Income Tax Day 2020: क्या है आयकर दिवस का इतिहास और महत्व, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें

Income Tax Day 2020: साल 2010 से ही 24 जुलाई को हर साल भारत में आयकर दिवस के रुप में मनाया जाता है। इसे आयकर दिवस भी कहते हैं। जानिए इस मौके पर इस दिन का इतिहास और महत्व-

INCOME TAX DAY 2020
आयकर दिवस 2020, Income Tax Day  

मुख्य बातें

  • हर साल 24 जुलाई को आयकर दिवस मनाया जाता है
  • साल 2010 में इस दिन को मनाने की शुरुआत हुई थी
  • भारत में आयकर चुकाने के पीछे का इतिहास बड़ा ही रोचक है

नई दिल्ली : इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने शुक्रवार को 160वां इनकम टैक्स डे बताया है। इसे आयकर दिवस भी कहते हैं। साल 2010 से ही 24 जुलाई को हर साल भारत में आयकर दिवस के रुप में मनाया जाता है। I-T विभाग ने 2010 में 24 जुलाई को वार्षिक उत्सव के दिन के रूप में चिह्नित करने का निर्णय लिया था, जो उस वर्ष से इस वर्ष के 150 वर्षों को चिह्नित करता है।

वर्ष 1860 में आयकर के रूप में पहली बार आयकर लगाया गया था और उस वर्ष के 24 जुलाई को उस शुल्क को लागू करने का अधिकार मिला था।
आयकर विभाग ने शुक्रवार को ये ट्वीट करते हुए कहा कि इनकम टैक्स डे 2020 पर सभी आयकर दाताओं को सैल्यूट है। आपके इमानदार योगदान ने देश को उंचाई पर पहुंचाया है। हम प्रण लें कि आगे भी हम देश को आगे बढ़ाने के लिए ऐसे ही अपना योगदान देते रहें।

वित्त मंत्रालय ने भी आईटी डे पर लोगों को बधाई दी। मिनिस्ट्री ऑफ MoS अनुराग ठाकुर ने ट्वीट करते हुए कहा कि- इनकम टैक्स डे पर उन ईमानदार करदाताओं और अधिकारियों को बधाई, जिनका योगदान AatmaNirbhar Bharat के लिए आर्थिक विकास की दिशा में हमारे प्रयासों को गति दे रहा है। 

आयकर दिवस का इतिहास और महत्व

24 जुलाई, 1860 को सर जेम्स विल्सन द्वारा भारत में 1857 में प्रथम स्वतंत्रता संग्राम के दौरान हुए नुकसान की भरपाई के लिए भारत में आयकर पेश किया गया था। आयकर दिवस से पहले का सप्ताह देश भर में I-T विभाग के क्षेत्रीय कार्यालयों द्वारा की गई विभिन्न गतिविधियों द्वारा चिह्नित है। करों के भुगतान को मूल्य मानदंड के रूप में बढ़ावा देने के लिए और संभावित करदाताओं को संवेदनशील बनाने के लिए देश भर में कई आउटरीच कार्यक्रम आमतौर पर हर साल आयोजित किए जाते हैं कि करों का भुगतान सभी नागरिकों का एक नैतिक कर्तव्य था  

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर