वित्त वर्ष 2021 में एक मिलियन डॉलर से अधिक वेतन पाने वाले भारतीय CEO की संख्या में गिरावट

बिजनेस
डिंपल अलावाधी
Updated Dec 22, 2021 | 12:59 IST

वित्त वर्ष 2021 में एक मिलियन डॉलर (7.4 करोड़ रुपये) से अधिक वेतन पाने वाले भारतीय सीईओ की संख्या में लगभग 17 फीसदी की गिरावट आई है। इनकी संख्या 125 हो गई।

Million dollar CEO club
वित्त वर्ष 2021 में एक मिलियन डॉलर से अधिक वेतन पाने वाले भारतीय CEO की संख्या में गिरावट  |  तस्वीर साभार: BCCL
मुख्य बातें
  • मिलियन-डॉलर के वेतन क्लब में सबसे ज्यादा CXO फार्मास्यूटिकल्स क्षेत्र से हैं।
  • प्रमोटर सीएक्सओ और पेशेवर सीएक्सओ द्वारा अर्जित मुआवजे में वृद्धि के बीच अंतर बढ़ा है।
  • मिलियन-डॉलर सैलरी ब्रैकेट में सीईओ या सीएक्सओ की संख्या 150 से घटकर 125 हो गई है।

नई दिल्ली। वित्त वर्ष 2021 में एक मिलियन डॉलर से अधिक वेतन पाने वाले भारतीय सीईओ की संख्या में लगभग 17 फीसदी की गिरावट आई है। टाइम्स ऑफ इंडिया के ईएमए पार्टनर्स (EMA Partners) द्वारा किए गए 'मिलियन-डॉलर सैलरी' (million-dollar salary) अध्ययन के अनुसार, मिलियन-डॉलर सैलरी ब्रैकेट (7.4 करोड़ रुपये से अधिक) में सीईओ या सीएक्सओ की संख्या 150 से घटकर 2020-21 में 125 हो गई। वहीं औसत वेतन 21 फासदा से अधिक बढ़कर 20.4 करोड़ रुपये (वित्त वर्ष 2020 में 16.8 करोड़ रुपये) हो गया।

बीएसई 200 कंपनियों की वार्षिक रिपोर्ट के आधार पर किए गए अध्ययन से पता चला है कि 125 शीर्ष अधिकारियों द्वारा अर्जित कुल मुआवजा 2020-21 में सिर्फ 1.4 फीसदी बढ़कर 2,549 करोड़ रुपये हो गया। वित्त वर्ष 2019 के बाद से कुल मुआवजे में वृद्धि कम हुई है। हालांकि, औसत वेतन में वृद्धि हुई है। FY20 में, औसत वेतन वृद्धि 0.4 फीसदी थी, जबकि FY19 में इसमें 3 फीसदी की गिरावट आई थी।

इस कारण आई गिरावट
क्लब के सिकुड़ने की एक वजह डॉलर के मुकाबले रुपये का कमजोर होना भी है। एक साल में डॉलर के मुकाबले रुपये में लगभग 6 फीसदी की गिरावट आई है। मिलियन-डॉलर के वेतन की गणना करने के लिए, रुपये को 74 प्रति डॉलर पर लिया गया था। इसने 'मिलियन-डॉलर के वेतन क्लब' में शामिल होने के लिए कटऑफ के रूप में 7.4 करोड़ रुपये का वार्षिक मुआवजा निर्धारित किया। FY20 में, डॉलर के मुकाबले रुपया 70 पर था। तब इस क्लब में 150 सदस्य थे।

प्रमोटर CXO और पेशेवर CXO में बढ़ा अंतर
प्रमोटर सीएक्सओ और पेशेवर सीएक्सओ द्वारा अर्जित मुआवजे में वृद्धि के बीच अंतर भी बढ़ा है। समीक्षाधीन वर्ष में, पेशेवर सीएक्सओ ने मुआवजे में 6.4 फीसदी की वृद्धि देखी गई। प्रमोटर सीएक्सओ के कुल मुआवजे में वित्त वर्ष 2021 में 2.3 फीसदी की गिरावट आई। प्रमोटर सीईओ में, सन टीवी के कावेरी और कलानिधि मारन इस साल सूची में सबसे ऊपर हैं। इनको लगभग 88 करोड़ रुपये का मुआवजा दिया गया है। सज्जन जिंदल 73 करोड़ रुपये के मुआवजे के साथ शीर्ष 10 में वापस शामिल हो गए हैं। इसमें लाभ से जुड़ा 60 करोड़ रुपये का कमीशन भी शामिल है।

मिलियन-डॉलर के वेतन क्लब में, 28 सीएक्सओ फार्मास्यूटिकल्स क्षेत्र से हैं, 19 औद्योगिक या विनिर्माण क्षेत्र से हैं, 16 विविध समूह से हैं, 14 ऑटोमोटिव से हैं, 13 वित्तीय सेवाओं से हैं, 10 उपभोक्ता या एफएमसीजी से हैं और 10 आईटी या आईटीई से हैं।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर