Elon Musk की स्टारलिंक को झटका, 3 महीने में ही इंडिया के प्रमुख ने दिया इस्तीफा

बिजनेस
डिंपल अलावाधी
Updated Jan 05, 2022 | 16:15 IST

स्टारलिंक के भारत प्रमुख के रूप में संजय भार्गव का कार्यकाल 1 अक्टूबर को शुरू हुआ था। उन्होंने इससे पहले एलन मस्क के साथ एक वैश्विक टीम में काम किया था।

Starlink India head Sanjay Bhargava steps down
3 महीने में ही स्टारलिंक इंडिया के प्रमुख ने दिया इस्तीफा (Pic: iStock) 
मुख्य बातें
  • स्टारलिंक इंडिया के कंट्री निदेशक संजय भार्गव ने इस्तीफा दे दिया है।
  • बिना अनुमति के सैटेलाइट इंटरनेट की प्री-बुकिंग के मामले में कंपनी पहले ही सरकार के निशाने पर है।
  • भार्गव का आखिरी कार्य दिवस 31 दिसंबर 2021 था।

नई दिल्ली। स्टारलिंक (Starlink) इंडिया के कंट्री निदेशक संजय भार्गव (Sanjay Bhargava) ने पद से इस्तीफा दे दिया है। दरअसल सरकार ने कुछ हफ्ते पहले कहा था कि स्टारलिंक इंटरनेट सर्विसेज के पास भारत में उपग्रह आधारित इंटरनेट सेवाएं देने के लिए लाइसेंस नहीं है। सरकार ने लोगों को एलन मस्क (Elon Musk) के समर्थन वाली कंपनी द्वारा सेवा नहीं लेने की सलाह दी थी। क्षेत्र नियामक ने देश में सैटेलाइट ब्रॉडबैंड सेवाओं की पेशकश करने के लिए बिना किसी लाइसेंस या ऑथराइजेशन के प्री-बुकिंग लेने के लिए अमेरिकी प्रमुख की भारतीय शाखा को फटकार लगाई है।

जानें क्यों दिया इस्तीफा
संजय भार्गव ने लिंक्डइन पोस्ट के जरिए इस्तीफे की जानकारी दी। मालूम हो कि स्टारलिंक ने 99 डॉलर (7,400 रुपये) वापस करना शुरू कर दिया था, जो उसने 7,000 भारतीय नागरिकों से प्री-बुकिंग के ऑर्डर के चलते जमा किए थे। भार्गव ने मंगलवार को लिंक्डइन में कहा कि, 'मैंने व्यक्तिगत कारणों की वजह से स्टारलिंक इंडिया के बोर्ड के कंट्री डायरेक्टर और चेयरमैन का पद छोड़ दिया है। मेरा आखिरी कार्य दिवस 31 दिसंबर 2021 था। मैं इस पर कोई टिप्पणी नहीं करूंगा।'

स्टारलिंक के भारत प्रमुख के रूप में भार्गव का छोटा कार्यकाल 1 अक्टूबर को ही शुरू हुआ था। उन्होंने इससे पहले मस्क के साथ एक वैश्विक टीम के हिस्से के रूप में काम किया था, जिसने इलेक्ट्रॉनिक भुगतान फर्म, PayPal की स्थापना की थी।

अक्टूबर 2021 तक मिले 5000 से अधिक प्री-ऑर्डर 
दूरसंचार विभाग (DoT) द्वारा कंपनी को चेतावनी मिलने के बाद, कि उसने देश में सेवाएं प्रदान करने के लिए लाइसेंस हासिल नहीं किया है, स्टारलिंक ने नवंबर 2021 में भारत में प्री-ऑर्डर लेना बंद कर दिया। स्टारलिंक को अक्टूबर 2021 तक 5000 से अधिक प्री-ऑर्डर मिल चुके थे।

इससे पहले दिसंबर में भार्गव ने कहा था कि स्टारलिंक का लक्ष्य 31 जनवरी 2022 तक एक वाणिज्यिक लाइसेंस के लिए आवेदन करना है। स्टारलिंक ने दो गाइड भी तैयार किए हैं - एक व्यक्तियों और निजी क्षेत्र के लिए और एक राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों के लिए। भार्गव ने कहा कि यह निश्चित नहीं है कि भारत में यह सेवा कब शुरू होगी।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर