एयर इंडिया पर बड़ा साइबर अटैक, 45 लाख यात्रियों के पर्सनल डेटा और क्रेडिट कार्ड डिटेल चोरी

एयर इंडिया समेत ग्लोबल एयरलाइंस पर बड़ा साइबर अटैक हुआ है, जिसमें 45 लाख यूजर्स के पर्सनल डेटा चोरी हुई है।

Big cyber attack on Air India, theft of personal data and credit card details of 45 lakh passengers
एयर इंडिया के यात्रियों के डिटेल चोरी 

मुख्य बातें

  • एयर इंडिया समेत दुनिया के कई एयरलाइंस यात्रियों के पर्सनल डेटा चोरी हुई।
  • करीब 45 लाख यात्रियों का डेटा चुराया गया है।
  • अन्य कई जानकारियों के साथ-साथ क्रेडिट कार्ड डेटा जैसे डिटेल लीक हुए।

नई दिल्ली: एयर इंडिया समेत ग्लोबल एयरलाइंस पर बड़ा साइबर अटैक हुआ है, जिसमें 45 लाख यूजर्स के पर्सनल डेटा लीक हो गया है। इसमें करीब 45 लाख यात्रियों का डेटा चुराया गया है। इसमें भारत ही नहीं दुनिया भर के यात्री शामिल हैं। क्रेडिट कार्ड का भी डिटेल चोरी हुआ है। एअर इंडिया ने अपनी वेबसाइट पर यह जानकारी दी है।

एयर इंडिया ने शुक्रवार को एक बयान जारी कर अपने यात्रियों को सूचित किया कि उसका SITA PSS सर्वर, जो यात्रियों की व्यक्तिगत जानकारी के स्टोरिंग और प्रोसेसिंग के लिए जिम्मेदार है। उस पर साइबर हमला हुआ है। जिसमें 26 अगस्त, 2011 और 20 फरवरी, 2021 के बीच रजिस्टर्ड व्यक्तिगत डेटा की चोरी हुई है।

इस साइबर हमले में नाम, जन्मतिथि, कॉन्टैक्ट जानकारी, पासपोर्ट डिटेल, टिकट की जानकारी, स्टार एलायंस और एयर इंडिया के फ्रीक्वेंट फ्लायर डेटा के साथ-साथ क्रेडिट कार्ड डेटा जैसे डिटेल लीक हुए थे। साइबर हमले ने मलेशिया एयरलाइंस, फिनएयर, सिंगापुर एयरलाइंस, लुफ्थांसा और कैथे पैसिफिक जैसी अन्य एयरलाइनों के यात्रियों को भी प्रभावित किया है। हालांकि, एयरलाइन ने कहा कि ग्राहकों के क्रेडिट कार्ड के सीवीवी/सीवीसी नंबर उसके डेटा प्रोसेसर के पास नहीं थे, इसलिए लीक होने का कोई डर नहीं है।

एयर इंडिया ने रिलीज जारी करते हुए कहा कि यह सूचित करना है कि SITA PSS यात्री सर्विस सिस्टम (जो यात्रियों की व्यक्तिगत जानकारी के भंडारण और प्रसंस्करण के लिए जिम्मेदार है) के हमारे डेटा प्रोसेसर को हाल ही में साइबर सुरक्षा हमले के अधीन किया गया था, जिससे कुछ यात्रियों का व्यक्तिगत डेटा लीक हो गया था। इस घटना ने दुनिया में करीब 4,500,000 डेटा को प्रभावित किया।

एयर इंडिया को 25 फरवरी को डेटा उल्लंघन के बारे में पहली जानकारी मिली, और प्रभावित डेटा सब्जैक्ट की पहचान 25 मार्च और 5 अप्रैल को प्राप्त हुई। बयान में आगे कहा गया है कि वर्तमान संचार आज की तारीख में तथ्यों की सटीक स्थिति से अवगत कराने और 19 मार्च, 2021 की हमारी सामान्य घोषणा के पूरक के लिए एक प्रयास है, जो शुरू में हमारी वेबसाइट के माध्यम से किया गया था।

यात्रियों को स्थिति से अवगत कराते हुए, एयरलाइंस ने सभी से अनुरोध किया कि वे एयर इंडिया की वेबसाइट पर और जहां कहीं भी लागू हो, अपने खातों में पासवर्ड बदलें। एयर इंडिया ने बयान में कहा कि हालांकि हम और हमारे डेटा प्रोसेसर उपचारात्मक कार्रवाई करना जारी रखते हैं, लेकिन उपरोक्त तक सीमित नहीं हैं, हम यात्रियों को उनके व्यक्तिगत डेटा की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए जहां कहीं भी लागू हो, पासवर्ड बदलने के लिए प्रोत्साहित करेंगे। हमारे ग्राहकों के व्यक्तिगत डेटा की सुरक्षा सबसे महत्वपूर्ण है। हमारे लिए और हमें गहरा खेद है, असुविधा हुई और हमारे यात्रियों के निरंतर समर्थन और विश्वास की सराहना करते हैं।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर