लाइव टीवी
open in app

China के साथ तनाव के बीच ताइवान के मिसाइल वैज्ञानिक की संदिग्ध मौत, होटल के कमरे में मिला शव

Updated Aug 06, 2022 | 13:29 IST

Taiwanese Missile Scientist Death: चीन और ताइवान के बीच चल रहे विवाद के बीच ताइवान के एक मिसाइल वैज्ञानिक का शव संदिग्ध परिस्थितियों में होटल में मिला है।

Loading ...
Amid tension between the US and China Official heading Taiwans missile production found dead in hotel room
एक यात्रा पर गए थे वैज्ञानिक, होटल के कमरे में मिला शव
मुख्य बातें
  • होटल में मृत मिला ताइवान का मिसाइल बनाने वाला वैज्ञानिक
  • एक यात्रा पर गए थे वैज्ञानिक, होटल के कमरे में मिला शव
  • नैंसी पेलोसी के ताइवान दौरे के बाद बौखलाया हुआ है चीन

Taiwanese Missile Scientist Death: अमेरिकी प्रतिनिधिसभा की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी की हालिया ताइवान यात्रा को लेकर अमेरिका और चीन के बीच तनाव बना हुआ है। इस सबके बीच ताइवान के एक मिसाइल वैज्ञानिक की संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई है जिनका शव होटल में मिला है। द जेरूसलम पोस्ट ने सेंट्रल न्यूज एजेंसी के हवाले से बताया कि ताइवान रक्षा मंत्रालय की अनुसंधान और विकास इकाई के उप प्रमुख ओ यांग ली-हिंग शनिवार की सुबह एक होटल के कमरे में मृत पाए गए।

होटल में मिला शव

सेना के स्वामित्व वाले नेशनल चुंग-शान इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी (NCSIST) के  57 वर्षीय उप प्रमुख  पिंगटुंग के दक्षिणी ताइवान में पिंगटुंग की व्यावसायिक यात्रा पर थे और यहीं उनकी मौत हो गई।  जेरूसलम पोस्ट के अनुसार, अधिकारी वर्तमान में कह रहे हैं कि अधिकारी की मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई और होटल के कमरे में किसी भी 'घुसपैठ' का कोई संकेत नहीं मिला। उनके परिवार ने कहा कि उन्हें हृदय रोग था और उन्हें कार्डियक स्टेंट लगा हुआ था। ताइवान में हथियारों का विकास और निर्माण करने वाला सरकार द्वारा संचालित एनसीएसआईएसटी, वर्तमान में देश के दक्षिण में जियुपेंग सैन्य अड्डे पर लाइव-फायर मिसाइल परीक्षणों की एक श्रृंखला आयोजित कर रहा है।

इसलिए चीन से नहीं डरता है ताइवान, 43 साल पुराना ये कदम देता है अमेरिका का सुरक्षा कवच

भड़का हुआ चीन

आपको बता दें कि चीन ने पेलोसी की ताइवान यात्रा का विरोध जताते हुए अमेरिका को परिणाम भुगतने की चेतावनी दी थी, जिसके बाद बीजिंग ने जलवायु परिवर्तन, सैन्य मुद्दों, मादक पदार्थ रोधी प्रयासों पर अमेरिका के साथ वार्ता को स्थगित अथवा रद्द करने की घोषणा की। चीन, ताइवान के अपना क्षेत्र होने का दावा करता है। पेलोसी की यात्रा के बाद चीन ने ताइवान के आसपास सैन्य अभ्यास तेज कर दिए थे। रक्षा अधिकारियों ने सरकारी मीडिया से कहा कि ताइवान पर मिसाइल भी दागी गई थीं।

चीन की आतंरिक राजनीति के लिए आवश्यक था यह युद्ध अभ्यास