Instant PAN Card: खबर आपके काम की, अब आप आधार के जरिए मुफ्त में बना सकते हैं अपना पैन कार्ड

बिजनेस
किशोर जोशी
Updated May 29, 2020 | 13:29 IST

Instant PAN through Aadhaar: अगर आपके पास आधार कार्ड है और पैन कार्ड नहीं है तो यह खबर आपके लिए बेहद जरूरी है। अब आपको अपना पैन नंबर बनाने के लिए कहीं भटकने की जरूरत नहीं है।

Finance minister Nirmala Sitharaman  launches facility of Instant PAN through Aadhaar based e-KYC
Instant PAN Card: अब आप आधार के जरिए मुफ्त में बना सकते हैं अपना पैन कार्ड 

मुख्य बातें

  • अब आप अपने कार्ड कार्ड के आधार पर तत्काल बना सकते हैं पैन कार्ड
  • इस प्रक्रिया की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसमें वक्‍त नहीं लगता और यह सुविधा मुफ्त में मिल रही है
  • वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को किया इसका उद्घाटन

नई दिल्ली:  अगर आपके पास आधार कार्ड है और UIDAI के डाटाबेस में आपका मोबाइल नंबर रजिस्‍टर्ड है तो फिर आपका पैन नंबर मुफ्त में तुरंत बन जाएगा। केन्द्रीय बजट में की गई घोषणा के अनुरूप, केंद्रीय वित्त और कॉर्पोरेट मामलों की मंत्री निर्मला सीतारमण ने आधार के जरिए तत्काल ऑनलाइन पैन कार्ड प्राप्त करने की सुविधा का आज यहां शुभारंभ कर दिया है।

यह सुविधा उन पैन आवेदकों के लिए उपलब्ध है जिनके पास पंजीकृत मोबाइल नंबर के साथ वैध आधार नंबर मौजूद है। इसकी आवंटन प्रक्रिया कागज रहित है और इसके जरिए इलेक्ट्रॉनिक पैन (ई-पैन) आवेदकों को निशुल्क जारी किया  जाता है। केन्द्रीय बजट 2020 में वित्त मंत्री ने तत्काल पैन प्राप्त करने की सुविधा शुरू करने की घोषणा की थी। आधार आधारित ई-केवाईसी के माध्यम से तत्काल पैन की सुविधा की भले ही आज औपचारिक शुरुआत की गई हो लेकिन इसका ‘बीटा संस्करण’ परीक्षण के आधार पर आयकर विभाग की ई-फाइलिंग वेबसाइट पर 12 फरवरी 2020 को ही शुरू कर दिया गया था। तब से लेकर 25 मई 2020 तक लगभग प्रति 10 मिनट में 6,77,680 पैन आवंटित किए जा चुके हैं।

Instant PAN through Aadhaar- कैसे करे आवेदन- Instant PAN Apply Online

Instant PAN के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया बहुत सरल है जिसके लिए आपको ये नियम फॉलो करने होंगे-

  1. तत्काल पैन प्राप्त करने के लिए आवेदक को आयकर विभाग की ई-फाइलिंग वेबसाइट पर जाकर अपना वैध आधार नंबर डालना होता है।
  2. इसके बाद उसके पंजीकृत मोबाइल नंबर एक ओटीपी नंबर आता है जिसे उसे वेबसाइट पर डालना होता है।
  3. इसके साथ ही आवेदन की प्रक्रिया पूरी होते एक 15 अंकों वाली पावती संख्या प्राप्त होती है। इसके आधार पर आवेदक अपना ई पैन डाउनलोड कर सकता है।
  4. यदि आवश्यकता पड़े तो वह किसी भी समय पावती संख्या के आधार पर अपने अनुरोध की स्थिति की जांच कर सकता है।
  5. यदि पैन नंबर आधार के साथ पंजीकृत है तो इसे आवेदक के ई-मेल पते पर भी भेजा जाता है।

दरअसल तत्काल पैन सुविधा का शुभारंभ आयकर विभाग द्वारा डिजिटल इंडिया की ओर बढ़ाया गया एक और कदम है, जिससे करदाताओं के लिए नियमों का अनुपालन और आसान बनाया गया है।

अगली खबर