थिक गतिविधियां ठहर गईं थीं और निर्णय नहीं लिए जा रहे थे। 

India had 'stagnated' during the UPA era, PM Manmohan Singh was unable to take a decision, Narayan Murthy said this at IIM Ahmedabad
इंफोसिस के सह-संस्थापक एन आर नारायण मूर्ति  |  तस्वीर साभार: BCCL

अहमदाबाद: सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी इंफोसिस के सह-संस्थापक एन आर नारायण मूर्ति ने शुक्रवार को कहा कि कांग्रेस की अगुवाई वाली यूपीए सरकार के वक्त, जब मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री थे, भारत में आर्थिक गतिविधियां ''ठहर" गईं थीं और निर्णय नहीं लिए जा रहे थे। भारतीय प्रबंधन संस्थान - अहमदाबाद (आईआईएम-ए) में युवा उद्यमियों और छात्रों के साथ बातचीत के दौरान मूर्ति ने भरोसा जताया कि युवा दिमाग भारत को चीन का एक योग्य प्रतिस्पर्धी बना सकता है।

उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि मैं लंदन में (2008 और 2012 के बीच) एचएसबीसी के बोर्ड में था। पहले कुछ वर्षों में, जब बोर्डरूम (बैठकों के दौरान) में चीन का दो से तीन बार उल्लेख किया गया, तो भारत का नाम एक बार आता था' मूर्ति ने आगे कहा कि लेकिन दुर्भाग्य से, मुझे नहीं पता कि बाद में (भारत के साथ) क्या हुआ। (पूर्व पीएम) मनमोहन सिंह एक असाधारण व्यक्ति थे और मेरे मन में उनके लिए बहुत सम्मान है। लेकिन संप्रग के दौर में भारत ठहर गया था। निर्णय नहीं लिए जा रहे थे।'

जब उन्होंने एचएसबीसी (2012 में) छोड़ा, तो बैठकों के दौरान भारत का नाम शायद ही कभी आता था, जबकि चीन का नाम लगभग 30 बार लिया गया। मूर्ति ने कहा कि आज दुनिया में भारत के लिए सम्मान का भाव है और देश अब दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर