Varanasi: अच्छी खबर! बाबा को साक्षी मान नए जोड़े बंध सकेंगे परिणय बंधन में, नए साल से शुरू होगी ये व्यवस्था

Varanasi: काशी विश्वनाथ के समक्ष लोगों के सात जन्मों के बंधन में बंधने का सपना पूरा होगा। वैदिक काल की सनातनी परंपराओं के अनुसार, यहां धार्मिक अनुष्ठान संपादित होंगे। इसके लिए मंदिर न्यास की ओर से दिल्ली की एक इवेंट कंपनी को चुना गया है। वहीं धाम परिसर में आयोजन के दौरान डीजे सहित कई गैर जरूरी गतिविधियों पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। वहीं आयोजन का शुल्क श्रद्धालुओं की सक्षमता के आधार पर लिया जाएगा।

Updated Nov 30, 2022 | 06:20 PM IST

undefined

वाराणासी के बाबा काशी विश्वनाथ मंदिर में नए साल से जोड़े बंध सकेंगे परिणय सूत्र में

तस्वीर साभार : ANI
मुख्य बातें
  • आगामी नववर्ष से काशी विश्वनाथ मंदिर में नए जोड़े बंध सकेंगे परिणय सूत्र में
  • बाबा के धाम में विवाह सहित सभी तरह के अनुष्ठान संपादित होंगे
  • दिल्ली की इवेंट कंपनी को इसके लिए किया गया है अनुबंधित

Varanasi : वाराणासी में बाबा काशी विश्वनाथ के समक्ष अग्नि को साक्षी मानकर पाणीग्रहण संस्कार का सपना देखने वालों के लिए ये खबर सुखद है। आगामी नूतन वर्ष में लोगों के लिए शादियों की बुकिंग आरंभ होगी। जिसमें श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में पुरातन रवायतों के मुताबिक, वैवाहिक और अन्य सनातनी मांगलिक अनुष्ठान पूर्ण होंगे।
मंदिर न्यास के मुतबिक, इस तरह के इवेंट्स को लेकर राजधानी दिल्ली की एक इवेंट कंपनी को चुना गया है। बता दें कि, यह व्यवस्था इस वर्ष गत नवबंर महीने से आरंभ होनी थी। मगर किसी ने इसके लिए अप्लाई नहीं किया तो इसे वर्ष 2023 से शुरू करने का निर्णय लिया गया है। अब नए जीवन साथी के साथ सात जन्मों के बंधन में बंधने के लिए बाबा विश्वनाथ को साक्षी मानकर सनातनी लोग गृहस्थ आश्रम में प्रवेश कर सकेंगे। इसमें सबसे खास बात ये रहेगी कि, भारतीय वैदिक काल की पुरातन प्रथाओं के मुताबिक अनुष्ठान होंगे। जिसमें आयोजन को संपादित करवाने वाली इवेंट कंपनी के चयन के वक्त ये शर्तें रखी गई थीं।

अनुष्ठान शुल्क इवेंट कंपनी तय करेगी

मंदिर न्यास के सीईओ सुनील कुमार वर्मा के मुताबिक, विवाह के लिए कंपनी को चयन कर लिया गया है। फिलहाल शादी की बुकिंग के लिए कोई एप्लीकेशन नहीं आई है। जिसके चलते अब संभावना है कि, जनवरी 2023 से ही काशी विश्वनाथ के दरबार में वैवाहिक व अन्य कार्यों के साथ ही धार्मिक आयोजन व संस्कार शुरू होंगे। हालांकि इस कड़ी में यहां पर संगोष्ठियां व सांस्कृतिक कार्यक्रम तो शुरू हो गए हैं। मगर आयोजन कंपनी शर्तों के मुताबिक, विवाह करने वालों की बुकिंग करेगी। सीईओ के मुताबिक, विवाह के दौरान डीजे के साथ ही कई अन्य तरह की क्रियाओं को प्रतिबंधित किया गया है। मुख्य कार्यपालक अधिकारी के मुताबिक, विवाह सहित अन्य संस्कारों के लिए शुल्क का निर्धारण इवेंट कंपनी करेगी। जिसमें खास तौर पर इस बात को ध्यान में रखा गया है कि, शुल्क पूरी तरह से श्रद्धालुओं की जेब के अनुसार हो। बता दें कि, विवाह के दौरान श्रद्धालुओं को सात्विक भोजन ही मिलेगा। वहीं कार्यक्रम के दौरान ऐसे किसी भी अनैतिक कृत्य की अनुमति नहीं होगी, जो धार्मिक व सामाजिक तौर पर गैर जरूरी हो।
देश और दुनिया की ताजा ख़बरें ( Hindi News ) अब हिंदी में पढ़ें | वाराणसी ( cities News ) की खबरों के लिए जुड़े रहे Timesnowhindi.com से | आज की ताजा खबरों ( Latest Hindi News ) के लिए Subscribe करें टाइम्स नाउ नवभारत YouTube चैनल
लेटेस्ट न्यूज

Jaya Ekadashi Vrat Katha In Hindi: जया एकादशी व्रत की कथा हिंदी में यहां पढ़ें

अनंत अंबानी और राधिका ने किए श्री काशी विश्वनाथ बाबा के दर्शन, अनंत बोले-'बाबा का धाम अद्भुत'

Union Budget 2023: ऐसी घोषणाएं जो टैक्सपेयर्स को अच्छी लगेंगी, बजट में हो सकती हैं ये चीजें

BJP शासित MP में अब उमा भारती स्टाइल में आएंगे 'अच्छे दिन'! बोलीं- मधुशालाओं को गौशालाओं में बदला जाएगा

IND vs NZ: आखिरी टी20 से पहले बोले सूर्यकुमार, इकाना पिच विवाद से सीखा अहम सबक

Delhi Mumbai Expressway: देश का सबसे लंबा एक्सप्रेसवे दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस वे, ये हैं इसकी खासियतें-VIDEO

Mutual Fund में अब और जल्दी निकल सकेगा आपका पैसा, Unit बेचने के बाद दो दिन में आ जाएगी रकम

'तो इज्जत घर का भी नाम बदलकर अमृत सूसू...मुगल गार्डन के नामकरण पर अखिलेश यादव ने कसा तंज

अगली खबर