ppf account in hindi : जानें पीपीएफ अकाउंट के फायदे, कम समय में अच्‍छी बचत के ल‍िए हर महीने क‍ितना करें निवेश

हर व्यक्ति रिटारमेंट के बाद बेहतर लाइफ के लिए प्लान करता है। यहां जानिए कितना हर महीना निवेश करें कि आपके पास भी करोड़ रुपए हो जाए। 

How much to invest in PPF every month? become crorepati
पीपीएफ में निवेश से बन सकते हैं करोड़पति (तस्वीर-istock) 

मुख्य बातें

  • पीपीएफ खाते की अवधि 15 वर्ष होती है।
  • पीपीएफ में निवेश पर वर्तमान ब्याज दर 7.1% प्रति वर्ष है।
  • पीपीएफ से 1 करोड़ रुपए प्राप्त करने के लिए नीचे बताए गए नियमों का अनुसरण करें।

ppf acount interest rate : पब्लिक प्रोविडेंट फंड यानी पीपीएफ पॉपुलर स्मॉल सेविंग स्कीम है। यह बचत योजना सरकार समर्थित है। यह स्कीम रिटायरमेंट बचत जैसे लॉन्ग टर्म लक्ष्यों के लिए निवेश करने के इच्छुक निवेशकों के बीच बेहद लोकप्रिय है। पीपीएफ मध्यम रिटर्न प्रदान करता है और टैक्स लाभ, टैक्स छूट और पूंजी की सुरक्षा से भरा हुआ है। अर्जित ब्याज के साथ-साथ रिटर्न इनकम टैक्स अधिनियम के तहत टैक्स योग्य नहीं हैं।

पीपीएफ पर दी जाने वाली ब्याज दर समान अवधि के अधिकांश अन्य निवेश प्रोडक्ट्स की तुलना में अधिक है जो गारंट‍िड रिटर्न देते हैं। पीपीएफ में निवेश एकमुश्त या अधिकतम 12 किस्तों में किया जा सकता है। प्रत्येक वित्तीय वर्ष के लिए न्यूनतम निवेश की राशि 500 रुपए और अधिकतम 1.5 लाख रुपए है। वर्तमान ब्याज दर 7.1% प्रति वर्ष है और पीपीएफ खाते की अवधि 15 वर्ष है।

अगर पीपीएफ में ठीक से और लगातार निवेश किया जाए, तो रिडेम्पशन के समय तक 1 करोड़ या उससे भी ज्यादा रकम जमा हो सकता है। एक निवेशक को केवल 15 साल की मैच्योरिटी अवधि के बाद अपने पीपीएफ खाते का विस्तार करना होगा और 1 करोड़ रुपए के लक्ष्य तक पहुंचने के लिए लगातार निवेश करना जारी रखना होगा।

पीपीएफ कैलकुलेटर

पीपीएफ से 1 करोड़ रुपए जमा करने के लिए निवेशकों को धैर्य रखने और 7.1% की मौजूदा ब्याज दर पर 25 साल तक नियमित रूप से निवेश करने की जरूरत है। मान लीजिए कि एक व्यक्ति द्वारा पीपीएफ खाते में सालाना 1.5 लाख रुपए 7.1% की दर से निवेश किए जाते हैं, तो उन्हें करोड़पति बनने में 25 साल का समय लगेगा। ऐसा इसलिए है क्योंकि लंबी अवधि के लिए पीपीएफ में समय-समय पर निवेश चक्रवृद्धि ब्याज के साथ चाल चल सकता है।

पैसा जितना अधिक समय तक निवेश में रहता है, उतना ही अधिक होता जाता है। अगर कोई व्यक्ति 12,500 रुपए प्रति माह (पीपीएफ में अधिकतम मासिक निवेश किया जा सकता है) या 1.5 लाख रुपए प्रति वर्ष निवेश करना शुरू कर देता है और 15 साल तक पीपीएफ खाता जारी रखता है, तो वे मैच्योरिटी के समय 40.6 लाख रुपए से अधिक कमाएंगे, यह मानते हुए कि निवेश अवधि के दौरान ब्याज 7.1% रहता है। 

अगर खाते को आगे 5 साल के लिए बढ़ाया जाता है तो 20 साल (पहले विस्तार) के लिए 7.1% की दर से 1.5 लाख रुपए प्रति वर्ष निवेश करने पर पीपीएफ खाते का बैलेंस करीब 66.6 लाख रुपए हो जाएगा। अगर 5 साल की अवधि के लिए एक बार फिर खाते का विस्तार करते हैं तो निवेशक प्रति वर्ष 1.5 लाख रुपए का निवेश करना जारी रखता है, तो 25 वर्षों के बाद, पीपीएफ खाते की शेष राशि 1 करोड़ रुपए से अधिक हो जाएगी, यह मानते हुए कि पूरी निवेश अवधि में ब्याज 7.1% पर स्थिर रहता है।

पीपीएफ खाता विस्तार नियम

पीपीएफ खाते की मैच्योरिटी अवधि 15 वर्ष है, लेकिन खाता खोलने के 15वें वर्ष में निवेश विकल्प के साथ ब्याज का चयन करके पीपीएफ एक्सटेंशन फॉर्म जमा करके अपने पीपीएफ खाते का विस्तार किया जा सकता है। पीपीएफ खाते को 5 साल के ब्लॉक में कई बार बढ़ाया जा सकता है।

पीपीएफ टैक्स लाभ

पीपीएफ खाता छूट-छूट-छूट (ईईई) कैटेगरी के अंतर्गत आता है, जहां प्रति वर्ष 1.5 लाख रुपए तक के निवेश पर इनकम टैक्स से छूट मिलती है। इसके अलावा, पीपीएफ ब्याज दर और पीपीएफ मैच्योरिटी राशि को भी किसी भी तरह के इनकम टैक्स से छूट प्राप्त है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर