खुशखबरी! 30000 लोगों को नौकरी देगी ईकॉम एक्सप्रेस, नियुक्ति प्रक्रिया शुरू 

कोरोना वायरस महामारी के बीच ईकॉम एक्सप्रेस 30,000 लोगों को रोजगार देने की योजना बना रहा है। 

Good news! e-com express will give job to 30000 people, recruitment process starts
ईकॉम एक्सप्रेस में जॉब 

मुख्य बातें

  • त्योहारों के दौरान बढ़ी हुई डिमांड को पूरा करने के लिए नियुक्तियां की जा रही हैं
  • कोरोना वायरस से पहले कंपनी के कर्मचारियों की संख्या करीब 23,000 थी
  • पिछले कुछ महीनों में 7,500 कर्मचारियों को नियुक्त किया

नई दिल्ली : कोरोना वायरस महामारी के बढ़ते प्रकोप से देश और दुनिया में बेरोजगारी में काफी इजाफा हुआ है। इस दौरान कहीं से भी नौकरी की खबर आती है तो बेरोजगारों में बड़ी राहत की बात है। सामानों की डिलिवरी समेत लॉजिस्टिक सुविधा उपलब्ध कराने वाली ईकॉम एक्सप्रेस ने जल्द 30,000 लोगों को नौकरी देने की योजना बनाई है। हालांकि ये रोजगार अस्थाई होंगे। फिर भी इस मुश्किल हालात में बेरोजगारों के लिए अच्छी खबर है। 

 ई-कॉमर्स कंपनियों से त्योहारों के दौरान बढ़ी हुई डिमांड को पूरा करने के लिए नए लोगों को नियुक्त करने की योजना बनाई है। कोरोना वायरस से पहले कंपनी के कर्मचारियों की संख्या करीब 23,000 थी। कंपनी ने लॉकडाउन के और उसके बाद बढ़ते ऑनलाइन ऑर्डर को पूरा करने के लिए पिछले कुछ महीनों में 7,500 कर्मचारियों को नियुक्त किया। लोग कोरोना वायरस के बीच किराना सामान, दवा और अन्य वस्तुओं के लिए ई-कॉमर्स का रुख कर रहे हैं।

ईकॉम एक्सप्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष और मुख्य मानव संसाधन अधिकारी सौरभ दीप सिंगला ने कहा कि महामारी ने ई-कॉमर्स उद्योग को एक अलग मुकाम पर पहुंचा दिया है। त्योहारों के दौरान हमारे ई-कॉमर्स ग्राहक काफी आक्रमक योजना बना रहे हैं और हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि वे मांग को पूरा कर सके। हमने नियुक्तियां शुरू कर दी है। यह प्रक्रिया 10 अक्टूबर तक जारी रहेगी और हम त्योहारों के दौरान 30,000 अस्थायी रोजगार सृजित करने की उम्मीद कर रहे हैं।

कंपनी के कार्यबल की संख्या अगस्त में 30,500 थी। उन्होंने कहा कि पिछले साल हमने त्योहारों से पहले 20,000 लोगों को नियुक्त किया था। हालांकि ये रोजगार अस्थाई थे लेकिन इनमें से करीब एक तिहाई स्थाई हुए हैं क्योंकि हम त्योहारों के बाद भी ऑर्डर में वृद्धि देख रहे हैं। ई-कॉमर्स कंपनियों का मानना है कि उनके कारोबार का बड़ा हिस्सा त्योहारों के दौरान आएगा और उन्होंने क्षमता बढ़ाने को लेकर बड़ा निवेश किया है ताकि ऑर्डर का बेहतर तरीके से प्रबंधित किया जा सके।

वालमार्ट के स्वामित्व वाली फ्लिपकार्ट ने आपूर्ति व्यवस्था को सुदृढ़ करने और डिलिवरी क्षमता बढ़ाने को लेकर हाल ही में 50,000 से अधिक किराना दुकानों को जोड़ा है। वहीं आमेजन इंडिया ने पांच केंद्र (विशापत्तनम, फरूखनगर, मुंबई, बेंगलुरू और अहमदाबाद) जोड़ने की घोषणा की। साथ ही अपनी मौजूदा आठ केंद्रों के विस्तार की घोषणा की है।

सिंगला ने कहा कि ईकॉम एक्सप्रेस जे नियुक्ति करेगी, वह महानगरों के अलवा छोटे शहरों में भी होगी। कंपनी देश के सुदूर क्षेत्रों में भी सामान की डिलिवरी पर गौर कर रही है, जिसके लिए नियुक्ति छोटे एवं मझोले शहरों में भी की जाएगी।
 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर