डोमिनिका हाई कोर्ट में आज फिर होगी मेहुल चोकसी पर सुनवाई, सरकार ने कहा- खारिज हो याचिका, उसे भारत को सौंपा जाए

बिजनेस
Updated Jun 03, 2021 | 00:08 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

Mehul Choksi: डोमिनिका के हाई कोर्ट में भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी के मामले पर सुनवाई हुई। भारत उसे वापस लाने की तैयारी में है। चोकसी अब भी भारतीय नागरिक है और उसके खिलाफ इंटरपोल रेड नोटिस जारी है।

Mehul Choksi
मेहुल चोकसी 

मुख्य बातें

  • भगोड़े कारोबारी मेहुल चोकसी के प्रत्यर्पण पर कल यानी 3 जून को फिर से सुनवाई होगी
  • मेहुल चोकसी ने हिरासत में असुरक्षा की बात कही है, उसने सुरक्षा मांगी है
  • मेहुल चोकसी को भारत भेजा जाना चाहिए, याचिका पर सुनवाई नहीं होनी चाहिए: डोमिनिका सरकार

नई दिल्ली: डोमिनिका की हाई कोर्ट में भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी के भारत प्रत्यर्पण के मामले की सुनवाई पूरी हो गई है। सुनवाई को कल तक के लिए टाल दिया गया है। चोकसी ने सुरक्षा की मांग करते हुए कहा है कि हिरासत में असुरक्षित महसूस कर रहा है। वहीं मेहुल चोकसी के वकील विजय अग्रवाल का दावा है कि डोमिनिका कोर्ट में मेहुल चौकसी मामले की सुनवाई पूरी हुई। जज अपने चैंबर में आदेश लिख रहे हैं। मेहुल चोकसी को आज शाम 4 बजे (डोमिनिका समय) मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया जाएगा। अगर डोमिनिका पुलिस किसी को गिरफ्तार करती है, तो उसे 72 घंटे में अदालत में पेश करना होगा, जो नहीं किया गया। इसलिए कोर्ट ने उसे शाम 4 बजे मजिस्ट्रेट के सामने पेश करने का आदेश दिया है। मजिस्ट्रेट के आदेश के आधार पर कल कोर्ट में फिर से चर्चा होगी। इसने हमारे रुख को साबित कर दिया कि डोमिनिकन पुलिस ने 72 घंटों के भीतर उसे पेश न करके अवैधता की; कोर्ट ने माना और कहा कि अनियमितता को ठीक करने की जरूरत है।

वहीं सुनवाई के दौरान डोमिनिका सरकार ने कोर्ट से मेहुल चौकसी की याचिका खारिज करने को कहा है। अभियोजन पक्ष ने इस संबंध में नीरव मोदी मामले की मिसाल दी है। अभियोजन पक्ष ने डोमिनिका पुलिस का बचाव किया और चोकसी के अपहरण के दावे को खारिज किया। सुनवाई से पहले, भारतीय अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने उसके आधार, स्थायी खाता संख्या (पैन) और राशन कार्ड सहित दस्तावेज एकत्र किए हैं ताकि यह साबित हो सके कि भगोड़े व्यवसायी ने अपनी भारतीय नागरिकता कभी नहीं छोड़ी। 

वहीं सीबीआई के एक उप महानिरीक्षक (डीआईजी) के नेतृत्व में विभिन्न एजेंसियों के अधिकारियों की एक टीम डोमिनिका गई है और यदि इस कैरिबियन द्वीप देश की अदालतें फरार हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी को भारत निर्वासित करने की अनुमति देती हैं तो उसे वापस लाया जा सकेगा। इस टीम में सीबीआई के दो सदस्य हैं।  

चोकसी 23 मई को एंटीगुआ से रहस्यमय तरीके से लापता हो गया था जहां वह 2018 से एक नागरिक के रूप में रह रहा है। उसे पड़ोसी डोमिनिका में अवैध रूप से प्रवेश करने पर हिरासत में लिया गया था।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर