5G Spectrum Auction: दूरसंचार विभाग ने 17 अगस्त तक बढ़ाई भुगतान करने की समय सीमा

बिजनेस
डिंपल अलावाधी
Updated Aug 11, 2022 | 17:34 IST

मुकेश अंबानी की अगुवाई वाली रिलायंस जियो 5G एयरवेव नीलामी में 88,078 करोड़ रुपये खर्च करने वाली सबसे बड़ी बोली लगाने वाली कंपनी थी।

DoT extended deadline to make payments for 5G spectrum
5G Spectrum: सरकार ने बढ़ाई भुगतान करने की समय सीमा (Pic: iStock) 
मुख्य बातें
  • जियो ने सबसे महंगे 700 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम के लिए सभी 22 सर्किल में बोली लगाई थी।
  • नीलामी में भारती एयरटेल ने 43,084 करोड़ रुपये के एयरवेव खरीदे।
  • वोडाफोन आइडिया ने 18,799 करोड़ रुपये की 5G एयरवेव खरीदे।

नई दिल्ली। 16 अगस्त को मुंबई और महाराष्ट्र में बैंकों की छुट्टी होने की वजह से दूरसंचार विभाग (DoT) ने हाल ही में संपन्न हुई 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी (5G Spectrum Auction) के लिए पेमेंट की समय सीमा बढ़ा दी है। इसकी आखिरी तारीख एक दिन आगे बढ़कर 17 अगस्त 2022 हो गई है। उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र में पारसी नव वर्ष (Shahenshahi) के अवसर पर मंगलवार यानी 16 अगस्त 2022 को बैंक बंद (Bank Holiday) रहेंगे।

5G ऑक्शन की नीलामी में दो प्रतिभागी- रिलायंस जियो (Reliance Jio) और वोडाफोन आइडिया (Vodafone Idea) मुंबई में स्थित हैं, जिनको ध्यान में रखते हुए दूरसंचार विभाग ने समय सीमा को आगे बढ़ाने का निर्णय लिया। अन्य कंपनियों में, भारती एयरटेल (Bharti Airtel) का मुख्यालय दिल्ली एनसीआर में है, जबकि नवीनतम प्रवेशकर्ता अडानी नेटवर्क (Adani Networks) अहमदाबाद, गुजरात में स्थित है।

कितने में मिलेगी 5G स्पीड,सबसे पसंदीदा प्लान की क्या होगी कीमत,जानें सब-कुछ

पहले 16 अगस्त थी आखिरी तारीख
उल्लेखनीय है कि भारत में अब तक की सबसे बड़ी एयरवेव्स की नीलामी सात दिनों और 38 राउंड के बाद 1 अगस्त को संपन्न हुई थी। 5 अगस्त को DoT ने 5G नीलामी में सभी चार प्रतिभागियों को 16 अगस्त तक भुगतान करने के लिए डिमांड नोटिस जारी किया था।

क्या है नियम?
रिलायंस जियो, भारती एयरटेल, वोडाफोन आइडिया और अडानी नेटवर्क्स के पास 20 समान सालाना किस्तों में भुगतान करने का विकल्प है। वे पूरी राशि या उसके हिस्से का अपफ्रंट भुगतान करना भी चुन सकते हैं। ऐसा आंशिक भुगतान कम से कम दो साल या उससे ज्यादा के लिए होगा।

रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) की रिलायंस जियो ने 5G स्पेक्ट्रम के लिए सबसे बड़ी बंली लगाई थी। जियो अगर 20 समान किस्तों का विकल्प चुनती है, तो उसे पहली किस्त में 7,864 करोड़ रुपये का भुगतान करना होगा।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर