EXCLUSIVE: वित्त मंत्री निर्मला बोलीं- "टैक्स की दरें वाजिब हैं तो उसे देने में कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए"

वित्त मंत्री  निर्मला सीतारमण ने बजट पेश करने के बाद "ET Now" को दिए 'एक्सक्लूसिव इंटरव्यू' में कॉर्पोरेट टैक्स, डीडीटी, इनकम टैक्स स्लैब से लेकर बजट के अहम मुद्दों पर खास बातचीत की।

EXCLUSIVE: वित्त मंत्री निर्मला बोलीं-
ET Now ने बजट को डिकोड करने के लिए वित्त मंत्री खास बातचीत की 

नई दिल्ली: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (FM Nirmala Sitaraman) ने संसद में अपना दूसरा बजट (Budget) पेश किया और इसमें उन्होंने कई अहम एलान किए वहीं टैक्स पेयर्स (Tax Payers) को कुछ राहत देने की कोशिश की साथ ही एग्रीकल्चर, रोजगार और इंडस्ट्री को लेकर भी कई घोषणाएं की हैं। 'ET Now' ने बजट को डिकोड करने के लिए वित्त मंत्री से खास बातचीत की, बजट पेश करने के बाद दलाल स्ट्रीट में भारी गिरावट के बारे में पूछे जाने पर, सीतारमण ने कहा कि बाजार आज पूरी तरह फुल फोर्स में नहीं था।

गौरतलब है कि शनिवार को इंट्राडे ट्रेडिंग के दौरान 1000 अंकों की गिरावट के बाद बीएसई सेंसेक्स 987.96 अंक या 2.43% गिरकर 39,735.53 अंक पर बंद हुआ। इस बीच निफ्टी 300.25 अंक या 2.51% की गिरावट के साथ 11,661.85 पर बंद हुआ। वित्त मंत्री ने कहा कि वह कुछ भी निष्कर्ष निकालने से पहले सोमवार तक इंतजार करेगी, 'बजट पर आज की बाजार की प्रतिक्रिया से बाहर कुछ भी नहीं होगा।' 

नयनतारा राय और 'ET Now' के कंसलटिंग एडीटर स्वामीनाथन अय्यर के साथ बजट के बाद की बातचीत में वित्त मंत्री ने कहा कि बुनियादी ढांचे पर सरकार का खर्च निश्चित रूप से ठीक है। उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि आर्थिक स्थिति के बावजूद, सरकार ने कॉर्पोरेट टैक्स, डीडीटी को समाप्त करने और पर्सनल इनकम टैक्स पर अच्छा काम किया है।

 

 

विनिवेश के बारे में सवाल का जवाब देते हुए, उन्होंने कहा कि हमें विनिवेश विभाग के लिए निष्पक्ष होना होगा, उन्होंने कहा कि जुलाई 2019-फरवरी 2020 के बीच सरकार ने एआई, बीपीसीएल पर काफी काम किया है।

सीतारमण ने बजट में घोषित किए गए कर परिवर्तनों का जिक्र करते हुए कहा कि 'सरकार अप्रवासी भारतीयों के लिए टैक्स दरों को और अधिक अनुकूल बनाने और भारत में काम करने के लिए अनुकूल बना रही है।'

 

अगली खबर