डोनाल्ड ट्रंप ने TikTok से कहा, '6 सप्ताह में अपना कारोबार बेचो, नहीं तो अमेरिका से बाहर कर दिए जाओगे'

चीन का लोकप्रिय वीडियो ऐप टिकटोक (TikTok) पर भारत के बाद अमेरिका ने प्रतिबंध लगाने के लिए कमर कस चुका है। अपना कारोबार बेचने को कहा है। 

Donald Trump told TikTok to sell your business in 6 weeks otherwise you will be out of America
अमेरिका में  TikTok पर आफत 

वॉशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने चीन की कंपनी वाला लोकप्रिय वीडियो ऐप टिकटोक (TikTok) को 6 सप्ताह के भीतर अमेरिका में चल रहे उसके कारोबार को किसी अमेरिकी कंपनी को बचने का समय दिया है। उन्होंने कहा कि अगर वह ऐसा नहीं करता है तो वह अमेरिका में कारोबार से बाहर हो जाएगा। सरकार इस डील में फाइनेंसियल बेनिफिट चाहती है। ट्रंप ने कहा कि इसे यहां स्वामित्व मिल गया है। हम सुरक्षा में कोई समस्या नहीं चाहते हैं। ट्रम्प ने कहा कि माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) टिकटोक को खरीदने के लिए बातचीत कर रहा था, जिसके दुनिया भर में एक अरब यूजर्स हैं जो अपने स्मार्टफोन ऐप के साथ 60-सेकंड के वीडियो बनाते हैं।

लेकिन अमेरिकी अधिकारियों का कहना है कि ऐप राष्ट्रीय सुरक्षा खतरा का कारण बनता है क्योंकि यह लाखों अमेरिकियों के निजी डेटा को चीनी खुफिया जानकारी के साथ शेयर कर सकता है। ट्रम्प ने कंपनी के चीनी पैरेंट्स बाइटडांस को सितंबर के मध्य तक डील करने के लिए दिया।  उन्होंने कहा कि मैंने 15 सितंबर के आसपास की तारीख तय की, जिस के बाद यह संयुक्त राज्य में व्यवसाय से बाहर होने जा रहा है। जो भी कीमत हो, उन्होंने कहा कि संयुक्त राज्य अमेरिका को उस कीमत का बहुत बड़ा हिस्सा मिलना चाहिए क्योंकि हम इसे संभव बना रहे हैं। ट्रंप ने पिछले सप्ताह लोगों के बीच काफी प्रचलित वीडियो-शेयरिंग ऐप पर रोक लगाने की धमकी दी थी। इस ऐप को लेकर राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा होने की बातें सामने आने के बाद अमेरिकी प्रशासन में चिंता बढ़ी थी।

टैक्नोलॉजी सेक्टर की प्रमुख कंपनी माइक्रोसॉफ्ट ने कहा है कि वह चीन के स्वामित्व वाली वीडियो- शेयरिंग ऐप टिकटॉक के अमेरिकी व्यवसाय को खरीदने के लिए बातचीत जारी रखेगी। कंपनी ने उसके भारतीय मूल के सीईओ सत्या नडेला और राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच हुई बातचीत के बाद यह कहा। माइक्रोसॉफ्ट की तरफ से यह वक्तव्य ट्रंप के एक बयान के बाद सामने आया है। ट्रंप ने कहा है कि वह राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े मुद्दों को लेकर अमेरिका में टिकटॉक पर प्रतिबंध लगाने के लिए आपात आर्थिक शक्तियों अथवा शासकीय आदेश का इस्तेमाल कर सकते हैं।

रेडमॉन्ड मुख्यालय वाले माइक्रोसॉफ्ट ने रविवार को जारी एक वक्तव्य में कहा कि नडेला और ट्रंप के बीच हुई बातचीत के बाद वह अमेरिका में टिकटॉक को खरीदने की संभावनाओं पर विचार-विमर्श जारी रखने को तैयार है। उसने कहा कि वह टिकटॉक की मूल कंपनी बाइटडांस के साथ जल्द से जल्द बातचीत शुरू करेगी और वह 15 सितंबर तक इस बातचीत को पूरा कर लेगी। कंपनी ने कहा कि इस प्रक्रिया के दौरान माइक्रोसॉफ्ट राष्ट्रपति ट्रंप सहित अमेरिका की सरकार के साथ बातचीत जारी रखेगी।

भारत द्वारा टिकटॉक सहित चीन के दर्जनों ऐप पर रोक लगाए जाने के बाद अमेरिका में भी राष्ट्रीय बहस शुरू हो गई है और चीनी ऐप के खिलाफ ऐसा ही कदम उठाए जाने की मांग जोर पकड़ती जा रही है। भारत ने जून में टिकटॉक, यूसी ब्राउजर सहित चीन के 59 ऐप पर रोक लगा दी थी और कहा था कि ये ऐप देश की संप्रभुता, अखंडता और सुरक्षा के लिए हानिकारक हैं।


 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर