Ayushman Bharat Yojna Registration: आयुष्मान भारत योजना के लिए ऐसे करें रजिस्ट्रेशन, 1 करोड़ को मिला लाभ

PMJAY : प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना के तहत अब एक करोड़ से अधिक लोगों ने 5 लाख रुपए तक का फ्री इलाज कराया है। इस योजना के लिए आप ऐसे करा सकते हैं अपना रजिस्ट्रेशन।

 Ayushman Bharat Yojna Registration: How to register for PMJAY, till now one crore people got benefits
आयुष्मान भारत योजना के लिए ऐसे करें रजिस्ट्रेशन 

मुख्य बातें

  • आयुष्मान भारत स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत अबतक एक करोड़ से अधिक लोगों ने इलाज कराया है
  • इस योजना के तहत किसी भी सरकारी अस्पताल और प्राइवेट स्वास्थ्य केंद्र में 5 लाख तक का मुफ्त इलाज करा सकते है
  • इस योजना अंतर्गत दवाई  की लागत ,मेडिकल, सरकार द्वारा प्रदान जाती है और 1350 बीमारियों का इलाज कराया जाता है

नई दिल्ली : आयुष्मान भारत स्वास्थ्य बीमा योजना का सितंबर 2018 में शुरू होने के बाद से देशभर में अब तक एक करोड़ से अधिक लोगों ने इस योजना के तहत फ्री इलाज कराया है। इस योजना के तहत आने वाले लोगों ने देशभर के विभिन्न अस्पतालों में करीब 13,412 करोड़ रुपए का फ्री इलाज का लाभ उठाया है। लोगों ने इस योजना के तहत सबसे अधिक हड्डी रोग, हृदय रोग, हृदय और वक्ष रोग, नस संबंधी रोग, विकिरणों से होने वाले कैंसर तथा मूत्र रोगों के लिए इलाज कराया। PMJAY 2020 के तहत  जन सेवा केंद्र में आयुष्मान मित्र के माध्यम से गोल्डन कार्ड बनाए जा रहे है इस गोल्डन कार्ड के माध्यम से आप किसी भी सरकारी अस्पताल तथा प्राइवेट स्वास्थ्य केंद्र में 5 लाख तक का मुफ्त इलाज करा सकते है। इस योजना अंतर्गत दवाई  की लागत ,मेडिकल, सरकार द्वारा प्रदान की जाती  है और 1350 बीमारियों का इलाज कराया जाता है।

PMJAY के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें? 

  1. सर्वप्रथम प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना की ओफिसिअल वेबसाइट @pmjay.gov.in पर जाएं।
  2. इसके पश्चात् आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर 'AM I Eligible'  का विकल्प दिखाई देगा इस विकल्प पर क्लिक कर दीजिए। विकल्प पर क्लिक करने के बाद एक नई विंडो खुलेगी।
  3. इसके बाद योग्य अनुभाग के तहत लॉगिन के लिए अपने मोबाइल  नंबर को OTP के साथ सत्यापित करें।
  4. लॉगिन करने के पश्चात् प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना में अपने परिवार की पात्रता की जांच करे इसके बाद  दो  विकल्प दिखाई देंगी पहले विकल्प में अपने राज्य चुने।
  5. इसके पश्चात्  फिर दूसरे विकल्प में तीन कटैगरी मिलेंगी नाम से अपने राशन कार्ड से तथा मोबाइल नंबर से खोजे दी गई श्रेणियों में से एक को चुन सकते है| इसके बाद सब्मिट के बटन पर क्लिक कर दीजिए।

ये हैं दस्तावेज जरूरी
आधार कार्ड, राशन कार्ड, मोबाइल नंबर, पते का सबूत

ऑफलाइन आवेदन कैसे करें?

  1. जो लाभार्थी इस योजना के अंतर्गत रेजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन करना चाहते है वो हमारी पंजीकरण प्रकिया को ध्यान पूर्वक पड़े और इस योजना लाभ उठाएं।
  2. सर्वप्रथम प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना के तहत आवेदन करने के लिए जान सेवा केंद्र (CSC) में जाएं और अपने सभी मूल दस्तावेज की छाया प्रति  को जमा कर दे।
  3. इसके पश्चात् जनसेवा केंद्र (CSC) के एजेंट द्वारा सभी दस्तावेज़ों का सत्यापन करके योजना के तहत रजिस्ट्रेशन सुनिश्चित करेंगे। आपको रजिस्ट्रेशन प्रदान करेंगे
  4. इसके पश्चात् 10 से 15 दिन के बाद आपको जन सेवा केंद्र के द्वारा आयुष्मान भारत का गोल्डन कार्ड प्रदान किया जाएगा। इस प्रकार आपका रिस्ट्रेशन सफल हो जाएगा। 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने आज ट्वीट किया कि यह घोषणा करते हुए खुशी हुई कि आयुष्मान भारत के जरिए 1 करोड़ लोगों का इलाज किया गया। यह एक और मील का पत्थर पार कर लिया है! आगे उन्होंने लिखा कि 'Ayushman Bharat PMJAY: 1 Crore treatments & beyond'पर आज एक विशेष वेबिनार में मेरे साथ जुड़ें, आज दोपहर 2.30 बजे से 3.30 बजे।

इससे पहले बुधवार को हर्षवर्धन ने एक बयान में कहा था कि दो साल से भी कम समय में देश के गरीब परिवारों के एक करोड़ मरीजों को इलाज मुहैया कराना आयुष्मान भारत पीएमजेएवाई के लिए बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने कहा कि भारत सरकार आयुष्मान भारत पीएम-जेएवाई के सभी 53 करोड़ लाभार्थियों को कोविड-19 की निशुल्क जांच और इलाज देने के लिए लगातार प्रयास कर रही है।

देश में आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (एबी-पीएमजेएवाई) के तहत 2,132 लोगों ने कोविड-19 का इलाज कराया या करा रहे हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोविड-19 से निपटने के लिए इस बीमा योजना के तहत अपने 53 करोड़ लाभार्थियों को कोरोना वायरस की फ्री जांच और इलाज की सुविधा दी। एनएचए ने अपने बयान में कहा कि प्राइवेट अस्पतालों समेत 21,565 से अधिक अस्पतालों को अभी तक इस योजना के तहत लाया गया है।

पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में कहा कि यह प्रत्येक भारतीय के लिए गर्व का विषय है कि आयुष्मान भारत के लाभार्थियों की संख्या 1 करोड़ को पार कर गई है । दो वर्ष से भी कम समय में इस कार्यक्रम ने काफी संख्या में लोगों के जीवन पर सकारात्मक प्रभाव डाला है। उन्होंने इस योजना के सभी लाभार्थियों और उनके परिवार के लोगों को शुभकामनाएं दी और उनके अच्छे स्वास्थ्य की कामना की। उन्होंने आयुष्मान भारत से जुड़े सभी डाक्टरों, नर्सो, स्वास्थ्य कर्मियों एवं अन्य लोगों की सराहना करते हुए कहा कि उनके प्रयासों ने ही इसे दुनिया का सबसे बड़ा स्वास्थ्य सेवा कार्यक्रम बनाया है । मोदी ने कहा कि इस योजना ने अनेक भारतीयों का भरोसा जीता है जिसमें खासतौर पर गरीब एवं पिछड़े वर्ग के लोग शामिल हैं। उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत योजना का सबसे बड़ा फायदा इसकी सुगमता है । उन्होंने बताया कि लाभाथिर्यों को गुणवत्तापूर्ण और सस्ती मेडिकल सेवा न केवल रजिस्टर्ड स्थान पर बल्कि भारत के किसी भी हिस्से में उपलब्ध हो सकती है। उन्होंने कहा कि इससे उन लोगों को भी मदद मिलती है जो घर से दूर होते हैं या ऐसे स्थान पर रजिस्टर्ड होते हैं जहां से वे संबद्ध नहीं हैं।

मोदी ने सितंबर 2018 को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना-आयुष्मान भारत की शुरूआत की थी । इसे सरकार प्रायोजित दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य सेवा योजना बताया गया है। इस योजना के तहत गुजरात, तमिलनाडु, छत्तीसगढ़, केरल और राजस्थान ने सबसे अच्छा प्रदर्शन करते हुए इस योजना के तहत सबसे अधिक संख्या में लोगों को इलाज मुहैया कराया गया है।
 

अगली खबर