Agra News: आगरा में एक कॉल कीजिए और अपने पशु का इलाज कराएं, कोई फीस भी नहीं लगेगी

Agra Animal Treatment: ताजनगरी में पशुओं के इलाज के लिए एक नई व्यवस्था शुरू की गई है। इंसानों की तरह अब पशुओं के इलाज के लिए सिर्फ फोन करना होगा। इसके बाद फोन पर ही पशुओं के इलाज संबंधी परामर्श मिलेंगे।

Call now and get treatment of animals
अब कॉल कर कराएं पशुओं का इलाज  |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • पशुपालकों को 1962 नंबर पर करना होगा कॉल
  • एक लाख पशुओं पर रहेगी एक मोबाइल वेटनरी वैन
  • योजना के तहत जिले को आवंटित हुई 13 वैन

Animal Treatment: आगरा में पशु चिकित्सा के क्षेत्र में एक बड़ी पहल की गई है। अब यहां पशुपालकों को अपने पशुओं के इलाज के लिए चिंतित नहीं रहना पड़ेगा। सिर्फ एक फोन करके वह अपने पशुओं का इलाज करा सकेंगे। इसके लिए पशुपालकों को 1962 नंबर पर कॉल करना होगा। विभागीय अधिकारी के मुताबिक एक लाख पशुओं पर एक वेटनरी वैन रहेगी। इस तरह जिले को कुल 13 वैन दी गई है।  

वैन में डॉक्टर समेत ये लोग रहेंगे

इस वेटनरी वैन में एक डॉक्टर रहेंगे। इनके अलावा एक मल्टी टास्क वर्कर, चालक  एवं अन्य स्टाफ रहेगा। इसका उद्देश्य वैन के माध्यम से वेटनरी अस्पताल की तरह इलाज मुहैया कराना है। कॉल आते ही उस क्षेत्र में यह वेटनरी वैन पहुंचेगी। वहां बीमार पशु का इलाज किया जाएगा और दवा का भी वितरण किया जाना है। अधिकारी ने बताया कि इसके लिए पशुपालकों से कोई शुल्क भी नहीं लिया जाएगा। 
 

निराश्रित पशुओं का किया जाएगा इलाज

इस योजना की सबसे अच्छी बात है कि यह वेटनरी वैन निराश्रित पशुओं का इलाज करेगी। अगर, कोई निराश्रित मवेशी का इलाज कराने के लिए टॉल फ्री नंबर प कॉल करेगा तो वेटनरी वैन की टीम वहां पहुंचकर उसका इलाज करेगी। कॉल करने पर वेटनरी वैन की टीम कॉल लोकेशन के आधार पर वहां पर पहुंचेगी। 

फिलहाल जिले में हैं 13.60 लाख पशु

अभी जिले में पशुओं की संख्या 13 लाख 60 हजार है। इस बारे में मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी वीएस तोमर ने बताया कि वेटनरी वैन के संचालन के लिए रूट प्लान बनवाया जा रहा है। जिले में बहुत जल्द इस सेवा की शुरुआत कर दी जाएगी। रूट प्लान में के प्रधानों के नाम और फोन नंबर शामिल होंगे। इस बारे में मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहा कि इस योजना का लाभ सबसे ज्यादा सुदूर क्षेत्र के पशुपालकों को मिलेगी। खासतौर पर रात में इलाज नहीं मिलने की वजह से इनके पशुओं की मौत हो जाती है या फिर स्थिति गंभीर बन जाती है। 

Agra News in Hindi (आगरा समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर