विदेशों से भारत आ रहे हैं? यात्रियों के लिए नई गाइडलाइंस आज से लागू

विदेशी उड़ानों से आने वाले यात्रियों के लिए नई गाइडलाइंस आज (22 फरवरी) से लागू हो गई है। अगर आप भारत आ रहे हैं तो इन गाइडलाइन्स हो एक बार जरूर पढ़ लें।

Coming to India from abroad? New guidelines for international flights travelers from today 22 February
अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के लिए नई गाइडलाइंस 

नई दिल्ली: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने हाल ही में कई देशों में कोरोनो वायरस के नए प्रकार के प्रसार के बीच विदेशों से आने वाले उड़ानों और यात्रियों के लिए संशोधित गाइडलाइंस का एक सेट जारी किया। ताजा गाइडलाइंस यूनाइटेड किंगडम, यूरोप और मध्य पूर्व से आने वाली उड़ानों के जरिये आने वाले सभी अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए लागू हैं।

नई मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) आज (22 फरवरी) से लागू हो रही हैं जो अगले आदेश तक जारी रहेंगी। लेट्सेट एसओपी के अनुसार, अगले 14 दिनों के लिए, यूके, यूरोप और मध्य पूर्व से आने वाली उड़ानों से आने वाले सभी विदेशी यात्रियों को अपनी ट्रेवल इतिहास दिखाना होगा।

विदेशों से आने वाले यात्रियों के लिए ये हैं नई गाइलाइंस, जो आज से लागू 

  1. सभी अंतरराष्ट्रीय यात्रियों को निर्धारित यात्रा से पहले ऑनलाइन एयर सुविधा पोर्टल (Air Suvidha portal) पर कोविड के लिए स्व-घोषणा फॉर्म (एसडीएफ) जमा करना होगा।
  2. यात्रियों ऑनलाइन पोर्टल www.newdelhiairport.in पर एक निगेटिव COVID-19 RT-PCR रिपोर्ट भी अपलोड करनी होगी।
  3. यात्रा से 72 घंटे पहले टेस्ट किया गया हो और प्रत्येक यात्री को रिपोर्ट की प्रामाणिकता के संबंध में एक घोषणा पत्र भी प्रस्तुत करना होगा।
  4. उड़ान में बोर्डिंग के समय, थर्मल स्क्रीनिंग के बाद बिना संक्रमित यात्रियों को सवार होने की अनुमति दी जाएगी।
  5. सभी यात्रियों को यात्रा के दौरान मास्क पहनना जरूरी, सोशल डिस्टेंसिंग के मानकों का पालन करना होगा, और आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करना होगा।
  6. नागरिक उड्डयन मंत्रालय की गाइडलाइंस के अनुसार, सीपोर्ट्स/लेंड पोर्ट्स के जरिये आने वाले अंतरराष्ट्रीय यात्रियों को भी उसी प्रोटोकॉल से गुजरना होगा। जिनके पास ऑनलाइन रिजस्ट्रेशन के लिए सुविधा उपलब्ध नहीं है।
  7. एयरलाइंस को यूनाइटेड किंगडम, ब्राजील और दक्षिण अफ्रीका (पिछले 14 दिनों के दौरान) से आने/जाने वाले अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की पहचान की जाएगी और उन्हें फ्लाइट में अलग किया जाएगा।
  8. यूनाइटेड किंगडम, यूरोप या मध्य पूर्व में आने वाली उड़ानों के माध्यम से आने/जाने वाले सभी यात्रियों को अनिवार्य रूप से संबंधित भारतीय एयरपोर्ट्स पर आने पर सेल्फ पेड कंफर्मेटरी मोलेक्युलर टेस्ट करना होगा।
  9. यूरोप और मध्य पूर्व के सभी यात्री  को अपना सेंपल देने होंगे। उसके बाद एयरपोर्ट से बाहर निकलेंगे। अगर टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव है, तो उन्हें 14 दिनों के लिए अपने स्वास्थ्य की निगरानी करने की सलाह दी जाएगी। अगर टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव है, तो उन्हें मानक स्वास्थ्य प्रोटोकॉल के अनुसार इलाज से गुजरना होगा।

भारत में शेड्यूल अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानें निलंबित हैं। कोरोना वायरस महामारी के बीच 23 मार्च से अंतरराष्ट्रीय उड़ान संचालन निलंबित कर दिया गया है। भारत के लिए और वर्तमान में विभिन्न देशों के साथ एयर बबल समझौतों के लिए विदेशी उड़ानों का संचालन किया जाता है। दूसरी ओर कोरोना वायरस लॉकडाउन के दो महीने के बाद घरेलू उड़ानें 25 मई से भारत में फिर से शुरू हुईं।
 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर