कार कंपनियों पर नया संकट, सेमी कंडक्टर बिगाड़ सकता है त्योहारों का मजा !

New crisis of car companies: कोरोना की मार से जूझ रही कार कंपनियों के लिए सेमी कंडक्टर का नया संकट खड़ा हो गया है। जिससे त्याहोरी सीजन कंपनियों और ग्राहकों के लिए फीका पड़ सकता है।

Car Sales in Festive season
सेमी कंडक्टर की किल्लत से कार कंपनियों के प्रोडक्शन पर असर  |  तस्वीर साभार: ANI

मुख्य बातें

  • त्योहारी सीजन में ग्राहकों को अपनी पसंद के मॉडल मिलने में दिक्कत आ सकती है। फेस्टिव स्कीम का भी फायदा नहीं मिलने की संभावना है।
  • मलेशिया, फिलीपींस, इंडोनेशिया जैसे देशों में लॉकडाउन की वजह से सेमी कंडक्टर का प्रोडक्शन ठप हो गया है।
  • जुलाई में कार डीलर्स के पास 25-30 दिन और दो पहिया डीलर्स के पास 20-25 दिन की इन्वेंट्री बची हुई है।

नई दिल्ली:  पहले से ही कोरोना की मार से जूझ रही कार कंपनियों के लिए नया संकट खड़ा हो गया है। यह संकट सेमी कंडक्टर का है। संकट का आलम यह है कि कार कंपनियों ने अपना प्रोडक्शन घटा दिया है। जिसकी वजह से त्योहारों को देखते हुए बढ़ी मांग की आपूर्ति ऑटो डीलर्स नहीं कर पा रहे हैं। ऐसी स्थिति में  कार खरीदने का प्लान करने वाले ग्राहकों को अपनी पसंद की कार खरीदने के लिए लंबा इंतजार करना पड़ सकता है। या फिर उन्हें अपने पसंदीदा मॉडल से समझौता करना पड़ सकता है। 

फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (FADA) ने तो बकायदा बिक्री पर होने वाले असर पर चेतावनी दे डाली है।  एसोसिएशन के प्रेसिडेंट विंकेश गुलाटी के अनुसार ऑटो डीलर्स अपने बिजनेस के सबसे चुनौती पूर्ण दौर से गुजर रहे हैं। एक तो कोविड-19 की वजह से बिजनेस पर निगेटिव असर हुआ है। दूसरी तरफ जब पैंसेजर वाहनों की मांग मे तेजी आई तो सेमी कंडक्टर की कमी हो गई है। डीलर्स को लग रहा था कि त्योहारों में अच्छी मांग आएगी लेकिन सेमी कंडक्टर की किल्लत ने उम्मीदों पर पानी फेर दिया है। इस कारण इनवेंट्री लेवल निचले स्तर पर पहुंच गया है। जुलाई में कार डीलर्स के पास 25-30 दिन और दो पहिया डीलर्स के पास 20-25 दिन की इन्वेंट्री बची हुई है।

क्यों है दिक्कत

हुंडई मोटर्स इंडिया के एक वरिष्ठ अधिकारी ने  टाइम्स नाउ नवभारत डिजिटल से किल्लत को स्वीकारते हुए कहा "देखिए ये ग्लोबल स्तर की समस्या है। मलेशिया, फिलीपींस, इंडोनेशिया जैसे देशों में लॉकडाउन की वजह से प्रोडक्शन ठप हो गया। इस कारण मांग के अनुसार आपूर्ति नहीं हो पा रही है। ऐसे में असर तो होगा ही। फिलहाल हम अपनी पैरेंट कंपनी से कोऑर्डिनेशन कर रहे हैं।" उनके अनुसार इसका कोई तात्कालिक विकल्प भी नही है। बोस जैसी कंपनियां कुछ कोशिश कर रही है, पर उनसे खरीद से लागत पर बहुत असर हो सकता है। फाडा के अनुसार इस तरह सेमी कंडक्टर और एबीएस चिप की मांग नहीं पूरी हो पाने के कारण ओईएम (Original Equipmet Manufacturers) ने बड़े पैमाने पर उत्पादन में कटौती की है।

ग्राहकों को होगी ये परेशानी

फाडा के अनुसार उत्पादन में बड़े पैमाने पर कटौती होने से इस बार त्योहारी सीजन में ग्राहकों को अपनी  पसंद के मॉडल मिलने में दिक्कत आ सकती है। इसके अलावा कीमतों  में भी बार-बार बढ़ोतरी हो सकती है। साथ ही फेस्टिव सीजन में मिलने वाली स्कीम का भी फायदा नहीं मिलने की आशंका है। कारों में वाइपर, शीशे, म्यूजिक सिस्टम से लेकर अधिकतम पार्ट्स में सेमी कंडक्टर का इस्तेमाल होता है। 

कार की बिक्री ने पकड़ी रफ्तार

फाडा के अनुसार अगस्त का महीना पैंसेजर व्हीकल की बिक्री के लिए काफी अच्छा रहा है। इसकी वजह से त्योहारों में अच्छी मांग की उम्मीद बढ़ गई है। उसके अनुसार अगस्त के महीने में 2,53,363 पैंसेजर व्हीकल की बिक्री हुई है। जो कि अगस्त 2020 के मुकाबले 38.71 फीसदी और अगस्त 2019 के मुकाबले  31.67 फीसदी की बिक्री हुई है। यह उछाल इसलिए मायने रखता है क्योंकि कोविड-19 महामारी की वजह से बिक्री में बड़ी गिरावट दर्ज की गई थी। हालांकि सेमी कंडक्टर की किल्लत ने मुश्किलें बढ़ा दी हैं।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर