अधिक पैसों की बचत कैसे करें? इन 11 स्मार्ट टिप्स के जरिये हो सकते हैं मालामाल

साल भर के लिए कैसे अपनी वित्तीय प्राथमिकताओं को तय करें, यह आप पर निर्भर करता है। लेकिन भविष्य के लिए बचत करना सीखें। यहां 11 समार्ट टिप्स बताए गए हैं, जिसके जरिये आप बचत करना सीख सकते हैं। 

How to save more money? These 11 smart tips can be beneficial
पैसे बचाने के स्मार्ट तरीके 

हम सभी के लिए नए साल की शुरुआत अभी हाल ही में हुई है। अनेक लोगों ने टैक्स बचत निवेश और बीमा आदि की खरीददारी जैसे वित्तीय कार्यों को अभी करना है। कुछ लोग अभी भी यह समझने की कोशिश कर रहे हैं कि पैसे से जुड़ी अपनी योजनाओं की शुरुआत कहां से करें तथा बचत को कैसे बेहतर करें। पैसे के संबंध में बचत आपका बेस साबित होती हैं। इन्ही के आधार पर दूसरे कार्यों को करना संभव हो पाता है। फिर चाहे वह निवेश हो, बीमा की खरीददारी हो, या महत्वकांक्षाओं को पूरा करना हो। यहां पर कुछ विचार करने योग्य टिप्स दिए गए हैं।

बजट तय करें

बजटिंग आपको यह बतलाने में मदद करता है की कैसे आप साल भर के लिए अपनी वित्तीय प्राथमिकताओं को तय कर सकते हैं और किस तरह आप अपनी आय को बांट सकते है ताकि आप इन प्राथमिकताओं को पूरा कर सकें। बजटिंग से आपको उन क्षेत्रों को पहचानने में सहायता मिलेगी जो आपको बताएंगे की कहां अधिक खर्च करना है और कहां कम खर्च करना है। आप ऐसा अपने बैंक स्टेटमेंट को देख के कर सकते हैं जो आपको आपके खर्चों के बारे में जानकारी देगा और साथ में आप यह भी समझ पाएंगे की आपको इस वर्ष अपने पैसों से संबंधित क्या बदलाव करने होगा। उदाहरण के लिए, मान लीजिये पता लगता है कि आपके खाने-पीने से संबंधित ऑर्डर पर ज्यादा खर्च है तो आप इस आदत को नियंत्रित कर सकते हैं।

लक्ष्य उन्मुख (गोल-ओरिएंटेड) बने

एक लक्ष्य चुनें और 2021 के अंत तक उसे पूरा करना तय करें। उदाहरण के लिए, आपातस्थिति के लिए आपकी मासिक आय से तीन गुणा बचत करना हो सकता है, या बिना चूक किए, हर महीने अपनी आय का 20% बचत करना हो सकता है।

अपने भुगतानों का ऑटोमेशन करें

आपकी तरफ से वित्तीय कार्यों को पूरा करने के लिए डिजिटल टूल्स का उपयोग करें। ऐसा करने से हर महीने आपके बैंक से एक नियत राशि आपकी पसंद की बचत योजनाओं में स्थानांतरित कर दी जाएगी फिर चाहे वह रेकेरिंग डिपॉजिट हो या म्यूचल फंड एसआईपी। बचत में सुधार करने के लिए अनिवार्य मासिक बचत एक सर्वश्रेष्ठ तरीका है। साथ ही अपने बिल आदि का नेटबैंकिंग या भुगतान ऐप्स के माध्यम से ऑटोमेशन करें। देरी से भुगतान करने पर लगने वाले जुर्माने से बचना भी एक प्रकार की बचत ही है। अनिवार्य बचत और खर्चों के बाद जो कुछ आपके बैंक में बचता है, उससे आप आनन्द ले सकते हैं।

बचत खाते के अलावा अन्य बातों पर विचार करें

आपके बचत खाते में बहुत कम पैसा होना भी एक समस्या ही है और बहुत पैसे होना भी। अगर आपके पास बचत और खर्चे करने के बाद बहुत ही कम राशि शेष रहती है, तो आप अपनी बचत को खर्च करने पर मजबूर हो सकते हैं। अगर आपके पास बहुत अधिक राशि शेष है, तो इसका मतलब यह हो सकता है कि आप पर्याप्त बचत नहीं कर रहे हैं। आवश्यकता से अधिक पैसे की बचत करने के लिए स्वीप-इन फिक्स्ड डिपॉजिट का उपयोग करें और अधिक रिटर्न पाएं। अपनी बचतों को भविष्य निधि (प्रोविडेंट फंड) में जमा करवाएं। सिस्टेमैटिक निवेश योजना की शुरुआत करें। अधिक रिटर्न अर्जित करने के आपके विकल्प अनेक हैं।

उच्च ब्याज लोन से मुक्ति पाएं

ऐसे लोन जिन पर ज्यादा ब्याज देना पड़ता है, उनको निरन्तर कम करने की कोशिश की जानी चाहिए। क्रेडिट कार्ड पर देय राशि में बढ़ोतरी से आप लोन के जाल में फंस सकते हैं। कार्ड से जुड़ी बकाया राशि का भुगतान सबसे पहले करने की कोशिश करें। इससे और अधिक बचत करने के लिए आपके पास आय उपलब्ध हो सकेगी। बड़ी उधार राशियों जैसे होम लोन आदि के समय पूर्व भुगतान से भी आपको अपने लोन से अधिक तेजी से मुक्ति पाने में सहायता मिलेगी। आप एक से अधिक ज्यादा ब्याज वाले लोन को एक कम ब्याज दरों वाले लोन में बदलने की भी कोशिश कर सकते हैं।

अपनी खर्चो पर लगाम लगाएं

मनमर्जी के खर्चों को कम करने के लिए हर संभव प्रयास करें। जितना कम आप खर्च करेंगे, उतनी ही बचत करने की संभावना अधिक होगी। उदाहरण के लिए, इस्तेमाल न की जाने वाली ऑनलाइन स्ट्रीमिंग सेवाओं या सब्स्क्रिप्शन आदि को बंद कर दें। अगर आपका बजट सीमित है, तो इस्तेमाल में लाई जा चुकी चीजों को खरीदें। मित्रों और परिवार के साथ लागतों को विभाजित करें। ब्रांड्स का मोह त्याग दें। मल्टीनेशनल कॉफी चेन की तुलना में आपका स्थानीय चायवाला सस्ता है।

अपने जोश को नियंत्रित करें

जोश में आकर खर्च करने से बचने के लिए 30-दिन के नियम का पालन करें। अगर आपकी किसी चीज के प्रति चाहत है, जिससे आपके लिए पैसे की समस्या खड़ी हो सकती है, तो 30 दिन का इंतजार करें। प्रतीक्षा करने के बाद, अगर आप अभी भी इसे चाहते हैं, तो ही ऐसा करें। लेकिन इस बात की संभावना है कि आपका आवेग शांत हो जाएगी, और आप अपने पैसे की बरबादी से बच जाएंगे।

सोच विचार करके उधार लें 

जब बात जीवनशैली और उपभोग की हो, तो अपने साधनों के अंतर्गत ही जीवन यापन करें। इन चीजों के लिए उधार लेने से बचने की कोशिश करें। क्रेडिट कार्ड के आधार पर किए जाने वाले उपभोग से बचत करने की आपकी क्षमता प्रभावित होगी। जीवन का आनन्द लेना अधिक महत्वपूर्ण है; और ऐसा अपनी वित्तीय क्षमता में ही किया जाना चाहिए। साथ ही, भिन्न-भिन्न लोन प्रोडक्ट्स और उधारदाताओं के संबंध में अपने वित्त विकल्पों की तुलना करें, ताकि आप अपने लिए सर्वश्रेष्ठ डील चुन सकें।

खर्चों को लेकर उचित रणनीति अपनाएं

आपके लिए उपलब्ध लाभों को अधिक से अधिक प्रयोग करें। फ्री कूपन और वाउचर्स के लिए वेब सर्च करें। डेबिट या क्रेडिट कार्ड पर किए गए खर्चे पर मिलने वाले रिवार्ड प्वाइंट्स को रिडीम करवाएं। ऐसा कार्ड प्राप्त करें जो आपकी जीवनशैली से जुड़ी जरुरत को पूरा करता है। उदाहरण के लिए, अगर आप ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं, तो ऐसा कार्ड पाएं जिससे आपको अपने पसंदीदा ऑनलाइन खर्चे पर अतिरिक्त कैश या एक्सेलेरेटेड रिवार्ड प्वाइंट मिलते हैं।

खुद को चुनौती दें

बचत करना ही महत्वपूर्ण नहीं है, बल्कि बचत के संबंध में समझदार भी बनें। अगर आप पहले से ही अपनी बचत का 10% बचा रहे हैं, तो उसे 20% तक ले जाने की कोशिश करें। अगर आप 20% के स्तर पर हैं, तो उसे 30% तक ले जाने की कोशिश करें। इसके लिए आपको अपनी प्राथमिकताओं को लगातार संतुलित करते रहना होगा जिससे आप स्मार्ट बजटिंग, लक्ष्य निर्धारण, और प्लानिंग को फिर से अपना सकेंगे।

अपने पैसे की सुरक्षा करें

अंत में, अपनी बचतों की सुरक्षा की व्यवस्था करें। आप नहीं चाहेंगे कि अस्पताल में भर्ती होने जैसी अनियोजित घटनाओं के कारण आपकी बचत समाप्त हो जाएं। स्वास्थ्य और जीवन बीमा लें ताकि आपके और आपके परिवार का पैसा जीवन के उतार-चढ़ावों में भी सुरक्षित बना रहे।

 इस लेख के लेखक, BankBazaar.com के CEO आदिल शेट्टी हैं)
(डिस्क्लेमर: यह जानकारी एक्सपर्ट की रिपोर्ट के आधार पर दी जा रही है। बाजार जोखिमों के अधीन होते हैं, इसलिए निवेश के पहले अपने स्तर पर सलाह लें।) ( ये लेख सिर्फ जानकारी के उद्देश्य से लिखा गया है। इसको निवेश से जुड़ी, वित्तीय या दूसरी सलाह न माना जाए)

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर