लाइव टीवी
open in app

दिल्ली में 144 करोड़ का शराब घोटाले का सच क्या है, सत्येंद्र जैन अंदर, अब सिसोदिया का नंबर?

Updated Aug 19, 2022 | 18:57 IST

दिल्ली की शराब नीति लागू करने में धांधली को लेकर सीबीआई ने दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के घर पर छापेमारी की। इसको लेकर आम आदमी पार्टी और बीजेपी जमकर वार पलटवार हुआ। अब सवाल उठता है कि  दिल्ली में 144 करोड़ का शराब घोटाले का सच क्या है? आम आदमी पार्टी  ईमानदार है तो फिर CBI की जांच से बौखलाहट क्यों?

Loading ...
मुख्य बातें
  • शराब नीति पर सवाल, दिल्ली में सियासी बवाल !
  • CBI रेड से खुलेगी 'करप्शन FILES' ?
  • आबकारी नीति में खेल..सिसोदिया को होगी जेल?

दिल्ली में शराब नीति को लेकर आज जबरदस्त सियासी घमासान मचा है। बीजेपी और आम आदमी पार्टी खुलकर एक दूसरे पर हमला कर रहे हैं। दरअसल, नई आबकारी नीति में करीब 144 करोड़ घोटाले की जांच के लिए आज CBI ने दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के घर पर छापेमारी की। सिसोदिया के साथ-साथ आबकारी नीति लागू करने वाले अधिकारियों और ठेकेदारों के ठिकानों पर भी छापेमारी हुई। दिल्ली समेत सात राज्यों के 21 ठिकानों पर CBI ने छापा मारा । दिल्ली, पंजाब, महाराष्ट्र ..तेलंगाना, दमन और दीव में छापेमारी की गई। दिल्ली की शराब नीति को लेकर CBI की इतनी बड़ी रेड शुरू होते ही आम आदमी पार्टी ने दिल्ली के एजुकेशन वाला चैप्टर पलटा। न्यूयॉर्क टाइम्स में छपे लेख को हवाला दिया। जिसे बीजेपी ने advertisement करार दिया। मतलब आम आदमी पार्टी और बीजेपी के बीच सियासी तलवारें खिंच गईं। सवाल उठने लगे कि दिल्ली में 144 करोड़ का शराब घोटाले का सच क्या है? 
आम आदमी पार्टी  ईमानदार है तो फिर CBI की जांच से बौखलाहट क्यों?

अब मैं इस पूरे मामले को सिलसिलेवार तरीके से बताता हूं। आज सुबह साढ़े आठ बजे सीबीआई की टीम मनीष सिसोदिया के घर पहुंची। उनके घर की तलाशी ली। अफसरों ने उनके और परिवार के बाकी सदस्यों के फोन और लैपटॉप जब्त किए। शराब नीति पर CBI की छापेमारी के साथ ही केजरीवाल सरकार ने विक्टिम कॉर्ड खेलने की पूरी कोशिश की। केजरीवाल समेत आम आदमी पार्टी के तमाम नेताओं ने न्यूयॉर्क टाइम्स में छपे उस लेख का हवाला दिया और कहा कि दिल्ली की शिक्षा नीति की तारीफ न्यूयॉर्क टाइम्स ने की है यही बात बीजेपी को हजम नहीं हो पा रही है। मोदी सरकार दिल्ली सरकार की शिक्षा नीति की तारीफ नहीं देख पा रही है। आम आदमी पार्टी ने मोदी सरकार पर बदले की भावना से कार्रवाई करने का आरोप भी लगाया। बीजेपी ने पलटवार किया और खलीज टाइम्स में छपे उसी लेख को ट्वीट किया और केजरीवाल सरकार पर आरोप लगाया कि दोनों पेपर में एक जैसा लेख छपा है ये लेख नहीं बल्कि विज्ञापन है। बीजेपी ने आरोप लगाया कि खालिस्तान समर्थक ने न्यूयॉर्क टाइम्स में लेख छपवाया और केजरीवाल अपनी तारीफ करने के लिए खालिस्तान का समर्थन ले रहे हैं। तो पहले आपको सुनवाता हूं कि केजरीवाल ने क्या कहा और बीजेपी ने कैसे पलटवार किया।  

दिल्ली शराब घोटाला: डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के खिलाफ CBI ने दर्ज की FIR, इसमें 15 लोगों के नाम शामिल

केजरीवाल सरकार पर कांग्रेस ने भी गंभीर आरोप लगाए। कांग्रेस नेता अभिषेक दत्त ने टाइम्स नाउ नवभारत के साथ कुछ तस्वीरें शेयर की। अभिषेक दत्त ने दावा किया कि बार मालिक के साथ केजरीवाल और सिसोदिया की तस्वीरें हैं- अभिषेक दत्त ने आरोप लगाया कि शराब माफिया केजरीवाल सरकार की गोद में बैठे हुए हैं- साथ ही मांग की कि कॉल रिकॉर्डिंग से माफियाओं और केजरीवाल सरकार के रिश्तों की जांच हो। ऐसे में आज इस मुद्दे पर बहस करें उससे पहले आपके सामने कुछ सवाल रखना चाहता हूं 

दिल्ली में सियासी बवाल पर सवाल

1- दिल्ली में 144 करोड़ का शराब घोटाला हुआ,सच क्या है ? 
2- दिल्ली सरकार ने नई शराब नीति से चुनिंदा लोगों को फायदा पहुंचाया ?
3- नई आबकारी नीति से राजस्व का कितना नुकसान हुआ ?
4- भीषण कोरोना काल में डेल्टा वेब के दौरान आबकारी नीति क्यों ?
5- शराफ माफियाओं को लाइसेंस शुक्ल में 144 करोड़ की छूट क्यों ?
6- शराब नीति पर सवाल...तो शिक्षा नीति की दुहाई क्यों ?
7- आप ईमानदार तो फिर CBI की जांच से बौखलाहट क्यों ?
8- क्या मोदी सरकार सरकारी एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है ?
9- क्या राजनीतिक बदले की भावना से CBI की छापेमारी ?
10- केजरीवाल की शराब माफिया से साठगांठ के आरोपों का सच क्या?
11- क्या सत्येंद्र जैन के बाद मनीष सिसोदिया की गिरफ्तारी होगी ?
12- CBI रेड के बाद क्या अब ED मनी लॉन्ड्रिंग का केस करेगी ?

Advertising
Advertising

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।