देश मेरे लिए पहले...जेसन रॉय ने दी ईसीबी के साथ केंद्रीय अनुबंध तोड़ने पर सफाई

इंग्लैंड के धाकड़ सलामी बल्लेबाज जेसन रॉय ने ईसीबी के साथ सालाना अनुबंध से खुद को अलग करने के मुद्दे पर चल रही तमाम अटकलों और अफवाहों का खंड़न करते हुए स्पष्टीकरण जारी किया है और कहा है कि इंग्लैंड उनके लिए पहली प्राथमिकता था और हमेशा रहेगा।

Updated May 25, 2023 | 11:47 PM IST

जेसन रॉय(साभार IPL/BCCI)

लंदन: हाल ही में आईपीएल में कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए खेलने वाले इंग्लैंड के धाकड़ सलामी बल्लेबाज जेसन रॉय ने ईसीबी के साथ सालाना अनुबंध तोड़ दिया है। उन्होंने ये फैसला इसलिए लिया है कि क्योंकि वो सिर्फ एक फॉर्मेट में इंग्लैंड के लिए खेलते हैं। ऐसे में बगैर अनुबंध को वो दुनियाभर में प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेल सकें। जिसके लिए इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड को अपनी जेब से उन्हें भुगतान ना करना पड़े। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया है कि इंग्लैंड का प्रतिनिधित्व करना उनके लिए सबसे बड़े सम्मान की बात है। इ्ग्लैंड के लिए खेलना उनकी प्राथमिकता था और हमेशा रहेगा। उन्होंने बड़ी टी20 लीग में खेलने का फैसला ईसीबी के साथ चर्चा के बाद लिया है।
कई रिपोर्ट्स में कहा गया कि रॉय ईसीबी के साथ अनुबंध तोड़कर टी20 लीग में खेलते नजर आएंगे। इंग्लैंड के लिए खेलना उनकी प्राथमिकता नहीं है। ऐसे में रॉय को ट्वीट करके अपना रुख स्पष्ट करना पड़ा और फैन्स को इस बारे में ईसीबी के साथ हुई चर्चा और सहमति के बारे में बताना पड़ा।

इंग्लैंड के लिए खेलने के लिए हूं प्रतिबद्ध

रॉय ने सभी तरह की अटकलों और अफवाहों पर लगाम लगाने के लिए एक बड़ा ट्वीट करते हुए कहा, पिछले 24 घंटे से मेरे बारे में चल रही एक अनचाही अफवाह के बारे में मैं स्पष्ट करना चाहता हूं कि मैं कभी भी इंग्लैंड का साथ छोड़कर कहीं नहीं जाऊंगा। अपने देश का प्रतिनिधित्व करना मेरे प्रोफेशनल क्रिकेट करियर का सबसे गौरव का पल बना रहेगा। मैं आशा करता हूं कि इंग्लैंड के लिए आने वाले कई वर्षों तक खेल सकूं। यही मेरी पहली प्राथमिकता होगी। मैंने ईसीबी के साथ एक बड़ी क्रिकेट लीग में भाग लेने के संबंध में स्पष्ट चर्चा की। ईसीबी मेरे उस लीग में खेलने से खुश है जबतक कि उन्हें साल के बाकी बचे महीनों में मुझे इसके एवज में कोई भुगतान नहीं करना पड़ेगा।

लीग नहीं बनेगी इंग्लैंड के लिए खेलने की राह में रोड़ा

रॉय ने आगे कहा, एक फॉर्मेट में खेलने वाले बगैर अनुबंध के खिलाड़ी के रूप में मैं लीग में हिस्सा लेना चाहता हूं। इसमें हिस्सा लेने से इंग्लैंड के लिए खेलने में कोई रोड़ा नहीं पड़ रहा है। इंग्लैंड के खिलाड़ी के रूप में मुझे इस लीग में भाग लेने से ज्यादा से ज्यादा प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेलने से फायदा होगा। एक बार फिर से मैं साफ कर देना चाहता हूं कि मेरी प्राथमिकता इंग्लैंड क्रिकेट है। खासकर तब जबकि विश्वकप सामने है। टीम की कैप हासिल करके देश के लिए खेलना मेरे लिए बतौर खिलाड़ी सबसे बड़े सम्मान की बात है।
देश और दुनिया की ताजा ख़बरें ( Hindi News ) अब हिंदी में पढ़ें | क्रिकेट ( sports News ) की खबरों के लिए जुड़े रहे Timesnowhindi.com से | आज की ताजा खबरों ( Latest Hindi News ) के लिए Subscribe करें टाइम्स नाउ नवभारत YouTube चैनल

लेटेस्ट न्यूज

अगली खबर