भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए अच्छी खबर, दिसंबर में GST का रिकॉर्ड कलेक्शन, लागू होने के बाद सबसे ज्यादा

भारत की अर्थव्यवस्था ने जीएसटी कलेक्शन रिकॉर्ड स्तर के साथ मजबूत संकेत दिखाने शुरू कर दिए हैं।

GST Collection Record in December 2020
जीएसटी का रिकॉर्ड कलेक्शन  |  तस्वीर साभार: BCCL

मुख्य बातें

  • दिसंबर 2020 में जीएसटी राजस्व 1,15,174 करोड़ रुपए रहा
  • जीएसटी लागू होने के बाद किसी भी महीने के मुकाबले यह सबसे अधिक है
  • पिछले 21 महीनों में सबसे अधिक मासिक राजस्व वृद्धि है

नए साल के पहले दिन भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए अच्छी खबर आई है। 2021 दिसंबर में गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) कलेक्शन रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया है। जबसे लागू हुआ है तब से सर्वाधिक है। जुलाई 2017 से देश में जीएसटी लागू होने के बाद यह सबसे ज्यादा है। दिसंबर में जीएसटी कलेक्शन 1.15 लाख करोड़ रुपए के सर्वकालिक उच्च स्तर को छुआ। नवंबर से 31 दिसंबर तक कुल 87 लाख जीएसटीआर-3बी रिटर्न दाखिल किए गए। इससे साफ पता चलता है कि अर्थव्यवस्था में सुधार तेजी से हो रहा है। 

वित्त मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि दिसंबर 2020 में जीएसटी राजस्व 1,15,174 करोड़ रुपए रहा, और जीएसटी लागू होने के बाद किसी भी महीने के मुकाबले यह सबसे अधिक है। बयान में कहा गया कि यह पिछले 21 महीनों में सबसे अधिक मासिक राजस्व वृद्धि है। यह महामारी के बाद तेज आर्थिक सुधार और जीएसटी चोरी और फर्जी बिल के खिलाफ चलाए गए देशव्यापी अभियान, और व्यवस्थागत बदलावों के चलते संभव हुआ।

समीक्षाधीन महीने में आयातित वस्तुओं से राजस्व 27 प्रतिशत बढ़ा और घरेलू लेनदेन (आयात सेवाओं सहित) से राजस्व इससे पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले आठ प्रतिशत अधिक रहा। जीएसटी राजस्व में सुधार के हालिया रुझानों के अनुरूप राजस्व कलेक्शन ने लगातार तीसरे महीने 1 लाख करोड़ रुपए के आंकड़े को पार किया। दिसंबर 2020 में कुल राजस्व कलेक्शन दिसंबर 2019 के मुकाबले 12% अधिक था।

दिसंबर में केंद्रीय जीएसटी कलेक्शन 21,365 करोड़ रुपए, राज्य जीएसटी संग्रह 27,804 करोड़ रुपए, एकीकृत जीएसटी 57,426 करोड़ रुपए (वस्तुओं के आयात पर एकत्र 27,050 करोड़ रुपए समेत) और सेस 8,550 करोड़ रुपए (आयात पर एकत्र 971 करोड़ रुपए सहित) रहा।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर