जून तक भारत में 20 करोड़ वैक्सीन होगी उपलब्ध, 500 से 1000 रुपए होगी प्रति डोज की कीमत

जून तक भारत में कोरोना वैक्सीन की आपूर्ति से बढ़कर 200 मिलियन डोज तक होने की उम्मीद है। सीरम और भारत बायोटेक से उत्पादन में वृद्धि के साथ-साथ स्पुतनिक से आयात होगी। यह वर्तमान में 70 मिलियन है।

200 million vaccine will be available in India by June 2021, price per dose will be 500 to 1000 rupees
कोरोना वैक्सीन  

भारत में वैक्सीन निर्माता उत्पादन प्रक्रिया में तेजी लाने की योजना बना रहे हैं, क्योंकि सरकार ने खरीद प्रक्रिया को उदार बनाने और 18 वर्ष की आयु से ऊपर सभी लोगों को वैक्सीनेशन करने की घोषणा की है। इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार जून से वैक्सीन की आपूर्ति बढ़ने की उम्मीद है।

मंगलवार को पीएम नरेंद्र मोदी के साथ एक बैठक में वैक्सीन निर्माताओं को उत्पादन क्षमता बढ़ाने के लिए कहा गया था। एडार पूनावाला के सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) को मई तक उत्पादन क्षमता में वृद्धि होने की उम्मीद है।

जून तक भारत में वैक्सीन की आपूर्ति से बढ़कर 200 मिलियन डोज तक होने की उम्मीद है। सीरम और भारत बायोटेक से उत्पादन में वृद्धि के साथ-साथ स्पुतनिक से आयात होगी। यह वर्तमान में 70 मिलियन है।

सरकार ने राज्यों और प्राइवेट अस्पतालों को भी वैक्सीन निर्माताओं से कीमतों पर बातचीत करने के लिए कहा। बदले में निर्माताओं ने सरकार से अनुरोध किया है कि उन्हें विश्व स्तर पर प्रतिस्पर्धी बनाने के लिए वैक्सीन की कीमत तय की जाए।

भारत बायोटेक ने मंगलवार को कहा कि  कोविद-19 डोज का उत्पादन 700 मिलियन तक बढ़ेगा और 60 देशों को वैक्सीन निर्यात करने की योजना है। इसने अंतर्राष्ट्रीय बाजार के लिए 15-20 डॉलर प्रति वैक्सीन की कीमत रखी।

ईटी रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि भारत में औसतन वैक्सीन खुराक की कीमत 500-1,000 रुपए प्रति वैक्सीन के बीच होने की संभावना है। यह अधिकतम खुदरा मूल्य होगा, जिसमें सच्चे मार्जिन और निर्माता को करीब 650 रुपए प्रति डोज प्राप्त होंगे।

वैक्सीन निर्माताओं को वैक्सीन की कीमत घोषित करने की आवश्यकता होगी क्योंकि वे प्राइवेट अस्पतालों और उद्योगों सहित बाजार में आपूर्ति करेंगे।

भारत सरकार अब तक कम कीमतों पर टीके खरीद रही है। एस्ट्राजेनेका का कोविड -19 वैक्सीन अब तक कम कीमतों पर खरीदा जाता है। वहीं प्रति डोज अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 3-6 डॉलर में बेचता है।

राष्ट्रीय वैक्सीन रणनीति का फेज 3, 1 मई 2021 से शुरू होगा। उसी के तहत, वैक्सीन निर्माता अपनी मासिक सेंट्रल ड्रग्स लेबोरेटरी (सीडीएल) की 50% आपूर्ति केंद्र सरकार को जारी करेंगे और आपूर्ति करने के लिए स्वतंत्र होंगे। शेष 50% डोज राज्य सरकारों और ओपन मार्केट के लिए होंगे।

निर्माता पारदर्शी रूप से 50% आपूर्ति के लिए मूल्य की अग्रिम घोषणा करेंगे जो राज्य सरकारों और 1 मई 2021 से पहले खुले बाजार में उपलब्ध होगी। इस मूल्य के आधार पर, वैक्सीन निर्माताओं से राज्य सरकारें, प्राइवेट अस्पताल, औद्योगिक प्रतिष्ठान आदि खरीद सकेंगे। 

निजी टीकाकरण प्रदाता पारदर्शी रूप से अपने स्व-निर्धारित टीकाकरण मूल्य की घोषणा करेंगे। इस चैनल के माध्यम से पात्रता सभी वयस्कों के लिए खोली जाएगी, यानी 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोग को वैक्सीन लगाई जाएगी।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर