Changes from October : 1 अक्टूबर से बदल गए पेंशन, चेकबुक समेत ये 5 नियम, आपके जीवन पर पड़ेगा सीधा असर

अक्टूबर महीने में कई बदलाव हो रहे हैं। जो आपके जीवन के प्रभावित करेंगे। यहां बताए गए 5 बदलावों पर आपको नजर रखनी चाहिए।

From October 1, pension, Chequebook, auto debit, investment, Private Liquor Shops Rules are Changed
एक अक्टूबर से कई नियमों में बदलाव (तस्वीर-istock) 

पिछले महीने की तरह अक्टूबर महीने में कई बदलाव हो रहे हैं। आज (1 अक्टूबर) से ये बदलाव प्रभावी हो रहे हैं। जिसका असर आपके जीवन पर पड़ेगा। इसलिए इसके बारे में आपको जानना जरूरी है। 5 ऐसे बड़े बदलाव हैं। जिन पर आपको नजर रखनी चाहिए। जिससे आप किसी अनचाहे परेशानी से बच सकें या उससे निपटने के लिए तुरंत तैयार हो जाएं। ये बदलाव पेंशन, निवेश नियमों से लेकर बैंक चेकबुक में बदलाव तक हैं।

चेकबुक नियमों में बदलाव (Chequebook Rule Change)

एक अक्टूबर से तीनों बैंकों के पुराने चेकबुक और MICR कोड अमान्य कर दिय है। ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC), यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया और इलाहाबाद बैंक तीन बैंक हैं। ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (ओबीसी) और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया का पंजाब नेशनल बैंक में विलय हो गया है। पीएनबी ने घोषणा की कि अगर पुरानी चेकबुक और पहले से मौजूद एमआईसीआर कोड और आईएफएससी कोड अक्टूबर तक अपडेट नहीं किए गए थे तो उन्हें रोक दिया जाएगा।  इलाहाबाद बैंक का इंडियन बैंक में विलय हो गया।

ऑटो डेबिट फैसिलिटी नियम में बदलाव (Auto Debit Facility Rule Change)

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने हाल ही में अनिवार्य किया है कि आपके क्रेडिट कार्ड/डेबिट कार्ड से ऑटो-डेबिट की सुविधा में कुछ समायोजन किए जाएं। टॉप बैंक ने विशेष रूप से जरूरी किया है कि सभी बैंक 'Additional Factor Authentication' करें। इसका मतलब है कि आपके मासिक बिजली बिल पेमेंट, साथ ही मासिक ऑटो-डेबिट ट्रांजेक्शनल सब्सक्रिप्शन जैसे नेटफ्लिक्स, अमेजन प्राइम और अन्य को तब तक प्रोसेस्ड नहीं किया जाएगा जब तक आप अपनी अनुमति नहीं देंगे। बैंक ग्राहकों को पेमेंट से 24 घंटे पहले एक सूचना भेजेगा और अगर आप ट्रांजेक्शन को अधिकृत और प्रमाणित करते हैं, तो आपके खाते से पैसा डेबिट कर दिया जाएगा। यह सूचना एसएमएस या ईमेल के जरिए भेजी जा सकती है।

पेंशन नियम में बदलाव (Pension Rule Change)

डिजिटल जीवन प्रमाणपत्रों को नियंत्रित करने वाले कानून 1 अक्टूबर, 2021 से बदल गए हैं। 80 वर्ष से अधिक आयु का कोई भी व्यक्ति पात्र है। अक्टूबर में, 80 वर्ष से अधिक आयु के रिटायर व्यक्ति देश के किसी भी हेड पोस्ट ऑफिस के जीवन प्रमाण सेंटर में अपना डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट जमा कर सकेंगे। इस कार्य की समाप्ति तिथि 30 नवंबर, 2021 निर्धारित की गई है। भारतीय डाक विभाग से यह गारंटी देने का अनुरोध किया गया है कि इन जीवन प्रमाण केंद्रों की आईडी सक्रिय है, भले ही वे इस असाइनमेंट की व्यापक प्रकृति के कारण पहले से ही बंद हैं।

निवेश नियम में बदालव (Investments Rule Change)

भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (SEBI) ने एक नियम बनाया है जो म्यूचुअल फंड निवेशकों के हितों की रक्षा करता है। यह कानून उन जूनियर कर्मचारियों पर लागू होगा जो एसेट अंडर मैनेजमेंट कंपनी (AMC) के लिए काम करते हैं, जिसे अक्सर म्यूचुअल फंड हाउस के रूप में जाना जाता है। 1 अक्टूबर, 2021 से, मैनेजमेंट के तहत असेट्स के जूनियर कर्मचारियों को अपने सकल वेतन का 10% उस म्यूचुअल फंड की यूनिट में निवेश करना होगा। फेज बाय फेज मॉडल का पालन करते हुए, इन कर्मचारियों को अक्टूबर 2023 में अपने वेतन का 20% निवेश करना होगा। इस निवेश के लिए लॉक-इन अवधि होगी।

दिल्ली में प्राइवेट शराब की दुकानें बंद (Private Liquor Shops Close in delhi)

दिल्ली में निजी शराब की दुकानें आज (1 अक्टूबर) से बंद हो रही हैं और 16 नवंबर, 2021 तक बंद रहेंगी। तब तक सिर्फ सरकारी दुकानें खुलेंगी। दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के अनुसार नई एक्साइज पॉलिसी राजधानी को 32 जोन में बांटेगी। यह बदलाव लाइसेंस के अलॉटमेंट को लेकर किया गया। नई गाइडलाइन के मुताबिक 17 नवंबर से नई नीति के तहत आने वाली दुकानें ही संचालित हो सकेंगी।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर