वित्त मंत्री ने मोबाइल ATM वैन को दिखाई झंडी, 3000 लाभार्थियों को मिला कुल 205 करोड़ का लोन

बिजनेस
डिंपल अलावाधी
Updated Aug 24, 2022 | 13:17 IST

Finance Minister Nirmala Sitharaman: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बैंकर कॉन्क्लेव को संबोधित करते हुए उम्मीद जताई कि हर सरकारी स्कीम वास्तविक लाभार्थियों तक पहुंचेगी। उन्होंने कहा कि बैंकों को राज्य के हर एक कोने में रहने वाले लोगों तक पहुंचने के लिए प्रयास करने होंगे।

Finance Minister Nirmala Sitharaman handed over loan of 205 crore to over 3000 beneficiaries
खुशखबरी: 3000 लाभार्थियों को मिला कुल 205 करोड़ का लोन  |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • नगालैंड की सरकार ने बैंकर कॉन्क्लेव का आयोजन किया।
  • यह तीन दिन के कॉरपोरेट सामाजिक दायित्व (CSR) और निवेश कॉन्क्लेव का हिस्सा है।
  • सीतारमण ने सोमवार को इस सम्मेलन का उद्घाटन किया था।

नई दिल्ली। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने 3,000 से ज्यादा लाभार्थियों को बड़ी राहत दी है। केंद्रीय वित्त और कॉरपोरेट मामलों की मंत्री ने 205 करोड़ रुपये का लोन वितरित किया। इतना ही नहीं, उन्होंने नागालैंड में मुख्यमंत्री सूक्ष्म वित्त योजना (CM Micro Finance Scheme) का भी शुभारंभ भी किया। उत्तर-पूर्वी राज्य की अपनी यात्रा के दूसरे दिन, उन्होंने मोन जिले में एक प्राइवेट बैंक की एक ब्रांच का भी उद्घाटन किया और Mokokchung जिले के ग्रामीण लोगों की सेवा के लिए एक मोबाइल एटीएम वैन (Mobile ATM Van) को झंडी दिखाई।

बैंकर कॉन्क्लेव में शामिल हुईं सीतारमण 
वित्त मंत्री बैंकर कॉन्क्लेव / क्रेडिट आउटरीच प्रोग्राम में शामिल हुईं। इस दौरान उन्होंने 11 प्रमुख स्कीम के 3,422 लाभार्थियों को 205 करोड़ रुपये का लोन दिया। उल्लेखनीय है कि इन योजनाओं के तहत कुल 3,837 लाभार्थियों को 223 करोड़ रुपये का कर्ज दिया जाना है।

इन योजनाओं के तहत दिया गया लोन 
प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, किसान क्रेडिट कार्ड (Kisan Credit Card), प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (Pradhan Mantri Mudra Yojana), अनुसूचित जनजाति, अनुसूचित जाति और महिला उद्यमियों के लिए स्टैंडअप इंडिया योजना और नाबार्ड की योजना सहित 11 योजनाओं के तहत लोन दिया गया। इस संदर्भ मेंवअधिकारियों ने कहा कि होम लोन और व्हीकल लोन जैसे रिटेल बैंकिंग खंड के तहत भी कर्ज दिया गया है।

मालूम हो कि 2011 की जनगणना के अनुसार, नगालैंड की जनसंख्या 19.80 लाख है। वित्त मंत्री ने कहा, नगालैंड की 70 फीसदी आबादी कृषि कार्यों में लगी हुई है, लेकिन किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) के लाभार्थियों की संख्या सिर्फ 2.3 लाख है। उन्होंने कहा, बैंकों को ज्यादा बैंकिंग मित्रों यानी बैंक कॉरस्पॉन्डेंट की नियुक्ति करनी चाहिए। इससे सभी पात्र लाभार्थियों तक सरकारी स्कीम का लाभ जल्दी पहुंच सकेगा।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर