Credit card Loan : क्रेडिट कार्ड के कर्ज के जाल में फंसे हैं? जानिए कैसे निकलें बाहर

आप क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं। धीरे-धीरे इसके कर्ज के जाल में फंस जाते हैं। यहां आप जानिए इससे कैसे बाहर निकल सकते हैं।

Are you in the trap of credit card debt? Know how to get out
क्रेडिट कार्ड के कर्जों से निकलने के तरीके (तस्वीर-istock) 

मुख्य बातें

  • पैसे की तुरंत जरुरत को पूरा करने में क्रेडिट कार्ड सबसे आसान साधन है।
  • इसके इस्तेमाल में बहुत अधिक सावधान रहना जरूरी है।
  • अगर आप क्रेडिट कार्ड के कर्ज में फंसे हैं तो इससे निकलने के बारे में यहां जानिए।

क्रेडिट कार्ड बहुत ही शानदार फाइनेंशियल टूल्स हैं जो कहीं से भी, किसी भी समय खरीददारी करने की आजादी देते हैं और साथ ही आपको शानदार ऑफर के रिवार्ड भी मिलते हैं, यदि इनका उपयोग समझदारी से किया जाए। अच्छी क्रेडिट कार्ड आदत के लिए बकाया राशि की अनुशासित रिपेमेंट आवश्यक होती है ताकि बहुत तेजी से बढ़ने वाले कर्ज से बचा जा सके। अपनी भुगतान क्षमता से अधिक खर्च करने और समय पर बकाया राशि का भुगतान न करने से, आप कर्ज के जाल में फंस सकते हैं, जो कि आपके वित्तीय स्वास्थ्य के लिए बहुत ही गलत होगा। साथ ही, अगर आप कर्ज के जाल में फंसे हैं, तो आपको अपने क्रेडिट कार्ड के इस्तेमाल के संबंध में बहुत अधिक सावधान रहना होगा तथा और भी अधिक कर्ज के जाल में डूबने से बचना होगा। इस लेख में उन कुछ गलतियों पर प्रकाश डाला गया है, जिनसे आपको क्रेडिट कार्ड का उपयोग करते समय बचना चाहिए। आइए देखते हैं।

कर्ज में होने पर भी खर्च करना

अगर आप पहले से ही क्रेडिट कार्ड के कर्ज में फंसे हैं, तो जब तक आपकी देय राशि का भुगतान नहीं हो जाता है, तब तक और आगे इस्तेमाल करने से बचें। भुगतान न किए गए क्रेडिट कार्ड बकाया राशि पर बहुत अधिक ब्याज चार्ज लगाए जाते हैं जो 40% प्रतिवर्ष तक हो सकते हैं। इसलिए, क्रेडिट कार्ड रखने के पूरे लाभों का आनंद लेने के लिए, समय पर रिपेमेंट करें। आप आसान रिपेमेंट के लिए बकाया राशि को ईएमआई में परिवर्तित करने पर भी विचार कर सकते हैं। प्रत्येक जारीकर्ता के लिए ईएमआई की रिपेमेंट की अवधि अलग-अलग होती है। इससे आप अपनी रिपेमेंट क्षमता के अनुसार ईएमआई की अवधि चुन सकते हैं। लेकिन, याद रखें कि ईएमआई का भुगतान भी तय समय में किया जाना जरूरी होता है।

पूरी पेमेंट न करना

मासिक ब्याज चार्ज के कारण भुगतान न की गई क्रेडिट कार्ड राशि बहुत तेजी से बढ़ती है। अपने क्रेडिट कार्ड की पूरी बकाया राशि का भुगतान न करना एक बहुत ही गंभीर गलती होती है। आपको लिए गए कर्ज के संबंध में प्राप्त होने वाले पेमेंट रिमाइंडर्स को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। याद रखें कि आपकी क्रेडिट रिपोर्ट को आपके क्रेडिट व्यवहार के आधार पर तैयार किया जाता है और तेजी से बढ़ते कर्ज के कारण आपके क्रेडिट स्कोर को नुकसान पहुंच सकता है। किसी लोन या क्रेडिट कार्ड के संबंध में किसी डिफॉल्ट के कारण आपके क्रेडिट स्कोर में बहुत अधिक कमी हो सकती है। इसलिए, आपको क्रेडिट कार्ड भुगतान को पहले अदा करना चाहिए ताकि आप अपने फाइनेंस और अपने क्रेडिट स्कोर पर पड़ने वाले प्रतिकूल प्रभावों को कम से कम कर सकें।

सिर्फ न्यूनतम बकाया राशि का भुगतान करना

यह एक बहुत ही आम धारणा है कि सिर्फ मिनिमम अमाउंट ड्यू (एमएडी/न्यूनतम) देय राशि का भुगतान करने से आप ब्याज चार्ज से बच सकते हैं। किसी भी बिलिंग साइकिल के अंत में एमएडी आमतौर पर कुल बकाया राशि का 5% होती है। एमएडी का भुगतान करने से आपको केवल देरी से भुगतान की फीस से बचने में सहायता मिलती है और साथ ही आपका कार्ड एक्टिव रहता है। ब्याज-मुक्त अवधि की समाप्ति के बाद, आपकी बकाया राशि पर ब्याज लगाना जारी रखा जाएगा। जितनी आप बकाया राशि का भुगतान करने में देरी करेंगे, वह राशि उतनी ही बढ़ती जाएगी, क्योंकि उस पर ब्याज लगाया जाता है।

क्रेडिट कार्ड के जरिए पैसा निकलवाना

एक अन्य गलती जो आपके क्रेडिट कार्ड कर्ज को बदतर कर सकती है, वह इसका इस्तेमाल पैसा निकलवाने के लिए करना है। जब आप नकदी निकलवाने के लिए क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं, तो जारीकर्ता रिपेमेंट की तारीख तक विथड्रावल के पहले दिन से ही एडवांस विथड्रावल फीस लगाते हैं। विथड्रावल चार्ज –निकाली गई राशि के 2.5% से 3.5% के बीच में होते हैं। इसलिए, क्रेडिट कार्ड से नकदी निकलवाने से बचें, खासतौर पर जब आप पहले से ही कार्ड के कर्ज में हैं।

अपने क्रेडिट कार्ड को बंद करना या जारीकर्ता के साथ बकाया को सेटल करना

आपको बकाया राशि को सेटल किए बिना अपने क्रेडिट कार्ड को बंद नहीं करना चाहिए। क्रेडिट कार्ड को बंद करने का अर्थ है कि आप क्रेडिट अकाउंट को बंद कर रहे हैं। इससे आप दो तरह से प्रभावित होते हैं। पहला- आपका उपलब्ध क्रेडिट कम हो जाता है, जिसके मायने हैं कि आपको उपलब्ध सीमा के उच्च प्रतिशत का प्रयोग करने की आवश्यकता होगी, जिससे आपके क्रेडिट स्कोर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। दूसरा- बंद किए गए क्रेडिट कार्ड की उम्र (एज) से आपके सभी क्रेडिट लाइनों की कुल उम्र (एज) भी कम हो जाएगी, और इसका भी आपके क्रेडिट स्कोर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। तीसरा, उधारदाता के साथ बकाया राशि का भुगतान किए बिना सेटलमेंट करना आपके क्रेडिट स्कोर के लिए सबसे खराब बात साबित होगी। इसकी वजह से आपको नए लोन या क्रेडिट कार्ड लेना कठिन हो जाएगा। अच्छा क्रेडिट स्कोर प्राप्त करने के लिए, यह अच्छा रहेगा कि आप अपनी क्रेडिट लाइन को पूरी बकाया राशि का भुगतान करने के बाद ही बंद करते हैं।

क्रेडिट कार्ड के कर्ज से कैसे बाहर निकलें

  1. हर महीने अपनी बकाया राशि का एकमुश्त भुगतान करें। यदि ऐसा संभव नहीं है, तो एक रिपेमेंट प्लान तैयार करें, जिसके ज़रिए से आप हर महीने न्यूनतम देय राशि से अधिक भुगतान कर सकते हैं।
  2. किसी दूसरे कार्ड के लिए बैलेंस ट्रांसफर पर विचार करें, जिसमें आप कम दर पर या बिना किसी चार्ज के एक खास अवधि तक बकाया राशि का भुगतान कर सकते हैं जिसे आमतौर पर प्रोमोशनल ब्याज अवधि कहा जाता है। यह प्रोमोशनल ब्याज अवधि उपयोगी साबित हो सकती है, यदि आपको यह मालूम है कि आप इस अवधि के दौरान भुगतान कर सकते हैं। इस अवधि के बीत जाने के बाद, जारीकर्ता द्वारा बकाया राशि पर ब्याज चार्ज लगाया जाएगा। आप बैलेंस ट्रांसफर के बाद, नए जारीकर्ता से ईएमआई ऑप्शन के बारे में जांच पड़ताल कर सकते हैं।
  3. आप कर्ज के जाल से निकलने के लिए, अपनी बकाया राशि का भुगतान करने के लिए पर्सनल लोन लेने पर भी विचार कर सकते हैं। लेकिन, ऐसा करते समय, आपको अपने क्रेडिट कार्ड ब्याज चार्ज की तुलना में कम ब्याज दर वाला पर्सनल लोन ही लेना चाहिए और यह पर्सनल लोन आपके लिए सही साबित होने वाली रिपेमेंट शर्तों पर ही लिया जाना चाहिए। पर्सनल लोन ब्याज दरें वर्तमान में 8.9% प्रतिवर्ष से लेकर 24% प्रतिशत वार्षिक तक हो सकती हैं।

निष्कर्ष

जब आप क्रेडिट कार्ड के कर्ज में हों, तो अपनी क्रेडिट रिपोर्ट की मासिक जांच करें ताकि आप यह जान सकें कि बढ़ते कर्ज से आपका क्रेडिट स्कोर किस प्रकार से प्रभावित हुआ है। यदि आपका स्कोर कम हो गया है, तो आपको इसमें सुधार करने के लिए ज़रूर कार्रवाई करनी चाहिए।

(इस लेख के लेखक, BankBazaar.com के CEO आदिल शेट्टी हैं)
(डिस्क्लेमर: यह जानकारी एक्सपर्ट की रिपोर्ट के आधार पर दी जा रही है। बाजार जोखिमों के अधीन होते हैं, इसलिए निवेश के पहले अपने स्तर पर सलाह लें।) ( ये लेख सिर्फ जानकारी के उद्देश्य से लिखा गया है। इसको निवेश से जुड़ी, वित्तीय या दूसरी सलाह न माना जाए)

 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर